Daily Current Affairs 11 February 2018

01. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिलिस्तीनी राष्ट्रपति मोहम्मद अब्बास के साथ द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर 
Image result for प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिलिस्तीनी राष्ट्रपति मोहम्मद अब्बास के साथ द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिलिस्तीनी राष्ट्रपति मोहम्मद अब्बास को वहां के लोगों के हितों के लिए भारत की प्रतिबद्धता के प्रति शनिवार को आास्त किया और  फिलिस्तीन शांतिपूर्ण तरीके से जल्द ही एक स्वतंत्र और संप्रभु राष्ट्र बनेगा। संयुक्त अरब अमरीरात, ओमान और फिलिस्तीन की चार दिन की यात्रा के दौरान यहां पहुंचे मोदी ने अब्बास के साथ द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर करने के बाद कहा कि फिलिस्तीन की खुशहाली और शांति के लिए बातचीत का रास्ता ही एक मात्र हल है।  दोनों देशों के बीच ज्ञान और विज्ञान के आदान-प्रदान को बढ़ावा देने के लिए हर साल इस उद्देश्य से एक-दूसरे के यहां आने-जाने वाले छात्रों की संख्या 50 से बढ़ाकर 100 की जाएगी।  

ढांचागत विकास, तकनीकी, वित्त प्रबंधन, सूचना प्रौद्योगिकी, संरचना विकास जैसे क्षेत्रों में एक दूसरे का सहयोग जरूरी है।  इस क्रम में यहां रामल्ला में टेक्नोलॉजी पार्क परियोजना शुरू की गई है और उस पर तेजी से काम चल रहा है। इसके साथ ही भारत यहां बन रहे राजनयिक संस्थान की स्थापना में भी सहयोग कर रहा है। यह संस्थान विश्व स्तर का होगा

2. भारत और यूएई के बीच पांच समझौतों पर हस्ताक्षर
Image result for भारत और यूएई के बीच पांच समझौतों पर हस्ताक्षरभारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने शनिवार को ऊर्जा, रेलवे, जनसंसाधन और वित्तीय सेवाओें के क्षेत्र में पांच समझौतों पर हस्ताक्षर किए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और अबू धाबी के शहजादे शेख मोहम्मद बिन जायद अल नहयान उपस्थित थे और दोनों की अगुवाई में प्रतिनिधिमंडल स्तरीय बातचीत के बाद इन समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए।
मोदी तीन खाड़ी देशों की या के दूसरे चरण में शनिवार को शाम संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी अबू धाबी पहुंचे जहां उनका भव्य स्वागत किया गया। अबू धाबी प्रेजिडेन्सियल एयरपोर्ट पर उनका रस्मी स्वागत किया गया। मोदी की यात्रा के मद्देनजर संयुक्त अमीरात की बुर्ज खलीफा सहित कई महत्वपूर्ण इमारतों पर तिरंगे के रंगों की रोशनी की व्यवस्था की गई है।

3. मोदी को फिलिस्तीन का ग्रैंड कॉलर अवार्ड
Image result for प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिलिस्तीनी राष्ट्रपति मोहम्मद अब्बास के साथ द्विपक्षीय समझौतों पर हस्ताक्षर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को शनिवार को भारत और फिलिस्तीन के बीच संबंधों को मजबूत बनाने में उल्लेखनीय योगदान के लिए फिलिस्तीन के राष्ट्रीय सम्मान ‘‘ग्रैंड कॉलर ऑफ स्टेट ऑफ फिलिस्तीन’ से सम्मानित किया गया। फिलिस्तीन के राष्ट्रपति मोहम्मद अब्बास ने द्विपक्षीय बैठक के बाद हुए समझौते के उपरांत उन्हें यह सम्मान प्रदान किया। उसके बाद वह फिलिस्तीन के महान नेता यासीर अराफात के स्मारक पर गए और उन्हें पुष्पांजलि अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी। 

04. कॉरपोरेट बांड के नए नियम बनेंगे
कंपनियों के लिए अपनी जरूरत के कुल फंड का 25 फीसद कॉरपोरेट बांड बाजार से जुटाना अनिवार्य बनाया जा रहा है। इसके लिए नियम इस साल सितंबर तक बन जाने की उम्मीद है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बाजार नियामक सेबी से कहा है कि बांड बाजार को विकसित करने के लिए सभी आवश्यक उपाय किए जाने चाहिए। हाल में शेयर बाजार में आई गिरावट को लेकर सेबी प्रमुख ने छोटे और खुदरा निवेशकों को आश्वस्त करते हुए कहा कि इससे घबराने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि म्यूचुअल फंड के जरिये शेयर बाजार में पैसा लगाने का रास्ता उचित और सुरक्षित है। 

