मध्यप्रदेश के खनिज

मध्यप्रदेश के खनिज

Minerals of Madhya Pradesh

मध्यप्रदेश में खनिज भंडार प्रचुर मात्रा में है !
मध्यप्रदेश में 30 प्रकार के खनिज पाए जाते हैं लेकिन उत्खनन 23 का होता है !
मध्यप्रदेश राज्य खनिज निगम की स्थापना 1962 में की गई है !
खनिज उत्पादन के मामले में मध्यप्रदेश का देश मे तृतीय स्थान है !
हीरा उत्पादन में मध्यप्रदेश को राष्ट्र में एक अधिकार प्राप्त है !

कोयला उत्पादन में मध्यप्रदेश का स्थान है !
छतरपुर में हीरे का पता चला है !
सीधी जिले के मझौली क्षेत्र में सोने के भंडार प्राप्त होने के संकेत मिले हैं !
सिंगरौली जिले के पिपरा में कोरन्डम प्राप्त हुआ है !

पन्ना के 10002 किलोमीटर क्षेत्र में 1334.35 कैरेट हीरे के संरक्षित भंडार हैं !
मध्यप्रदेश की नवीनतम खनिज नीति 2010 में घोषित की गई !
मध्यप्रदेश के बालाघाट एवं छिंदवाड़ा मुख्य उत्पादक जिले हैं !
मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले का आगर गांव टंगस्टन के लिए प्रसिद्ध है !
चीनी मिट्टी का मूल नाम केऔलिन है !
कोहिनूर हीरा मध्यप्रदेश की खानों से प्राप्त किया जाता है !

मलाजखंड देश की सबसे बड़ी तांबे की खुली खदान है !
हीरा प्रयरोफिलाइड  ताम्र अयस्क उत्पादन में मध्यप्रदेश का प्रथम स्थान है
मध्यप्रदेश का द्वितीय स्थान डायस्पोरा रॉक फॉस्फेट मैगनीज अयस्क फायर क्ले अग्नि मृतिकाम है
बुलफ्रांम टंगस्टन का अयस्क है

मध्य प्रदेश का सोहागपुर सबसे बड़ा कोयला क्षेत्र है
उत्पादन की दृष्टि से खनिजों को क्रमशः कोयला चूना पत्थर तांबा लोहा मैगनीज  है
मध्यप्रदेश की एकमात्र यूरेनियम की खदान शहडोल में है!
मध्यप्रदेश में हीरा सागर संभाग के  पन्ना में पाया जाता है
बॉक्साइट एल्मुनियम का खनिज अयस्क है जब अयस्क में एलुमिनियम की मात्रा 40% से अधिक होती है तो उसके बाक्साइट कहते हैं
मध्यप्रदेश के बालाघाट जिले की भारविली मैगनीज खदान एशिया की सबसे खुले बड़े मुंह की खदान है
मध्यप्रदेश की कोयला खाने विन्ध कल्प की है !

मध्य प्रदेश में सुरमा का उत्पादन जबलपुर में होता है
झाबुआ जिले में रॉक फास्फेट के भंडार हैं
बेतूल जिले में ग्रेफाइट मिलता है
डोलोमाइट का प्रयोग लोहा साफ करने में किया जाता है
हीरे के बाद सबसे कठोर खनिज कोरनडाम है
कोरनडाम एल्मुनियम का प्राकृतिक ऑक्साइड होता है
जिप्सम मध्य प्रदेश के रीवा जिले में पाया जाता है

टंगस्टन का उपयोग बल्ब के फिलामेंट बनाने में होता है
कोयले को उद्योग की जननी का प्रतीक माना जाता है
मध्य प्रदेश में सबसे प्रमुख खनिज कोयला है !
मैगनीज के उत्पादन और प्रदेश का देश में तीसरा स्थान है !

राज्य में देश के कुल मैगनीज का 50% भंडार है
हीरे का अधिकांश उत्खनन नेशनल मिनरल डेवलपमेंट कारपोरेशन द्वारा किया जाता है
राज्य का पन्ना जिला हीरा उत्पादक देश में प्रथम स्थान पर है
प्रदेश में सिंगरौली कोयला क्षेत्र में देश की सबसे मोटी तथा विश्व में दूसरे नंबर की सबसे मोटी 136 मीटर कोयले की परत पाई  गई है!

बॉक्साइट का उत्पादन प्रदेश में अमरकंटक जिला अनूपपुर. मंडला .बालाघाट जबलपुर .सतना ,क्षेत्र है
गेलना सीमा का मुख्य अयस्क है मध्यप्रदेश का गेरु  के उत्पादन में देश में प्रथम स्थान है
देश के खरगोन जिले में उच्चस्तरीय रॉक फास्फेट का पता चला है
तांबा अधिकतम अग्नि कायांतरित शैलो से प्राप्त होता है
तांबा अधिकतम अग्नि कायांतरित शैलो से प्राप्त होता है

राज्य का लोहा अयस्क का निर्यात जर्मनी एवं जापान को किया जाता है
राज्य का मैग्नीज अमेरिका ब्रिटेन जर्मनी और रुस को निर्यात किया जाता है

देश में उपलब्ध बॉक्साइट का लगभग 40% ,मैगनीज कालगभग 50% ,लोहे का, लगभग 30% एवं कोयले का 35% भाग मध्य प्रदेश में विद्यमान है

