अरस्तु QUIZ 03

अरस्तु QUIZ 03

01. “अगर कोई यह पूछो कि अरस्तु की ‘पॉलिटिक्स’ ने सामान्य यूरोपीय विचारधारा को उत्तराधिकार रूप में क्या दिया तो इसका उत्तर एक ही शब्द में दिया जा सकता है- ‘संविधानशास्त्र’।” यह कथन किसका है ?
{A} बार्कर ✔
{B} अरस्तू
{C} मैक्सी
{D} मैकियावेली
 

02. “धनिक तंत्र ऐसा शासन विधान है जिस में संपन्न एवं कुलीन लोग शासन संचालन करते हैं एवं वे अल्पमत में होते हैं।” यह कथन किसका है ?
{A} प्लेटो
{B} लॉक
{C} मार्क्स
{D} अरस्तू ✔

03. अरस्तू ने संविधान के वर्गीकरण के साथ-साथ राजनीतिक परिवर्तनों का एक कालचक्र भी प्रस्तुत किया है, जिसे कहते हैं-
{A} Theory of Government
{B} Cyclic Theory of Government✔
{C} Acyclic Theory of Government
{D} Cyclic Theory of District

04. “वैज्ञानिक ज्ञान का ध्येय यह पता लगाना है कि सृष्टि में क्या अनिवार्य है ? ……जो सर्वथा अनिवार्य है, वह शाश्वत है और जो शाश्वत है, वह अजन्मा और अमर्त्य है।” यह किसने कहा ?
{A} बर्गेस
{B} प्लेटो
{C} अरस्तू
{D} टेलर
[C] ✔

05. अरस्तू ने अपने ग्रंथ ‘एथिक्स’ में न्याय को किन भागों में विभाजित किया है ?
{A} सामान्य न्याय
{B} विशिष्ट अन्याय
{C} उपर्युक्त दोनों✔
{D} इनमें से कोई नहीं

06. “जिस प्रकार वीणा आदि वाद्ययंत्रों की सहायता के बिना उत्तम संगीत उत्पन्न नहीं हो सकता, उसी प्रकार दासों के बिना स्वामी के उत्तम जीवन का तथा बौद्धिक एवं नैतिक गुणों का विकास संभव नहीं है।” यह किसने कहा ?
{A} बर्गेस
{B} प्लेटो
{C} अरस्तू✔
{D} टेलर

07. अरस्तु द्वारा दास प्रथा के समर्थन में दिया गया तर्क है-
【1】दासता प्राकृतिक है।
【2】दास प्रथा दोनों पक्षों के लिए उपयोगी है।
【3】दासता नैतिक है।
कूट:-
{A} केवल 1
{B} 1 और 3
{C} 1, 2 और 3
{D} केवल 3✔

08. अरस्तु के दासता सिद्धांत की आलोचना के संबंध में सत्य कथन है-
【1】मानव समूह का विभाजन संभव है।
【2】विभाजन का सर्वमान्य मापदंड नहीं है।
【3】जातीय अहंकार का प्रतीक है।
कूट:-
{A} 2 और 3
{B} 1 और 2
{C} 1 और 3
{D} 1, 2 और 3
 

09. “जो मनुष्य न्याय-प्रशासन और शासन-पदाधिकार में भागीदार है वही नागरिक है” यह कथन किसका है ?
{A} बेंथम
{B} अरस्तू✔
{C} प्लेटो
{D} टेलर

10. “राज्य का निवासी होकर भी कतिपय परिस्थितियों और कारणों से व्यक्ति राज्य का नागरिक नहीं होता।” यह कथन किसका है ?
{A} अरस्तू✔
{B} प्लेटो
{C} मार्क्स
{D} बेंथम

11. अरस्तु और हीगल ने दंड को स्वीकार किया है-
{A} कर्तव्यपरायणता के रूप में
{B} भावात्मक पुरस्कार के रुप में
{C} अभावात्मक पुरस्कार के रुप में✔
{D} इनमें से कोई नहीं
 

12. अरस्तु के अनुसार प्रचलित धर्म के विविध देवता-
{A} देवत्वारोपित मनुष्य है।✔
{B} केवल मनुष्य है।
{C} नित्यतारोपित वस्तुएं हैं।
{D} इनमें से कोई नहीं
 

13. अरस्तु का सामान्य न्याय से क्या अभिप्राय था ?
{A} गुणों व अवगुणों का होना
{B} कर्तव्यों का पालन
{C} संपूर्ण गुणों का होना✔
{D} अधिकारों की प्राप्ति
 

14. अरस्तु विचारक (Aristocratic) है-
{A} आदर्शवादी
{B} क्रांतिकारी
{C} रूढ़िवादी✔
{D} इनमें से कोई नहीं
 

15. अरस्तु की क्रांति-
{A} नई व्यवस्था की स्थापना है.
{B} शासन में परिवर्तन है।✔
{C} संपूर्ण है।
{D} उपर्युक्त सभी
 

16. लिसीयम में अरस्तू ने किसके अध्ययन पर जोर दिया ?
{A} Life science✔
{B} Music
{C} Geometry
{D} Mathematics
 

17. “प्लेटो वादी पुत्र होने से चचेरा भाई होना अच्छा है।” यह कथन किसका है ?
{A} Aristotle✔
{B} Plato
{C} Marx
{D} Bantham
 

18. निम्नलिखित कथनों में से कौन सा कथन अरस्तु से संबंधित है ?
【1】”एक सबल मध्यमवर्ग लोकतंत्र की रीढ़ है।”
【2】”राज्य ओक या चट्टान से नहीं बल्कि उस में निवास करने वालों के चरित्र से उत्पन्न होता है।”
【3】”आकार और पुद्गल सापेक्ष है तथा सदगुण सुंदर है।”
कूट:-
{A} केवल 3
{B} 1 और 3
{C} 1 और 2
{D} 1, 2 और 3✔
 

19. निम्नलिखित कथनों में से कौन सा कथन अरस्तु से संबंधित नहीं है ?
{A} “ऐसा व्यक्ति जो समाज में नहीं रह सकता या जिसके लिए समाज में रहना आवश्यक नहीं, क्योंकि वह स्वयंमेव पर्याप्त है, वह या तो पशु है या देवता।”
{B} “राज्य व्यक्ति से पहले है।”
{C} “ज्ञान ही वास्तविक मत होता है।”✔
{D} “प्लेटो का साम्यवाद आध्यात्मिक बीमारियों का भौतिक इलाज प्रस्तुत करता है।”

20. अरस्तु के अनुसार, राज्य पर शासन करने वाले राजमर्मज्ञ में कौन सा गुण अपेक्षित है ?
{A} शौर्य
{B} ज्ञान
{C} कुशलता
{D} तर्कबुद्धि✔