क्रिप्टो करेंसी पर नियम : क्रिप्टो करेंसी पर त्यागी ने कहा कि वित्त मंत्री पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि यह देश में गैरकानूनी है। इस पूरे मुद्दे पर एक कमेटी विचार कर रही है। जल्दी ही कमेटी अपनी सिफारिशें देगी, उसके बाद ही तय होगा कि सेबी की भूमिका क्या होगी।

05. जीरो बजट खेती: 15 फरवरी को शिमला में होगा आयोजित सम्मेलन

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में 15 फरवरी को पीटरहाफ में जीरो बजट प्राकृतिक कृषि राज्यस्तरीय सेमीनार होगा, जिसमें सभी मंत्री और विधायकों के अलावा विकासशील किसान-बागवान भी मौजूद रहेंगे हिमाचल अब जीरो बजट प्राकृतिक कृषि की खेती को हिमाचल में प्रोत्साहित करने जा रहा है. राज्यपाल आचार्य देवव्रत के आह्वान के बाद प्रदेश में जीरो बजट प्राकृतिक कृषि सरकार ने काम करना शुरू कर दिया है.

06. प्रधान मंत्री मोदी ने अबू धाबी के पहले हिंदू मंदिर का उद्घाटन किया

Related image

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को दुबई के ओपेरा हाउस हुए में भारतवंशियों के एक कार्यक्रम में अबू धाबी के पहले हिंदू मंदिर की आधारशिला रखी। उन्होंने इसके मॉडल का लोकार्पण भी किया। इस मंदिर का निर्माण दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर व न्यूजर्सी में निर्माणाधीन मंदिर की तर्ज पर होगा। यह 2020 तक बनकर तैयार हो जाएगा। 

बोचासनवासी श्रीअक्षर पुरुषोत्तम स्वामीनारायण संस्था (बीएपीएस) इस मंदिर का निर्माण कराएगी। विश्व में इसके 1100 से ज्यादा मंदिर हैं। अबू धाबी में एक भी मंदिर नहीं है। पीएम मोदी द्वारा मंदिर का उद्घाटन कराए जाना भारत और दुबई के मजूबत रिश्ते को दर्शाता है। यह मंदिर परंपरागत शिलाओं से बना मध्य-पूर्व का पहला मंदिर होगा।

मंदिर के लिए अबू धाबी के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन जायेद अल नहयान ने अबूधाबी-दुबई हाईवे के पास मुफ्त जमीन दी है मंदिर की आधारशीला के बाद पीएम मोदी वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में शामिल हुए। 

07. Mumbai दुनिया का 12वां सबसे समृद्ध शहरों में शुमार, न्यूयाॅर्क पहले स्थान पर

Mumbai दुनिया का 12वां सबसे समृद्ध शहरों में शुमार, न्यूयाॅर्क पहले स्थान पर

न्यू वर्ल्ड वेल्थ की रिपोर्ट के अनुसार, देश की आर्थिक राजधानी मुंबई दुनिया का 12वां सबसे समृद्ध शहर है. शहर की कुल संपत्ति 950 अरब डॉलर है. इस वैश्विक सूची में न्यूयॉर्क पहले स्थान पर है.कुल 15 शहरों की सूची में मुंबई के बाद टोरंटो का स्थान है, जिसकी कुल संपत्ति 944 अरब डॉलर है. इसके बाद 912 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ फ्रेंकफर्ट 14वें स्थान पर और 860 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ पेरिस 15वें स्थान पर है. 

इसमें उनकी सभी तरह की संपत्ति मसलन भूमि, नकदी, शेयर, कारोबार इत्यादि शामिल है. देनदारियों और सरकारी कोष को इस गणना से बाहर रखा गया है. अरबपतियों की सबसे ज्यादा संख्या के मामले में भी मुंबई शीर्ष 10 देशों में शामिल है.

मुंबई में कुल 28 अरबपति रहते हैं, जिनकी कुल संपत्ति एक अरब डॉलर अथवा उससे अधिक है. इस सूची में पहले स्थान पर न्यूयॉर्क है, जिसकी कुल संपत्ति 3,000 अरब डॉलर है. कुल 2,700 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ लंदन दूसरे स्थान पर, 2,300 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ सैन फ्रांसिस्को बे एरिया तीसरे स्थान पर है.

