जयसमंद झील(Jaisamand jheel )

जयसमंद झील(Jaisamand jheel )

जयसमंद झील Udaipur मुख्यालय से 51 किलोमीटर की दूरी पर दक्षिण पूर्व की ओर उदयपुर  -सलूंबर मार्ग पर स्थित है
 यहां घूमने का सबसे उपयुक्त समय मानसून के समय है
 यह राजस्थान के प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक है
 जयसमंद झील (Jaisamand jheel) को ढेबर झील भी कहते हैं
 इस झील का निर्माण मेवाड़ के महाराजा जयसिंह द्वारा 1687 से 91 ईसवी में किया गया है
 इस झील का निर्माण गोमती नदी पर बांध बनाकर किया गया है
 जयसमंद विश्व की मीठे पानी की दूसरी सबसे बड़ी झील  (प्रथम गोविंद सागर झील) है
 यह झील राजस्थान की सबसे बड़ी कृत्रिम झील (Artificial lake) है
 इस झील में कुल 7 टापू हैजहां भील एवं मीणा जनजाति के लोग निवास करते हैं
 इनमें सबसे बड़े टापू का नाम बाबा का भागड़ा है
 सबसे छोटे टापू का नाम प्यारी है
 यह  अंत: प्रवाह की झील    है
 इस झील में गोमती, झावरी, बागर नदीयो का जल गिरता है
 बाबा का भांगड़ा पर आइलैंड रिसोर्ट नामक होटल स्थित है
 1950 ईस्वी में जयसमंद झील से श्यामपुरा व भाट नहरे  निकाली गई
 जयसमंद झील के निकट एक पहाड़ी पर चित्रित हवा महल एवं रूठी रानी का महल स्थित है
 जहां उदयपुर रियासत की शीतकालीन वर्षा होती है

 जयसमन्द झील के बारे में 
 अधिकतम लंबाई- 9मिल(14Km)
 अधिकतम गहराई- 102 फुट(31मीटर)
 इसका सतही क्षेत्रफल-87 वर्गकिमी (34वर्ग मिल)

 जयसमन्द झील का इतिहास 
 जयसमंद झील दो पहाड़ियों के बीच में ढेबर दर्रा को कृत्रिम झील का स्वरूप दिया गया है
 महाराजा जय सिंह के नाम पर इसे जयसमंद झील कहा जाने लगा है
 बताया जाता है कि कुछ  कुछ वर्षों पूर्व इस झील में 9   नदियों एवं आधा दर्जन से अधिक नालो से जल आता था
  लेकिन अब मात्र गोमती नदी और इसकी सहायक नदियों और कुछ नालो से ही जल का आगमन हो पाता है

 बांध का निर्माण 

जयसमन्द झील  बांध विशेष
 लंबाई 375 मीटर
 ऊंचाई 35 मीटर
 बाँध के तल की चौड़ाई 20 मीटर
 बाँध के ऊपर से चौड़ाई 5मीटर

 बांध का निर्माण सलूंबर में स्थित बरोडा गांव की खदानों से सफेद पत्थरो से करवाया गया है
 बरोडा  की खदान से झील तक पत्थरो को गधे पर लाद कर लाया गया था
 सुरक्षा की दृष्टि से  बांध से करीब 100 फिट की दूरी पर 396 मीटर लंबा एवं 36 मीटर ऊँचा एक और बांध बनवाया गया हैं
 महाराजा सज्जन सिंह व फतेह सिंह के समय इन दो  बांधो के बीच के भाग को भरवाया गया और समतल भूमि पर वृक्षारोपण किया गया

Specially thanks to Post and Quiz Creator ( With Regards )

सुखेन्द्र मीणा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *