महासागरीय निक्षेप प्रश्नोत्तरी

महासागरीय निक्षेप प्रश्नोत्तरी

प्रश्न=1. जहां पर तट से लगे उच्च पर्वतीय भाग होते हैं वहां पर किस प्रकार कि मग्न तट तक पाए जाते हैं ?
(अ) संकरे
(ब) लंबे
(स) चौड़े
(द) गोल
(अ)✔
व्याख्या:- महाद्वीपीय मग्न तट (Intercontinental magnificent mile) की औसत प्रवणता 1 डिग्री या उससे भी कम होती है वह उनकी गहराई 150 – 200 मीटर एवं चौड़ाई 80 किलोमीटर होती है(NCERT के अनुसार)
मग्न तट की चौड़ाई पर तटीय स्थलीय उच्चावच का नियंत्रण रहता है जहां पर तट से लगे उच्च पर्वतीय भाग होते हैं वहां पर मग्नतट संकरे होते हैं
महाद्वीपीय निमग्न तट के उत्तरी सागर मत्स्य ग्रहण के प्रमुख क्षेत्र हैं डागर बैंक जॉर्जेस बैंक आदि प्रमुख मत्स्य क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं संसार का 20% पेट्रोलियम गैस (Petroleum gas) यहीं से प्राप्त होता है
बालू व बजरी ( Sand and gravel) के भी यह विशाल भंडार हैं सागरीय भाग के कुल 8.6% क्षेत्रफल पर अवस्थित है।

प्रश्न=2. समस्त महासागरीय क्षेत्रफल के लगभग कितने प्रतिशत भाग पर सागरीय मैदान का विस्तार पाया जाता है ?
(अ) 50% भाग पर
(ब) 60% भाग पर
(स) 75.9% भाग
(द) 79.8% भाग पर
(स)✔
व्याख्या:- सागरीय मैदान महासागरीय नितल का सर्वाधिक विस्तृत मंडल होता है जिसकी गहराई 3000 से 6000 मीटर तक होती है समस्त महासागरीय क्षेत्रफल के लगभग 75.9% भाग पर सागरीय मैदान का विस्तार पाया जाता है इसका सर्वाधिक विस्तार प्रशांत महासागर (Pacific ocean) तदोपरांत हिंद महासागर में मिलता है मैदान लगभग समतल तथा ढाल अत्यंत मंद होता है समुद्री मैदानों में कटक ज्वालामुखी पर्वत( Volcano ) गुयोट विभनंग क्षेत्र जैसी विशेषताएं भी मिलती है इन विस्तृत सागरीय मैदानों पर सागरीय जीवों पौधों तथा क्षारीय पदार्थों के निक्षेप मिलते हैं।

प्रश्न=3. भारत के पश्चिमी तथा पूर्वी मग्न तट की चौड़ाई कितनी ह?
(अ) लगभग 150 – 200 एवं 50 किलोमीटर
(ब) लगभग 100 – 300 एवं 50 किलोमीटर
(स) लगभग 150 – 250 एवं 100 किलोमीटर
(द) लगभग 50 – 100 एवं 50 किलोमीटर
(अ)✔
व्याख्या:- भारत के पश्चिमी तथा पूर्वी मग्न तट की की चौड़ाई क्रमशः लगभग 150 – 200 एवं 50 किलोमीटर तक की है
एवं भारत का सर्वाधिक चौड़ा मगन्तट नर्मदा ताप्ती एवं माही आदि नदियों की इस्चुरि के सामने पाया जाता है।

प्रश्न=4. महाद्वीपीय मखनी दाल का किनारा किसकी समाप्ति का द्योतक होता है ?
(अ) महासागरों की समाप्ति का
(ब) सागरों की समाप्ति का
(स) महाद्वीपों की समाप्ति का
(द) निक्षेप की समाप्ति का
(स)✔
व्याख्या:- महाद्वीपीय मग्न ढाल का किनारा महाद्वीपों की समाप्ति का द्योतक होता है

प्रश्न=5. विश्व का सर्वाधिक चौड़ा मरने तक कहां स्थित है ?
(अ) प्रशांत महासागर( Pacific ocean ) में
(ब) अटलांटिक महासागर( Atlantic Ocean) में
(स) आर्कटिक महासागर ( Arctic Ocean)में
(द) हिंद महासागर (Indian ocean) में
(स)✔
व्याख्या:- विश्व का सर्वाधिक चौड़ा मग्न तट साइबेरियन सेल्फ है जो आर्कटिक महासागर में स्थित है जिसकी चौड़ाई लगभग 1500 मीटर है।

प्रश्न=6. महासागरीय नितल के किस भाग पर अंतः सागरीय केनियम तथा अंतः सागरी कंदराय पाई जाती है ?
(अ) महाद्वीपीय मग्न तट पर
(ब) महाद्वीपीय मग्न ढाल पर
(स) महासागरीय गर्त पर
(द) सागरीय मैदानों में
(ब)✔
व्याख्या:- महासागरीय नितल महाद्वीपीय मग्न ढाल पर अंतः सागरीय के नितल तथा अंतः सागरीय कंदराय पाई जाती है
और महासागरीय मैदानों का सर्वाधिक विस्तार 20 डिग्री उत्तर से 60° दक्षिणी अक्षांश के बीच पाया जाता है और 60°- 70 डिग्री उत्तरी अक्षांश के बीच सागरीय में मैदानों का अभाव पाया जाता है।

प्रश्न=7. अटलांटिक महासागर ( Atlantic Ocean) का सर्वाधिक गहरा गर्त प्लूटोरीको कहां पर स्थित है ?
(अ) पश्चिमी द्वीप समूह के समीप
(ब) उत्तरी दीप समूह के समीप
(स) पूर्वी दीप समूह के निकट
(द) दक्षिणी द्वीप समूह के निकट
(अ)✔
व्याख्या:- अटलांटिक महासागर का सर्वाधिक गहरा गर्त प्यूर्टोरिको पश्चिमी द्वीप समूह के समीप पाया जाता है
पृथ्वी का क्षेत्रफल लगभग 51 करोड वर्ग किलोमीटर स्थलमंडल का 14.98 करोड़ वर्ग किलोमीटर तथा प्रशांत महासागर का क्षेत्रफल 16.57 का वर्ग किलोमीटर है अर्थात यह स्थल मंडल से 1.59 करोड़ वर्ग किलोमीटर अधिक है।

प्रश्न=8. मध्य अटलांटिक कटक के उत्तरी तथा दक्षिणी भाग को कौनसी संज्ञा प्रदान की गई है ?
(अ) डॉल्फिन तथा चैलेंजर उभार
(ब) चैलेंजर तथा उत्तरी सोलोमन
(स) डॉल्फिन तथा एजोरस उभार
(द) इनमें से कोई नहीं
(स)✔
व्याख्या:- हिंद महासागर का सर्वाधिक गहरा गर्त सुंडा/जावा गर्त है जबकि मध्य अटलांटिक कटक की उत्तरी तथा दक्षिणी भाग को डॉल्फिन तथा चैलेंजर उभार की संज्ञा प्रदान की गई है

प्रश्न=9. महासागरीय तली का अधिकतम गहरा भाग जो सागरीय तली के सीमित क्षेत्र में पाया जाता है तथा जिसके किनारे तीव्र ढालो वाले होते हैं उन्हें कहते हैं ?
(अ) कटक
(ब) टीले
(स) गर्त
(द) मग्न तट
(स)✔
व्याख्या:- महासागरीय तली का अधिकतम गहरा भाग जो सागरीय तली की सीमित क्षेत्र में पाया जाता है तथा जिसके किनारे तीव्र ढालो वाले होते हैं उन्हें गर्त कहते हैं
गर्त जो महासागरीय नितल के लगभग 7% भाग पर फैली है यह महाद्वीपीय ढाल के आधार तथा द्वितीय चापो के पास स्थित होते हैं एवं सक्रिय ज्वालामुखी तथा प्रबल भूकंप वाले क्षेत्रों से संबंधित होते हैं यही कारण है कि यह प्लेटो के संचलन के अध्ययन के लिए काफी महत्वपूर्ण होते है।

