राजस्थान में मेट्रो प्रोजेक्ट(Metro Project in Rajasthan)

राजस्थान में मेट्रो प्रोजेक्ट(Metro Project in Rajasthan)

राजस्थान में नगरीय रेल परिवहन में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है राजस्थान के जयपुर(Jaipur) में मेट्रो रेल का निर्माण किया जाएगा जयपुर मेट्रो रेल(Jaipur Metro Rail) परियोजना की क्रियान्विति हेतु राज्य सरकार द्वारा जयपुर मेट्रो रेल कारपोरेशन लिमिटेड का पंजीकरण 1 जनवरी 2010 को कंपनी अधिनियम 1956 के अंतर्गत किया गया है राजस्थान के जयपुर जिले में मेट्रो रेल परियोजना का कार्य दो चरणों में पूरा होगा इसके प्रथम चरण का शिलान्यास 24 फरवरी 2011 को केंद्रीय मंत्री कमलनाथ द्वारा किया गया था जयपुर मेट्रो का प्रथम चरण का कार्य पूर्ण होने पर 18 सितंबर 2013 को ट्रायल रन का शुभारंभ किया गया मेट्रो के परीक्षण का एक चरण पूर्ण होने के बाद 3 जून 2015 से  फेज-1ए  में मानसरोवर से चांदपोल तक मेट्रो चलने लगी जयपुर मेट्रो रेल परियोजना को 24 अगस्त 2009 को आयोजित की गई बैठक में सैद्धांतिक सहमति दी गई थी इसके बाद 22 अप्रैल 2010 को मंत्रिमंडल की बैठक में परियोजना का पब्लिक प्राइवेट पार्टशिर्प मॉडल पर क्रियान्वन करने का निर्णय किया गया पुन:21 जुलाई 2010 को मंत्रिमंडल की बैठक में परियोजना के प्रथम और द्वितीय चरण के क्रियान्वयन की रूपरेखा पर लगाई
कॉम्प्रिहेन्सिव मोबिसिटी प्लान जनवरी 2010 के तत्व के आधार पर वर्ष 2014 में मेट्रो रेल को संचालित किया जाना चाहिए जबकि राज्य सरकार ने जून 2013 में ही राजधानी में मेट्रो ट्रेन रेल के संचालन का लक्ष्य रखा है बीते दशक में भारत को दो नई मेट्रो रेल सेवाएं मिली और चालू दशक में कम से कम 10शहरों में मेट्रो सेवा उपलब्ध होगी यह शहर है- लुधियाना चंडीगढ दिल्ली एनसीआर जयपुर लखनऊ अहमदाबाद भोपाल कोलकाता इंदौर मुंबई पुणे हैदराबाद बेंगलुरु चेन्नई और कोचिं इसमें दिल्ली एनसीआर बेंगलुरु और कोलकाता में 1984 में मेट्रो रेल सेवा शुरू हुई थी जयपुर मेट्रो के दोनों कोरिडोर में 35.166 किलोमीटर की दूरी और 9732 करोड़ का खर्च प्रस्तावित है

3 जून 2015 गुलाबी नगर के लिए ऐतिहासिक दिन था दिल्ली के बाद जयपुर पहला उत्तर भारतीय शहर है जहां मेट्रो ट्रेन शुरू हुई है मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje)ने 3 जून 2015 को सुबह 11:00 बजे मानसरोवर भृगु पथ स्थित स्टेशन से मेट्रो ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर फेज-1ए का उद्घाटन किया था पहले चरण में देरी के बावजूद यह देश में सबसे जल्दी पूरा होने वाला प्रोजेक्ट है 9 स्टेशन पहले चरण में 9.63 किलोमीटर मेट्रो का सफर 5₹ से 15₹ का टिकिट 2023 की लागत से बनी है तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में भी 29 जून 2015 को मेट्रो शुरु हो गई है इसके साथ ही चेन्नई शहर, कोलकाता नई दिल्ली मुंबई और शहरों की सूची में शामिल हो गया है जहर लोगों को मेट्रो की सुविधा हासिल है प्रथम चरण में अजमेर पुलिया से सोडाला तक एलिवेटेड ट्रैक का निर्माण किया गया है यह ट्रेक देश का पहला और एशिया का दूसरा ट्रेक होगा जहॉ जमीन से ऊपर एलिवेटेड रोड और उसके ऊपर ही गुजराती मेट्रो रेल होगी थाईलैंड की राजधानी बैंकाक में एशिया का ऐसा पहला थ्री डेक ट्रैक है जयपुर में फेज-बी के कार्य का शिलान्यास 21 सितंबर 2013 को किया गया था