पर्यावरण अध्ययन- परिवार

पर्यावरण अध्ययन- परिवार

परिवार समाजिक संस्थानो (Social institutions) में सबसे महत्वपुर्ण, सर्वव्यपी एंव प्राथमिक समाजिक संस्था या समूह है I यह सभी समाजो की आधारभूत इकाई होती है I  यह सभी समाजो की या परिवार एक ऐसा सामाजिक समूह ( Social group) है, जो व्यक्ति की अपेक्षा व्यक्ति की हैसियत का निधार्रण करता है I सामान्यतः परिवार स्त्री और पुरुष के बिच वैवाहिक सबंध से बनता है I

“भारत में परिवार समाज की बुनियादी इकाई है”

  बर्गस एंव लॉक के अनुसार- “परिवार व्यक्तियो का एक ऐसा समूह है, जो विवाह रक्त या दतक बंधनो में संगठित है जिसमे एक सामान्य संस्कृति का सृजन एंव पोषण कर पति-पत्नी, माता-पिता,पुत्र-पुत्री अन्तनिहित क्रियाएँ करते है”

 परिवार की विशेषताएँ (विलियम जे. जुड़े 1989) 
 कम से कम दो भिन्न लिंगी वयस्क साथ-साथ रहते हो I
 वे श्रंम विभाजन के अनुसार कार्य करते हो न कि एक ही कार्य में दोनों लगे हो I
 वे अनेक वस्तुओ का समान रूप से उपभोग करते हो, यथा-भोजन, संभोग, आवास और सामाजिक गतिविधियो I
 व्यसको का बच्चों के साथ माता-पिता का सबंध हो उनकी सुरक्षा, सहयोग व पोषण को जिम्मेदारिया हो I
 बच्चों में सहोदर का सबंध हो और एक दूसरे के साथ सहभागिता, सुरक्षा और सहयोग का दायित्व हो I
( ये प्रश्न REET-2015 में पूछा गया था )

  परिवार के प्रमुख तत्व ( Family Elements)
 विवाह एंव यौन सबंध
 नामकरण की व्यवस्था
 साझा निवास स्थान
 सार्वभोमिक सगठन
 सामाजिक सरचना में केन्द्रीय स्थिति असीमित
 प्रजनन
 दीर्घकालीन समूह
 भावनात्मक आधार
 परस्पर आर्थिक बन्धन
 परिवार के सदस्यों का उतरदायित्व

 परिवार के प्रकार  ( Family type )
1- एकल परिवार(Single family)
2- सयुक्त परिवार( joint family)

एकल परिवार- वह परिवार जिसमे पति-पत्नी और उन के अविवाहित बच्चे शामिल हो, एकल परिवार कहलाता है I
 एकल परिवार की विशेषता 
 आकार में छोटा
 सुखी परिवार
 बच्चे आत्मनिर्भरता
 निर्णय लेने की क्षमता का विकास

 सयुक्त परिवार- सयुक्त  परिवार वो होते है जिस में दो या तीन पीढ़ियो के सदस्य यथा- पति-पत्नियाँ और बच्चे, चाचा-चाची और दादा-दादी का समावेश होता है, सयुक्त परिवार कहलाता है I
 सयुक्त परिवार की विशेषता 
 घर का सबसे बड़ा व्यक्ति परिवार का मुखिया होता है I
 सहभोजिता
 सनिवास
 सम्पत्ति में सहभागीता
 पुश्त गहनता

 सयुक्त परिवार के विघटन के कारण 
 रोजगार के कारण
 शैक्षिक कारण
 कानूनी व्यवस्थाएँ

भारतीय कामगार प्रतिपूर्ति अधिनियम 1923
न्यूनतम मजदूरी अधिनियम 1948
हिन्दू विद्याधन अधिनियम 1930
बाल विवाह नियंत्रण अधिनियम 1929

 शहरीकरण(Urbanization)

 पितृसतात्मक परिवार( Patriarchal family)
वह परिवार जिसमे परिवार की सभी शक्तिया परिवार के सबसे ज्येष्ठ पुरुष मुखिया के हाथो में होती है I

 मातृसतात्मक परिवार( Maternal family)
वह परिवार जिसमे परिवार की सभी शक्तिया परिवार के सबसे ज्येष्ठ महिला(माँ) मुखिया के हाथो में होती है I

 विस्तारित परिवार( Extended family)
दो या दो से अधिक नाभिक परिवार द्वारा निर्मित एक घर एंव ऐकिक आथिर्क इकाई को विस्तारित परिवार कहते है I