प्रश्न=10. अधिकांश विद्वानों का मानना है कि दो प्लेटो के अपसरण के कारण एस्थनोस्फेयर (Asthenosphere)से मैग्मा निकलने से कीनका निर्माण हुआ ?
(अ) केनियन का
(ब) कटक का
(स) नितल पहाड़ियां
(द) प्रवाल भित्ति
(ब)✔
व्याख्या:- मध्य महासागरीय कटक पर्वतों की दो श्रृंखलाओं से बना होता है जो एक विशाल अवनमन द्वारा अलग किए गए होते हैं कटक मंद ढाल वाले पठार तथा तीव्र ढाल वाले पर्वत दोनों रूपों में मिलते हैं कहीं कही यह कटक समुद्री जलस्तर से ऊपर उठकर भी बन जाते हैं जैसे – ऐजोर्स द्विप
अटलांटिक तथा हिंद महासागर में इन कटको का अधिक विस्तार है ज्ञातव्य है कि दो प्लेटो के अपसरण के कारणों से मैग्मा निकलने से इन कटको का निर्माण हुआ है।

प्रश्न=11. महाद्वीपीय मग्न तट तथा मग्न ढाल पर संकरी गहरी तथा खड़ी दीवार से युक्त घाटियों को महासागर के अंदर होने के कारण इन्हें कहा जाता है ?
(अ) महासागरीय कटक
(ब) जल मग्न केनियम
(स) नितल पहाड़ियां
(द) महाद्वीपीय ढाल
(ब)✔
व्याख्या:- महाद्वीपीय मग्न तट तथा मग में ढाल पर शंकर लहरी तथा खड़ी दीवार से युक्त घाटियों को महासागर के अंदर होने के कारण अंतः सागरीय कन्दराये या केनियन कहा जाता है
यह कंदराय स्थल पर निर्मित नदियों केनियम के समान होती है अंतः सागरीय केनियन कुछ अपवाद को छोड़कर प्रायः तट के लंबवत होते हैं तथा बड़ी-बड़ी नदियों की मुहाने के सामने पाए जाते हैं जैसे:- हडसन तथा कांगो केनियम

अलास्का ( Alaska) के पश्चिम बेरिंग सागर में संसार के सबसे लंबे के नियम पाए जाते हैं जैसे बेरिंग प्रिबिलॉफ तथा जैम जूग के नियम

प्रश्न=12. किस महासागर में मध्यवर्ती कटक नहीं पाया जाता ?
(अ) प्रशांत महासागर
(ब) अटलांटिक महासागर
(स) हिंद महासागर
(द) उपरोक्त सभी
(अ)✔
व्याख्या:- प्रशांत महासागर में अटलांटिक तथा हिंद महासागर के समान मध्यवर्ती कटक नहीं पाया जाता है कुछ बिखरे कटक अवश्य मिलते हैं जेसे:- अलबेटरोश,न्यूलीजेंड रिज,क्लिन्सलेण्ड पठार,हवाई कटक आदि।

प्रश्न=13. वे सभी पदार्थ जो महासागरीय नितल पर एकत्रित होते हैं वह कहलाते हैं ?
(अ) महासागरीय निक्षेप
(ब) सीमांत सागर
(स) महासागरीय कटक
(द) महासागरीय गर्त
(अ)✔
व्याख्या:- वे सभी पदार्थ जो महासागरीय नितल पर एकत्रित होते हैं उन्हें महासागरीय निक्षेप कहते हैं