​​​​08. श्री राजनाथ सिंह ने अहमदाबाद में 24वीं अखिल भारतीय फोरेंसिक साईंस सम्मेलन का उद्घाटन किया

​​​​सरकार ने महिलाओं के खिलाफ साइबर अपराध रिपोर्ट करने के लिए एक साइबर अपराध रिपोर्टिंग पोर्टल बनाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि हम महिलाओं एवं बच्चों के खिलाफ अपराध रोकने के लिए एक समर्पित साइबर अपराध प्रयोगशाला की स्थापना भी करेंगे। श्री राजनाथ सिंह अहमदाबाद में 24वीं अखिल भारतीय फोरेंसिक साईंस सम्मेलन का उद्घाटन करने के बाद जनसमूह को संबोधित कर रहे थे।

फोरेंसिक साईंस साइबरस्पेस में बेहद उपयोगी साबित हो सकता है। साइबर फोरेंसिक विशेषज्ञों ने हमारे युवाओं को कट्टरपंथी होने से रोकने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। केंद्रीय गृह मंत्री ने एक स्मारिका का विमोचन किया एवं फोरेंसिक विशेषज्ञों को प्रमाणपत्र वितरित किए।

09. UAE की तेल कंपनी में ONGC विदेश लिमिटेड खरीदेगा 10% स्टेक

UAE की तेल कंपनी में ONGC विदेश लिमिटेड खरीदेगा 10% स्टेक, 3850 करोड़ की डील

ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया विदेश लिमिटेड (ओवीएल) और पार्टनर्स मिलकर अबू धाबी नेशनल ऑइल कंपनी (एडीएनओसी) के ऑफशोर ऑयलफील्ड में 10 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेंगे। 10 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने में कुल 3870 करोड़ रुपए खर्च आएगा। ऐसा पहली बार होगा जब कोई भारतीय कंपनी यूएई में इस फील्ड में कदम रखने जा रही है। 

शनिवार को इससे संबंधित एक कॉन्ट्रैक्ट पर ओएनजीसी विदेश लिमिटेड ने पीएम नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में हस्ताक्षर किए हैं। इस कॉन्ट्रैक्ट पर साइन होते ही ओएनजीसी मार्च में खत्म होने वाले नए कन्सेशन में हिस्सेदारी खरीदने वाला पहला फर्म बन गया।

ओएनजीसी विदेश लिमिटेड, पब्लिक सेक्टर ऑल कंपनियों का ओवरसीज आर्म्स है।  इस फील्ड से मौजूदा समय में रोजाना 4 लाख बैरल तेल का उत्पादन होता है। सालाना आधार पर उत्पादन 2 करोड़ टन है। इस लिहाज से ओवीएल की सालाना हिस्सेदारी 20 लाख टन होगी। जबकि 2025 तक इस फील्ड की कैपेसिटी 4.5 लाख बैरल प्रति दिन का लक्ष्‍य है। 

10. आईपीपीबी अप्रैल 2018 तक डाक घरों में डिजिटल भुगतान सक्षम बनाएगा

​​​​​​​इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) विस्तार कार्यक्रम की प्रगति लगातार तेज बनी हुई है और अप्रैल 2018 तक इसका राष्ट्र व्यापी तरीके से आरंभ किया जाना निर्धारित है। आईपीपीबी देश में सबसे बड़ा वित्तीय समावेश नेटवर्क उपलब्ध कराने में समर्थ होगा जिसमें शहरी और सुदूर ग्रामीण क्षेत्र भी शामिल होंगे और जिसमें डाकियों एवं ग्रामीण डाक सेवकों (जीडीएस) की मदद से लोगों के दरवाजों तक डिजिटल भुगतान सेवाएं उपलब्ध कराने की क्षमता होगी।

आईपीपीबी डाक घर बचत बैंक के 17 करोड़ सक्रिय खाताधारकों को भी एनईएफटी, आरटीजीएस, यूपीआई एवं बिल भुगतान सेवाओं के लाभों समेत डिजिटल भुगतान को अंतःप्रचालनीय बनाने में भी समर्थ होगा। इसके अतिरिक्त, आईपीपीबी सरकार की डिजिटल भुगतान पहल के अनुरूप देश में सभी डाक घरों में डिजिटल भुगतान की स्वीकृति को भी सक्षम बनाएगी।

11.लेखिका कृष्णा सोबती को मिला देश का सर्वोच्च ‘साहित्य सम्मान’ ज्ञानपीठ पुरस्कार

krishna sobti will be awarded by gyanpeeth award

साहित्य के क्षेत्र में दिया जाने वाला देश का सर्वोच्च सम्मान ज्ञानपीठ पुरस्कार साल 2017 के लिए हिन्दी की शीर्षस्थ कथाकार कृष्णा सोबती को प्रदान किया जायेगा. यह पुरस्कार उन्हें साहित्य के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रदान किया जायेगा.

