महामारी पर निबंध | Essay on Pandemic

महामारी

“कितने खौफनाक मंजर है यहां तबाही के, घुटने टूटे है सुपर शक्ति की तानाशाही के। किसका है यह पाप अधम जीवन ज्यों हुआ अशुभकारी है। चारो और महामारी है।।” महामारी शब्द स्वयं में एक विनाश लीला की संपूर्ण कहानी लिए हुए हैं।

महामारी क्या है-

जब कोई बीमारी छुआछूत से फैलने लगती है,तो उसे महामारी कहा जाता है। यह पूरे विश्व में धीरे-धीरे पैर पसारती है और इस पर नियंत्रण बहुत मुश्किल होता है।

WHO की भूमिका

किसी भी बीमारी को महामारियां घोषित करने का अभी कोई तय मापदंड नहीं है ,लेकिन जब कोई बीमारी एक स्थान से दूसरे स्थान, राज्य में, देश में, तथा संपूर्ण विश्व में फैल जाती है तब WHO इसे महामारी घोषित करता है । किसी भी बीमारी को महामारी घोषित करना है या नहीं करना किस समय करना है यह डब्ल्यूएचओ निर्धारित करता है

विश्व में तहलका मचा देने वाली अब तक की मुख्य महामारियां

  1. Spanish flu of 1918
  2. Plague of Justinian
  3. HIV AIDS
  4. The black death
  5. Third plague epidemic ( तीसरी प्लेग महामारी )
  6. Asian flu
  7. Cholera, tuberculosis, smallpox ( हैजा, तपेदिक, चेचक )
  8. Swine flu
  9. Covid-19

इन सभी महामारियों ने विश्व में बहुत तहलका मचाया। कोविड-19 महामारी ने वर्तमान समय में संपूर्ण विश्व में तबाही मचाई हुई है

महामारी आने पर होने वाले नुकसान

“कैसी यह महामारी चली धुन थम गई संसार की। पहले थी अब दिखती नहीं रौनके बाजार की।।
हर ओर सन्नाटा यहां, हर रोज बढ़ते फासले, हर रोज मौते बढ़ती,बढ़ते मौत के काफिले,
कैसी ये महामारी चली धुन थम गई संसार की…..”

किसी महामारी के आने पर होने वाले नुकसान का शब्दों में आकलन करना मुश्किल है।

1. इससे होने वाली जनहानि की भरपाई करना मुमकिन नहीं है।
2. इनके आने पर किसी भी देश की अर्थव्यवस्था चरमरा जाती है, लोग बेरोजगार हो जाते हैं जो लोग महामारी से नहीं मरते वे रोजगार के अभाव में और भूख से मर जाते हैं।
3. बच्चे स्कूल नहीं जा पाते हैं, पढ़ाई का नुकसान होता है। वर्तमान समय में ऑनलाइन शिक्षा एक विकल्प है, परंतु आज भी दूरदराज के गांवों तक नेटवर्क की उपलब्धता नहीं होने के कारण ऑनलाइन शिक्षा में व्यवधान उत्पन्न होता है।
4. आम जीवन अस्त व्यस्त हो जाता है, सभी को भय के साये में जीना पडता है।

महामारी कैसे खत्म होती है

महामारियां वायरस, बैक्टीरिया जनित होती है, वर्षों पहले फैली महामारियों के वायरस आज भी हमारे बीच में मौजूद है, परंतु हमारे शरीर में उन रोगों से लड़ने की रोग प्रतिरोधक क्षमता उत्पन्न हो चुकी है।

1. किसी भी महामारी से लड़ने का सबसे महत्वपूर्ण हथियार स्वस्थ शरीर है। ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जिनसे हमारी इम्यूनिटी बढ़ती है
2. प्रकृति से जुड़ाव होना चाहिए, नियमित योग प्राणायाम करना चाहिए ।
3. देश का हेल्थ इन्फ्राट्रक्चर मजबूत होना चाहिए
4. किसी भी महामारी की रोकथाम के लिए टीकाकरण बेहद जरूरी है।
5. विपरीत परिस्थितियों मे घबराना नहीं चाहिए,ऐसी परिस्थितियों का डटकर मुकाबला करना चाहिए।

उपसंहार

“हे दयानिधे अब रथ रोको , क्या प्रलय की तैयारी है!
यह बिना शस्त्र का युद्ध है जो, महाभारत से भी भारी है”

कोई भी महामारी आने पर बहुत तबाही मचाती है, आवश्यक है कि हम पहले से ही तैयार रहें, शरीर को स्वस्थ रखें तथा प्रकृति का दोहन न करें। सरकारों को देश का हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मजबूत रखना चाहिए। वर्तमान समय में देश में कोरोनावायरस भारी तबाही मचा रहा है, सरकारों को अब इससे सबक लेना चाहिए तथा आने वाले समय के लिए तैयार रहना चाहिए जिससे हमारे भावी पीढ़ियों को इस तरह की परेशानियों का सामना ना करना पड़े।

यह भी पढ़े-

आपको हमारे द्वारा लिखा गया निबंध कैसा लगा कृपया Comment Box में लिख कर अपना सुझाव जरूर बताये – धन्यवाद

Specially thanks to Post Author –  आकांक्षा शर्मा, जिला बूंदी

Leave a Reply