उच्चावच एवं स्थलाकृतिक प्रदेश

उच्चावच एवं स्थलाकृतिक प्रदेश

High and Topographic Region

प्रश्न=1- को बढ़ने हिमालय हिमालय के निर्माण में अगर प्रदेश किसे माना है 
【अ】अंगारा लैंड
【ब】गोंडवाना लैंड
【स】लौरेंशिया
【द】अ एवं स दोनों ✔
 
प्रश्न=2- डेली ने मोड़ दर्द पर्वतों के निर्माण के लिए किसे उत्तरदाई माना है 
【अ】गुरुत्वाकर्षण बल
【ब】संवहनी तरंगों
【स】मध्य पिंड
【द】महाद्वीपीय स्खलन ✔

प्रश्न=3- पर्वत निर्माण में संवाहनिक तरंगों का सिद्धांत किसके द्वारा दिया गया है 
【अ】हॉल
【ब】हॉम्स  ✔
【स】डाना
【द】स्टीअर्स
 
प्रश्न=4- पर्वतीय वलन के लिए पृष्ठ प्रदेश को किस विद्वान ने जिम्मेदार माना है 
【अ कोबर
【ब】हॉम्स
【स】स्वैस ✔
【द】उपरोक्त सभी ने
 
प्रश्न=5-व्हीलर द्वीप स्थित है 
【अ】प्रवाल दीप
【ब】कॉप मिट्टी के दीप ✔
【स】पर्वतीय दीप
【द】रेगिस्तानी द्वीप
 
प्रश्न=6- भारतीय भूगर्भिक इतिहास का वर्ग है 
【अ】आद्य कल्प
【ब】पुराण कल्प
【स】आर्य कल्प
【द】सभी ✔

प्रश्न=7- राजस्थान में अरावली क्षेत्र किस क्रम की शैले है 
【अ】धारवाड़ ✔
【ब】आद्य क्रम
【स】कुडप्पा
【द】द्रविड़

प्रश्न=8- लघु हिमालय क्षेत्र में उच्च व निम्न ढालो पर जो वन व घास के मैदान पाए जाते है उन्हें उत्तराखंड में क्या कहते है❓
【अ】भूड़ व् बिल
【ब】बुग्यार व् पयार ✔
【स】पयार व् भूड़
【द】बुग्यार व् बिल

प्रश्न=9- मर्ग है 
【अ】हिमालय के वन प्रदेश
【ब】पर्वतीय घास
【स】लघु हिमालय के घास के मैदान ✔
【द】सभी

प्रश्न=10- बालूका स्तुपो के बीच में निम्न भूमि को क्या कहते है 
【अ】ढांढ
【ब】बिल
【स】भूड़
【द】तल्ली 

प्रश्न=11- कुडप्पा क्रम के शैल सम्बन्धित है 
【अ】पुराण कल्प ✔
【ब】आर्य कल्प
【स】द्रविड़ कल्प
【द】सभी

प्रश्न=12- भाबर पेटी पायी जाती है 
【अ】छोटा नागपुर क्षेत्र में
【ब】हिमालय पर्वत्पादिय भाग में ✔
【स】पश्चिम घाट में
【द】तटीय भाग में

प्रश्न=13- पश्चिम घाट का दर्रा नहीं है 
【अ】भोरघाट
【ब】पालघाट
【स】देसूरी नाल ✔
【द】थालघाट

प्रश्न=14- मरुस्थलीय विस्तार रोकने हेतु किसकी स्थापना की गई है 
【अ】CAZIR
【ब】CZAIR
【स】CRIZA
【द】CAZRI ✔

प्रश्न=15- सही क्रम है 
1 मकालू  2 कंचनजंघा 3 नंदादेवी 4 नंगा पर्वत
【अ】2143 ✔
【ब】1234
【स】4321
【द】3214

प्रश्न=16. नेपाल हिमालय का विस्तार है
A) काली नदी से तीस्ता नदी तक ✔
B) सिंधु नदी से काली नदी तक

C) चंबल नदी से ब्रह्मपुत्र नदी तक
D) उपरोक्त सभी

प्रश्न=17. पीर पंजाल पर्वत श्रेणी हिमालय के किस भाग में स्थित है
A) लघु हिमालय  ✔
B) शिवालिक हिमालय
C) महा हिमालय
D) कोई नहीं

प्रश्न=18. बारी दोआब स्थित है
A) रावी व्यास के बीच ✔
B) व्यास सतलज के बीच
C) सतलुज गंगा के बीच
D) झेलम चिनाव के बीच

प्रश्न=19. नवीन कांप मिट्टी से निर्मित मैदान को क्या कहते हैं

A खादर प्रदेश ✔
B बांगर प्रदेश
C दोनों
D कोई नहीं

प्रश्न=20. प्राचीन तलछट से निर्मित मैदान क्या कहलाता है
A बांगर प्रदेश ✔
B खादर प्रदेश
C दोनों
D कोई नहीं

प्रश्न=21. निम्न में से धारवाड़ क्रम की शैले नहीं है ?
(अ) मैसूर धारवाड़ वल्लारी क्षेत्र
(ब) छोटा नागपुर के पठारी क्षेत्र
(स) राजस्थान में अरावली क्षेत्र
(द) बुंदेलखंड क्षेत्र ✔

व्याख्या:- आद्य क्रम की शैलो के ऊपर धारवाड़ क्रम की शैले मिलती है कुछ स्थानों में इन दोनों कर्मो की शैले पास पास भी पाई जाती है आद्य क्रम की सैले बनने के बाद उनका कायांतरण तथा अपरदन होता रहा है अपरदित पदार्थ के निक्षेप से तलछट सेलो की रचना हुई यही धारवाड़ क्रम की प्राचीनतम तलछट शैले हैं दीर्घ भूगर्भिक इतिहास में इनका भी कायांतरण हुआ है यह शैले निम्न है

  1. मैसूर धारवाड़ वल्लारी क्षेत्र
  2. छोटा नागपुर के पठारी क्षेत्र
  3. राजस्थान में अरावली क्षेत्र
  4. पंजाब
  5. उप हिमालय की कुछ क्षेत्रों में मिलती है

इस क्रम की शैलो में धात्विक खनिज बल्कि संगमरमर जैसी कायांतरित शैल में पाई जाती है

प्रश्न=22. किस प्रकार की सेलो का विस्तार बिहार के सासाराम एवं रोहतास क्षेत्र से लेकर अरावली में चित्तौड़गढ़ पर्वतों तक पाया जाता है ?
(अ) धारवाड़ क्रम की शैली
(ब) कुडप्पा क्रम की शैले
(स) विन्ध्यन क्रम की शैले ✔
(द) आधय क्रम की शेले
 
व्याख्या:- विन्ध्यन क्रम की शेले विंध्याचल पर्वत के सहारे स्थित है इस क्रम की सैले कुडप्पा क्रम कि शैलो के ऊपर मिलती है इनका विस्तार बिहार के सासाराम एवं रोहतास क्षेत्रों से लेकर अरावली में चित्तौड़गढ़ से होते हुए विंध्याचल पर्वत तक पाया जाता है इन सैलो में बालूका पत्थर सेल क्वाटरजाइट व चुना पत्थर मिलते हैं इसी क्रम में पन्ना अनंतपुर एवं गोलकुंडा के हीरे भी प्राप्त होते हैं इस क्रम में विभिन्न रंगों की बालूका पत्थर तथा सीमेंट बनाने के काम में आने वाला चुना पत्थर मिलता है

प्रश्न=23. देश के कुल क्षेत्रफल का कितने प्रतिशत भाग 200 से 500 मीटर तक ऊंचा है ?
(अ) 28. 3% ✔
(ब) 18.6%
(स) 8.7%
(द) 11%
 
व्याख्या:- देश के कुल क्षेत्रफल का लगभग 28.3 प्रतिशत भाग 200 से 500 मीटर 18.6% भाग 500 से 1000 मीटर 8.7% भाग 1000 से 2000 मीटर तक तथा 11% भाग 2000 मीटर से अधिक ऊंचा है देश के लगभग 20% भाग में धरातल का ढाल 15 डिग्री से अधिक है

प्रश्न=24. उत्तरी पर्वतीय प्रदेश लगभग कितने लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है ?
(अ) चार लाख वर्ग किलोमीटर
(ब) 5 लाख वर्ग किलोमीटर ✔
(स) 6 लाख वर्ग किलोमीटर
(द) 7 लाख वर्ग किलोमीटर
 
व्याख्या:- उत्तरी पर्वतीय प्रदेश हमारे देश की उत्तरी सीमा पर हिमालय पर्वत पश्चिम से पूर्व की ओर एक बृहत चाप के रूप में 5 लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है ये क्षेत्र लगभग 2400 किलोमीटर लंबाई में तथा 250 से 400 किलोमीटर की चौड़ाई में विस्तृत है यह विश्व का सबसे ऊंचा पर्वत है हिमालय शब्द का अर्थ हिम का घर है

औसतन 5000 मीटर से अधिक ऊंचे ऊंचे भाग सदा हिमाच्छादित रहते हैं वेसे हिमालय के पश्चिमी भाग में हिम रेखा की ऊंचाई 5700 मीटर तथा पूरे भाग में 4200 मीटर है में सिंचाई विभाग में 4200 मीटर इननवीन मोरदार पर्वत श्रेणियों की चौड़ाई पूर्व से पश्चिम की ओर बढ़ती जाती है लेकिन ऊंचाई कम होती जाती है

प्रश्न=25. किसके अनुसार भू सन्नति में निक्षिप्त तलछट पर दोनों ओर से दबाव पड़ने के कारण मोडदार पर्वत की उत्पत्ति होनी बताई ?
(अ) कोबर ✔
(ब) स्टियर्स
(स) डाना
(द) हॉग
 
व्याख्या:- कोबर का का मानना है कि भू सन्नति में निश्चिप्त तलछट पर दोनों ओर से दबाव पड़ने के कारण मोरदार पर्वत की उत्पत्ति होती है दबाव डालने वाली दोनों ओर के इन प्रदेशों को उन्होंने अग्र प्रदेश कहा अग्र प्रदेशों की दबाव के कारण इनके तटीय क्षेत्रों में वलन पड़ते हैं तथा मध्यवर्ती भाग साधारण इस वलन प्रक्रिया से अछूता रहने के कारण समतल उच्च भूमि के रूप में रह जाता है जिसे कोबर मध्य पिंड कहते हे।

प्रश्न=26. तिब्बत का पठार एक उदाहरण है?
(अ) अग्र प्रदेश
(ब) मध्य पिंड ✔
(स) पश्च पिंड
(द) अ व स
 
व्याख्या:- हिमालय के संदर्भ में अंगारा लैंड व गोंडवाना लैंड दोनों ही अग्र प्रदेश हैं तथा तिब्बत का पठार एक मध्य पिंड है। यद्यपि दोनों ओर से दबाव पड़ने की प्रक्रिया को डेली व होम्स ने भी स्वीकार किया है

किंतु इसके लिए उन्होंने भिन्न-भिन्न कारण बताएं डेली ने मोड़दार पर्वतों के निर्माण के लिए दोनों ओर से महाद्वीपीय स्खलन को उत्तरदाई बताया होम्स ने दो अग्र प्रदेश को के बीच भूसन्नति बनने उसकी निरंतर गहरा होने तथा उसमें जमा हुई तलछट पर दोनों ओर से महाद्वीपीय दबाव पड़ने के लिए पृथ्वी के अंदर उत्पन्न होने वाली है संवहनी तरंगों को उत्तरदाई माना है

प्रश्न=27. यह किसने माना कि टेथिस सागर की ओर खिसकने भारतीय उपमहाद्वीप तथा तिब्बतियभूखंड के प्रतिरोध के फलस्वरूप हिमालय की उत्पत्ति हुई ?
(अ) पावेल
(ब) कॉर्नघन
(स) स्वेस
(द) अ और ब ✔
 
व्याख्या:- ऑस्ट्रेलियाई भूगर्भ शास्त्र पॉवेल व कोनेघन ने भी बताया की टेथिस सागर की ओर खिसकते भारतीय उपमहाद्वीप तथा तिब्बती भूखंड के प्रतिरोध के फलस्वरूप हिमालय बना जबकि वाडिया की मान्यता है कि हिमालय की उत्पत्ति उत्तर से आने वाले धक्को के सम्मुख भारतीय प्रायद्वीप द्वारा प्रस्तुत प्रतिरोध के कारण हुई है

प्रश्न=28. सबसे उत्तरी पर्वत माला है ?
(अ) महा हिमालय ✔
(ब) लघु हिमालय
(स) उप हिमालय
(द) असम हिमालय
 
व्याख्या:- महा हिमालय यह सबसे उत्तरी पर्वत माला हैं जिससे मुख्य हिमालय हिमाद्री आंतरिक हिमालय बर्फीले हिमालय आदि नामों से भी जाना जाता है यह श्रेणी उत्तर प्रदेश माइनस पश्चिम में सिंधु नदी के मोड़ से लेकर पूर्व में ब्रह्मपुत्र नदी के मोड़ तक लगभग 2500 किलोमीटर लंबाई में फैली हुई है

चाप की आकृति में फैली हुई यह सर्वोच्च श्रेणी लगभग 73 डिग्री पूर्व से 97 डिग्री पूर्व देशांतर तक विस्तृत है इसकी औसत ऊंचाई लगभग 6000 मीटर तथा चौड़ाई 100 से 200 किलोमीटर तक है

प्रश्न=29. हिमालय के किस भौगोलिक भाग का ढाल भारत की और तीव्र होने के कारण नदियों की घटिया संकीर्ण एवं खड़े ढालो वाली है ?
(अ) महा हिमालय ✔
(ब) लघु हिमालय
(स) उप हिमालय
(द) असम हिमालय
 
व्याख्या:- महा हिमालय में देश की सबसे ऊंची चोटिया इसी पर्वत श्रेणी में है माउंट एवरेस्ट 8848 मीटर गोडविन ऑस्टिन 8611 मीटर कंचनजंगा 8585 मीटर, मकालू 8481 मीटर, धौलागिरी 8172 मीटर, नंगा पर्वत 8126 मीटर, अन्नपूर्णा 8078 मीटर, नंदा देवी 7818 मीटर आदि हिमाचल चुटिया इसी श्रेणी में स्थित है

यह श्रेणी विवर्तनिक दृष्टि से सक्रिय है अतः अभी भी ऊंची उठ रही है भारत की ओर इस श्रेणी का ढाल तीव्र होने के कारण नदियों की घटिया सामग्री एवं खड़े ढालो वाली है सिंधु सतलज गंगा यमुना ब्रह्मपुत्र आदि नदियां यहां से निकलती है

प्रश्न=30. हिमालय के किस भाग की उच्च ढालों पर कोणधारी वन तथा निम्न ढालो पर घास के क्षेत्र पाए जाते हैं?
(अ) महा हिमालय
(ब) लघु हिमालय ✔
(स) उप हिमालय
(द) असम हिमालय
 
व्याख्या:- लघु हिमालय मैं श्रेणी के उच्च डालो पर कौण धारी वन तथा निम्न ढालो पर घास के क्षेत्र पाए जाते हैं जिन्हें कश्मीर में मर्ग (जैसे गुलमर्ग सोनमार्ग आदि) तथा उत्तरांचल में बुग्याल व पयार कहते हैं लघु हिमालय विवर्तनिक दृष्टि से अपेक्षाकृत अधिक संतुलित स्थिर हो गया है यहां नदियों के हड़पने के कई उदाहरण मिलते हैं

प्रश्न=31. भाबर का दक्षिणी भाग दलदली है जो कहलाता है ?
(अ) तराई ✔
(ब) खादर
(स) बांगर
(द) भाबर
 
व्याख्या:- शिवालिक श्रेणी से नदिया संकीर्ण घाटिया गार्ज बनाती हुई मैदान में प्रवेश करती है जहां अनेक जलोढ़ पंख मिलते हैं इन्हें स्थानीय रूप से भाबर नाम से जाना जाता है भाबर का दक्षिणी भाग दलदली है जो तराई कहलाता है यह संपूर्ण भाग वनाच्छादित है