टंगस्टन का मुख्य खनिज वूलक्रोमाइट फ्रॉम है
मध्यप्रदेश का संगमरमर आर्कियन युग की चट्टानों से संबंधित है
कोयले को काला हीरा जी कहा जाता है

बिटुमिनस पीठ एंथ्रेसाइट एवं लिग्नाइट कोयला कार्बन के आधार पर वर्गीकरण किया गया है
कोयला अवसादी चट्टान में पाया जाता है
प्रदेश में विटूमिनस प्रकार का कोयला ही सर्वाधिक पाया जाता है
मध्यप्रदेश का सोहागपुर सबसे बड़ा कोयला क्षेत्र है
मध्यप्रदेश में कोयला भंडारण की दृष्टि से विंध्य क्षेत्र प्रथम है

चूना पत्थर के  6267 मेट्रिक टन भंडारण है
जबलपुर रीवा सतना नीमच में देश का 47 प्रतिशत चुना उत्तर पाया जाता है
सोहागपुर कोयला क्षेत्र में शहडोल में कोल बेड मीथेन के भंडारण रिलायंस इंडस्ट्री को प्राप्त हुए हैं
छतरपुर क्षेत्र में भंडारों का पता चला है
सिंगरौली जिले के प्राप्त हुआ है कौल में पाई जाती है
शालीमार स्लीमनाबाद कटनी मार्बल हब मे स्टोनपार्क प्रस्ताबित है

इ बायोडीजल बनाने के काम आने वाले रतनजोत की खेती की शुरुआत मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में बड़े पैमाने पर की जा रही है
बालाघाट के मलाजखंड में उच्च कोटि के तांबे का भंडारण है !

मध्य भारत कोयला क्षेत्र

1. मध्यभारत :- सिंगरौली. सोहागपुर. उमरिया ,कोरबा, जोहिला
2. सतपुड़ा कोयला क्षेत्र:- मोहनी ,शाहपुर ,पेज घाटी,कन्हन घान्टी

 

मध्य प्रदेश में खनिजों का मूल्यांकन चार प्रकार से किया गया है
1.  कोयला
2. चुनाव
3. मैगनीज
4. तांबा

 

खनिज का नाम उनके प्रमुख उत्पादक जिले

1. टंगस्टन :- होशंगाबाद (आगर गांव)
2. यूरेनियम :- शहडोल
3. सोना :- सिंधी कटनी शहडोल

4. बैराइट :- धार सिंधी शिवपुरी देवास झाबुआ
5. बेरिल :- बालाघाट छिंदवाड़ा राजगढ़
6. फ्लोराइड :- जबलपुर
7. कोयला :- शहडोल सिंगरौली. छिंदवाड़ा. होशंगाबाद .बेतूल
8. मैगनीज:- बालाघाट .छिंदवाड़ा .जिला खरगोन
9. हीरा :- पन्ना सतना  छतरपुर
10. चूना :- पत्थर .जबलपुर. मंदसौर ,सतना .कटनी
11. डोलोमाइट( देश का 25% ):- बालाघाट .नरसिंहपुर ,सिवनी, छिंदवाड़ा ,जबलपुर, मलाजखंड, बालाघाट. होसंगाबाद .सागर .झाबुआ!
12. ग्रेफाइट:-  बेतूल

13. पाइराइट:-  टीकमगढ़, देवास. धार. झाबुआ. शिवपुरी ,सिधी .रीवा
14. अभ्रक :- बालाघाट, छिंदवाड़ा. होशंगाबाद. मंदसौर
15. स्लेट:- मंदसौर देश मे शीर्ष
16. सुरमा ऐन्टी मनी :- जबलपुर
17. शीशा :- होशंगाबाद, दतिया ,शिवपुरी झाबुआ, जबलपुर

18. घीया पत्थर :- भेड़ाघाट. झाबुआ, नरसिंहपुर
19. चीनी मिट्टी:-  खतौली रीवा ,आंतरी .ग्वालियर, जबलपुर .शहडोल
20. सिलीमाइट :- रीवा .सिंधी ,एस्बेस्टस. झाबुआ
21. कोरनडम :- पीपरा परकोटा ,सिंगरौली
22.  ऐनडेलुसाइट:-  चांद नगर
23. संगमरवर :- जबलपुर. बेतूल ,सिवनी ,छिंदवाड़ा, ग्वालियर , झाबुआ

24. डायस्पोर:- छतरपुर , टीकमगढ़ .शिवपुरी ,जबलपुर (देश का 60%)
25. फेल्सपार :- छिंदवाड़ा, जबलपुर ,शहडोल
26. रॉक फॉस्फेट :- झाबुआ, छतरपुर ,सागर
27. गेरू(फेरिक ऑक्साइड):-  सतना. पन्ना, ग्वालियर ,जबलपुर
28. ग्रेनाइट :- पन्ना ,छतरपुर. सागर ,दतिया
29. शवेत ग्रेनाइट :- जबलपुर ,ग्वालियर
30. रंगीन ग्रेनाइट:-  बेतूल छिंदवाड़ा. सिवनी
31. जिप्सम:- रीवा .शहडोल
32. टिन:- बैतुल
33. बाकसाईड:- अनूपपुर. मंडला .जबलपुर .रीवा .सतना
34. तांबा:- बालाघाट. कटनी ,सागर ,होशंगाबाद.
35.  लोहा ,अयस्क :- जबलपुर. विदिशा ,मंडला ,बालाघाट