अधिगम और चिन्तन

*प्रश्न-1.निष्क्रिय अधिगमकर्ता की पहचान होती है-* (a) प्रदर्शन विधि से (b) प्रयोगशाला विधि से (c) व्याख्यान विधि से (d) खेल विधि से C✅ *प्रश्न-2.सृजनात्मकता अथवा मौलिकता की मुख्य विशेषताओं में माना जाता Read More …

विकास की अवस्थाये

🔹 शेशवाअवस्था (जन्म से 5/6 वर्ष) 🔹 बाल्याअवस्था ( 5/6 से 11/12 वर्ष) 🔹 किशोराअवस्था (12 से 18 वर्ष) 🔹 प्रौढ़ाअवस्था या वयस्क (18 से उपरान्त आयु) 🥀 शेशवावस्था 🥀 Read More …

पर्यावरण अध्ययन- परिवार

परिवार समाजिक संस्थानो में सबसे महत्वपुर्ण, सर्वव्यपी एंव प्राथमिक समाजिक संस्था या समूह है I यह सभी समाजो की आधारभूत इकाई होती है I  यह सभी समाजो की या परिवार Read More …

बच्चों के अधिकार पत्र

💎💎💎💎🌷🌷💎💎💎💎 ✍🏻वह सभी व्यक्ति एक बच्चा है जो 18 वर्ष से कम आयु का है। अभिभावकों की प्राथमिक जिम्मेदारी है कि वे बच्चों के पोषण और विकास कार्य पर ध्यान Read More …