प्रश्न=32. निम्न में से सुमेलित नहीं हे?
(अ) पंजाब हिमालय- सिंधु एवं सतलज नदियों के बीच
(ब) कुमाऊ हिमालय- सतलज से काली नदी के बीच
(स) असम हिमालय- तीस्ता नदी से सतलज नदी के बीच ✔
(द) नेपाल हिमालय- काली से तीस्ता नदी के बीच

व्याख्या:- पंजाब हिमालय सिंधु एवं सतलज नदियों के बीच 560 किलोमीटर की लंबाई में फैला हुआ है कुमाऊं हिमालय सतलज नदी से काली नदी तक 320 किलोमीटर लंबाई में फैला हुआ है
असम हिमालया तीस्ता नदी से ब्रह्मपुत्र नदी तक 740 किलोमीटर लंबे भाग में फैला हुआ है नेपाल हिमालय काली नदी व तीस्ता नदी तक 800 किलोमीटर लंबाई के क्षेत्र में फैला हुआ है

प्रश्न=33. बिस्त दोआब किन नदियों के बीच में पाया जाता है ?
(अ) व्यास व सतलज नदी के बीच ✔
(ब) रावी और व्यास के बीच
(स) चिनाब और रावी के बीच
(द) झेलम और चिनाब के बीच
 
व्याख्या:- दो नदियों के मध्य स्थित मैदानी क्षेत्र को स्थानीय भाषा में दोआब कहा जाता है व्यास व सतलज के बीच बिस्त दोआब
रावी और व्यास के बीच बारी दो आब
चिनाब रावी के बीच रचना दो आब
झेलम और चिनाब के बीच चाज दोआब

इनमे से बिस्त-बारी दोआब ही भारत में हे बाकी सब पाकिस्तान में हे।

प्रश्न=34. बांगर प्रदेश अर्थात उच्च मैदानों के कुछ शुष्क भागों में छोटे छोटे टीले मिलते हैं जिन्हें स्थानीय भाषा में कहते हैं?
(अ) भूड ✔
(ब) बेट
(स) बील
(द) चर
 
व्याख्या:- मैदानों का सामान्य ढाल पूर्व तथा दक्षिण पूर्व की ओर है इस मैदान में खादर और बांगर भूमि मिलती है बांगर प्रदेश अर्थात उच्च मैदानों की कुछ शुष्क भागों में छोटे छोटे टीले मिलते हैं जिन्हें स्थानीय भाषा में भूड कहते हैं

  1. नदियों के दोनों और 10 से 20 किलोमीटर चौड़ा क्षेत्र खादर या बाढ़ ग्रस्त होता है ऐसे क्षेत्रों के स्थानीय भाषा में बेट कहते हे
  2. ज्वारीय बल की डूब में नो आने वाली उच्च भूमि को चर कहते हैं जैसे बस्तियां
  3. ज्वारीय जल की डूब में न आने वाली निम्न भूमि को बिल कहते हैं जिनमें जुट धोने के लिए पर्याप्त जल मिल जाता है।

प्रश्न=35. दक्षिण के पठार का ढाल है?
(अ) पूर्व की ओर ✔
(ब) पश्चिम की ओर
(स) दक्षिण की ओर
(द) उत्तर की ओर
 
व्याख्या:- दक्षिण पठार का विस्तार दक्षिण पूर्व राजस्थान गुजरात झारखंड मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ बिहार उड़ीसा महाराष्ट्र आंध्र प्रदेश कर्नाटक तमिलनाडु और केरल में आंशिक रूप से है यह एक प्राचीन पठार है जो अत्यंत कठोर पुरानी व दावेदार चट्टानों से बना है इस पठार का ढाल पूर्व की ओर है अतः नर्मदा और ताप्ती को छोड़कर सभी बड़ी नदियां पूर्व की ओर बहती हुई बंगाल की खाड़ी में गिरती है

 

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

लाल शंकर पटेल डूंगरपुर, धर्मवीर शर्मा अलवर, रीना यादव कोटकासिम, संदीप शर्मा बांसवाड़ा, Vijay Pal Badhal

Leave a Reply

Your email address will not be published.