प्रश्न=14. निम्न में से कौन सा स्थलीय निक्षेप से संबंधित नहीं है ?
(अ) बजरी
(ब) रेत
(स) पंक
(द) डायटम ऊज
(द)✔
व्याख्या:- स्थलीय नीक्षेप धरातलीय अपक्षय तथा अपरदन द्वारा प्राप्त पदार्थ होते हैं कणो के आकार उनकी बनावट तथा रासायनिक संगठन के आधार पर स्थलीय पदार्थों को बजरी रेत तथा पंक तीन प्रकार में विभक्त करते हैं
पंक के कण आकार में मृतिका से छोटे होते हैं रंग के आधार पर उन्हें नीला लाल एवं हरे पंक में विभक्त किया गया इनमें चुने की मात्रा अधिक होती है पंक शांत जल में रासायनिक अपक्षय की क्रिया द्वारा निर्मित होते हैं नीले पंक में लौह सल्फाईट एवं ऑक्साइड, लाल पंक में लोह ओकसाइट तथा हरे पंक में पोटेशियम के सिलीकेट तथा लोहा पाया जाता है लोहे का अंश ग्लाइको नाइट 7 से 8 प्रतिशत पाया जाता है।

प्रश्न=15. हरे पंक का निर्माण किस पंक के रासायनिक अपक्षय ( Chemical weathering) द्वारा होता है ?
(अ) नीले पंक
(ब) लाल पंक
(स) हरे पंक
(द) इनमें से कोई नहीं
(अ)✔
व्याख्या:- हरे पंक का निर्माण नीले पंक के रासायनिक अपक्षय द्वारा होता है

प्रश्न=16. टेरापोड़ ऊज का सर्वाधिक विस्तार किस महासागर में हुआ है ?
(अ) प्रशांत महासागर
(ब) अटलांटिक महासागर
(स) हिंद महासागर
(द) आर्कटिक महासागर
(अ)✔
व्याख्या:- टेरापोड़ ऊज सर्वाधिक अटलांटिक महासागर में पाए जाते हैं जबकि रेडियोलेरियन ऊज का सर्वाधिक विस्तार प्रशांत महासागर में हुआ है

प्रश्न=17. सभी सागरों के गहनतम भागों में किस अकार्बनिक पदार्थ का सर्वाधिक निक्षेप पाया जाता है ?
(अ) लाल मृतिका
(ब) डायटम
(स) नीले पंक
(द) पेलेजिक निक्षेप
(अ)✔
व्याख्या:- सभी सागरों की गहनतम भागों में लाल मृतिका अकार्बनिक पदार्थ का सर्वाधिक निक्षेप पाया जाता है।
समस्त सागरीय निक्षेपो में सर्वाधिक निक्षेप लाल मृतिका(30%) प्रकार के पदार्थ का पाया जाता हे।

प्रश्न=18. ग्लोबिजेरिना (Globigerina) तथा टैरोपोड ऊज मैं किसकी प्रधानता होती है ?
(अ) कैलशियम कार्बोनेट(Calcium carbonate)
(ब) पोटेशियम सल्फेट(Potassium sulphate)
(स) लोह सल्फाइड( Iron sulphide)
(द) लोह ऑक्साइड(Iron oxide)
(अ)✔
व्याख्या:- ग्लोबिजेरिना तथा टैरोपोड ऊज मैं कैलशियम कार्बोनेट की प्रधानता होती हे

प्रश्न=19. महासागरों में अधिक गहराई पर मिलने वाले जीवो तथा वनस्पतियों के अवशेषों के निक्षेप को कहा जाता है ?

(अ) पेलेजिक निक्षेप
(ब) सिलिका प्रधान ऊज
(स) लाल मृतिका
(द) इनमे से कोई नहीं
(अ)✔
व्याख्या:- महासागरों में अधिक गहराई पर मिलने वाले जीवो तथा वनस्पतियों के अवशेषों को पेलेजिक निक्षेप कहा जाता है

प्रश्न=20. निम्न में से सिलीका(Silica) प्रधान ऊज है ?
(अ) रेडियोलेरियन ( Radiolerian) ऊज
(ब) दायटम ऊज
(स) अ और ब
(द) लाल मृतिका
(स)✔
व्याख्या:- रेडियोलेरियन जीवो के अवशेष निक्षेप को रेडियोलेरियन ऊज तथा डायटम नामक सूक्ष्म पौधों के अवशेष निक्षेप को डायटम ऊज की संज्ञा प्रदान की गई है इनमें सिलिका अंश की प्रधानता होती है।_