पुरस्कार स्वरूप कृष्णा सोबती को 11 लाख रूपये, प्रशस्ति पत्र और वाग्देवी की कांस्य प्रतिमा प्रदान की जायेगी. कृष्णा सोबती को उनके उपन्यास ‘जिंदगीनामा’ के लिए साल 1980 का साहित्य अकादमी पुरस्कार मिला था. उन्हें 1996 में अकादमी के उच्चतम सम्मान ‘साहित्य अकादमी फैलोशिप’ से नवाजा गया था. इसके अलावा कृष्णा सोबती को पद्मभूषण, व्यास सम्मान, शलाका सम्मान से भी नवाजा जा चुका है.

कृष्णा सोबती के कालजयी उपन्यासों ‘सूरजमुखी अँधेरे के’, ‘दिलोदानिश’, ‘ज़िन्दगीनामा’, ‘ऐ लड़की’, ‘समय सरगम’, ‘मित्रो मरजानी’, ‘जैनी मेहरबान सिंह’, ‘हम हशमत’, ‘बादलों के घेरे’ ने कथा साहित्य को अप्रतिम ताजगी और स्फूर्ति प्रदान की है. हाल में प्रकाशित ‘बुद्ध का कमंडल लद्दाख’ और ‘गुजरात पाकिस्तान से गुजरात हिन्दुस्तान’ भी उनके लेखन के उत्कृष्ट उदाहरण है.  1950 में कहानी ‘लामा’ से साहित्यिक सफर शुरू करने वाली सोबती स्त्री की आजादी और न्याय की पक्षधर है. उन्होंने समय और समाज को केंद्र में रखकर अपनी रचनाओं में एक युग को जिया है.

पहला ज्ञानपीठ पुरस्कार 1965 में मलयालम के लेखक जी शंकर कुरूप को प्रदान किया गया था. सुमित्रानंदन पंत ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित होने वाले हिन्दी के पहले रचनाकार थे. कृष्णा सोबती ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित होने वाली हिन्दी की 11वीं रचनाकार हैं. इससे पहले हिन्दी के 10 लेखकों को ज्ञानपीठ पुरस्कार मिल चुका है. इनमें पंत, दिनकर, अज्ञेय और महादेवी वर्मा शामिल हैं.

12. प्रसिद्ध साहित्यकार चंद्रशेखर रथ का निधन 

मशहुर साहित्यकार चंद्रशेखर रथ का निधन हो गया है। वो 89 साल के थे और लंबे समय से बीमार चल रहे थे। सरकार ने साहित्य के क्षेत्र में उनकी सेवाओं को देखते हुए इस साल उनका नाम पद्म श्री अवार्ड के लिए चुना था।

बलांगीर जिले के मालपड़ा में 17 अक्तूबर,1929 को जन्मे चंद्रशेखर रथ ओडिशा के कथाकार व साहित्यकारों में शामिल हैं। उन्होंने अनेक कहानी, उपन्यास एवं कविताएं लिखीं। ओडिशा साहित्य अकादमी, शारला पुरस्कार, अतिबडी जगन्नाथ दास पुरस्कार व केन्द्र साहित्य अकादमी पुरस्कार उन्हें प्राप्त हो चुका है। यंत्रारुढ़, असूर्य उपनिवेश व नवजातक आदि तीन उपन्यासों की रचना करने के साथ-साथ 16 शॉर्ट स्टोरी संकलन, समसामयिक विषयों पर लेखों का 12 संकलन, 3 कविता संकलन, चार अन्य संकलन प्रकाशित हुई हैं।

Source of the Current Affairs ( With Respect ) : Ndtv India, Ibn7, Dainik Bhaskar , Hindustan Times, India Govt News Portal, Aaj tak, Panjab Keshari , Amar Ujala, Dainik Jagran, Dainik  Bhaskar, Rashtriya Sahara, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times(Hindi& English), AAJ TAK, Nav Bharattimes.

Specially thanks to Dr Sanjan Kumar

Leave a Reply

Be the First to Comment!

avatar
150
  Subscribe  
Notify of