माही नदी

🎀माही का अर्थ:-⏩”मछली” 🎀उदगम:-महू की पहाड़िया (मध्यप्रदेश)धार जिला आमझरा क्षेत्र की विन्ध्यन पर्वत श्रेणी सेनिकलती हैं। 🎀राजस्थान मे प्रवेश:-खाटू ग्राम(बांसवाड़ा) 🎀राजस्थान मे कुल प्रवाह:-576 किमी. 💎कहा गिरती हैं?:-खम्भात की खाड़ी मे 🎀माही नदी पर बांध:-माही बजाज सागर बांध(बांसवाड़ा के निकट) Read More …

चम्बल नदी

🌷मानव एवं जीव – जगत के लिए जल उतना ही आवश्यक है जितना भोजन एवं वायु हैं !🌷 🌷राजस्थान के जल संसाधन की महत्ता इस बात से भी बढ़ जाती हैं कि इसका लगभग 61% भाग शुष्क प्रदेश हैं ! Read More …

लूनी नदी

🌷लूनी नदी भारत की एकमात्र अन्तर्वाही नदी हैं। 🌷लूनी को लवणवतीभी कहा जाता है । 🌷यह नदी अरावली पर्वत के निकट आनासागर(नागपहाड़ी”अजमेर”) से उत्पन्न होकर दक्षिण पश्चिम क्षेत्र में प्रवाहित होते हुए कच्छ के रन में जाकर मिलती है। 🌷इस Read More …

घग्घर नदी

❇राजस्थान की धरती जल के स्त्रोत एवं नदियों के अभाव मे प्यासी रहती है❇ ❇राजस्थान की अधिकांश नदियाँ का प्रवाह क्षेत्र अरावली पर्वत के पूर्व मे है❇ 💦बहाव की दृष्टि से नदियाँ को तीन भागो मे बांटा गया है-💦 1⃣ Read More …

बेडच नदी

 (आयड़) 🎋उद्गम:- गोगुन्दा की पहाडियां🎋 (उदयपुर) कुल लम्बाई:- 190 कि.मी.🥀 विशेष:-आयड सभ्यता का विकास/बनास संस्कृति 🎋🎋विलिन:- बीगोद (भीलवाड़ा)🎋?🎋 वर्णन राजस्थान में उदयपुर जिलें में गोगुंदा की पहाडियां से इस नदी का उद्गम होता है। आरम्भ में इस नदी को आयड़ Read More …