राजस्थान में रीति-रिवाज Quiz(Rituals in Rajasthan Quiz)

राजस्थान में रीति-रिवाज,परम्पराये और वेशभूषा

राजस्थान में रीति-रिवाज Quiz(Rituals in Rajasthan Quiz)

1.नया मकान बनाने पा उसके उद्घाटन की रस्म कहलाती है-
(अ) नांगल
(ब) कुआ पुजन
(स) सामेला
(द) आरन्या
उत्तर-नांगल

2.वह जाति कौनसी है जिसके लोग पालकी उठाने का कार्य करते है-
(अ) सिरवी
(ब) कहार
(स) बंधारा
(द) मीरासी
उत्तर-कहार

3.कौनसा नाक से संबंधित आभूषण है-
(अ) बीछूड़ी
(ब) चोप
(स) नोगरी
(द) बींटीं
उत्तर-चोप

4.मुरकिया शरीर के कौनसे भाग का आभूषण है-
(अ) गरदन
(ब) कान
(स) मस्तक
(द) पांव
उत्तर-कान

5. निम्न में से हाथ के अगुठे में पहने जाने वाली अगूठी को कहते है-
(अ) मादलिया
(ब) अरसी
(स) रखन
(द) चैक
उत्तर-अरसी

6.राजस्थान में सुरलिया आभुषण कहां पहना जाता है-
(अ) कान में
(ब) गले में
(स) सिर पर
(द) बाजू पर
उत्तर-कान में

7.शारदा एक्ट 1929 के द्वारा विवाह के लिए कन्या एंव युवक की न्यूनतम कितनी आयु तय की गई-
(अ) 18 व 21
(ब) 14 व 18
(स) 12 व 16
(द) 14 व 16
उत्तर-18 व 21

8.1832 मे कानून बनाकर दास प्रथा को समाप्त करनें वाला गवर्नर जनरल निम्न में सें कौन था-
(अ) लॉर्ड आकलैण्ड
(ब) लार्ड हार्डिग
(स) लार्ड विलियम बैंटिक
(द) लॉर्ड एलनबरों
उत्तर-लार्ड विलियम बैंटिक

9.किस संस्कार के पश्चात् ब्रह्मर्चाश्रम की शुरूआत होती है-
(अ) समावर्तन
(ब) उपनयन
(स) चूड़ाकर्म
(द) विद्यारम्भ
उत्तर-उपनयन

10.आतमसुख से आशय है-
(अ) अविवाहित आदिवासी युवतियों व बालिकाओं की ओढ़नी है
(ब) मुस्लिम महिलाओं द्वारा पहना जानें वाला वस्त्र
(स) भील पुरूषों द्वारा पगड़ी के स्थान पा पहने जाने वाला वस्त्र
(द) तेज सर्दी में पुरूषों द्वारा ओढा जाने वाला वस्त्र
उत्तर-तेज सर्दी में पुरूषों द्वारा ओढा जाने वाला वस्त्र

11.मेमंद क्या है-
(अ) सिर का आभूषण
(ब) भीलों की चूनड़
(स) नाक का आभूषण
(द) पुरूषों का अंगवस्त्र
उत्तर-सिर का आभूषण

12.गोरबन्द आभूषण क्या है-
(अ) राजस्थानी महिलाओं द्वारा हाथ में पहनने का
(ब) राजस्थानी महिलाओं के सिर पर पहननें का
(स) पश्चिमी राजस्थानी महिलाओं द्वारा गले में पहनने का
(द) ऊँट के गले का
उत्तर-ऊँट के गले का

13.अमरशाही है-
(अ) चप्पलों का प्रकार
(ब) जूतों का प्रकार
(स) गहनों का प्रकार
(द) पगड़ी का प्रकार
उत्तर-पगड़ी का प्रकार

14.कौनसा वस्त्र औढ़नी का प्रकार नहीं है-
(अ) ठमड़ा
(ब) धनक
(स) मोठड़ा
(द) पोमचा
उत्तर-ठमड़ा

15.हाली प्रथा से आशय है-
(अ) युद्ध के ढोल नगाड़े बजाने वाले एवं समान ढोने वाले स्थायी मजदुर से
(ब) घरों पर काम करने वाले बधुआ मजदुर से
(स) खेतों व घरों पर काम करने वाले बधुआ मजदुर से
(द) विवाह पर दिए जाने वाले दास दासी से
उत्तर-खेतों व घरों पर काम करने वाले बधुआ मजदुर से

​16.कौनसा संस्कार मनुष्य जीवन का अंतिम संस्कार माना जाता है –
(अ) पिण्डदान
(ब) अंत्येष्टि✅
(स) सोग
(द) मोसर

17.मोसर क्या है –
(अ) आदिवासी जनजाति
(ब) राजस्थान में मृत्यु भोज की प्रथा✅
(स) राजस्थान में दासी/दास प्रथा
(द) राजस्थान में आदिवासी लोगों का नृत्य

18.घर से शमशान तक अर्थी या बैकुण्ठी की दिशा परिवर्तन करते है उसे क्या कहते है –
(अ) दिसावर
(ब) आधेटा✅
(स) मोसर
(द) पिण्डदान

19.राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्रों में सुबह के भोजन के लिए जौ के आटे में छाछ मिलाकर बनाया जाने वाला भोजन कहलाता है-
(अ) सीरा
(ब) कलेवा
(स) भात
(द) राब✅

20.जागीरदारों में पहले लोग अपनी शादी में दहेज के साथ में कुछ कुंआरी कन्याएं भी देते थे इन्हें किस नाम से पुकारा जाता था –
(अ) गौना
(ब) महर
(स) गोला
(द) डावड़ी✅

21.तोरण मारना किसका प्रतीक है –
(अ) विवाह का
(ब) विजय/ शक्ति का✅
(स) किसी की हत्या करने का
(द) इनमें से कोई नहीं

22.स्त्री पुरूषों को दासों के रूप में रखने की परम्परा को क्या कहा जाता था –
(अ) महर
(ब) नाता प्रथा
(स) मोसर
(द) गोला✅

23.आदिवासी लोगों में प्रचलित लीला-मेरिया संस्कार का संबंध है-
(अ) जन्म से
(ब) मृत्यु से
(स) विवाह से✅
(द) सगाई से

24.कौनसा रिवाज विवाह से संबंधित नहीं है –
(अ) बिंदोला
(ब) गठ-जोड़ा
(स) नांगल✅
(द) डावरिया

25.आदिवासियों में कटकी वस्त्र पहना जाता है –
(अ) विधवाओं के द्वारा
(ब) पुरूषों द्वारा
(स) अविवाहित युवतियों द्वारा✅
(द) विवाहित स्त्रियों द्वारा

26.राजस्थान में पैरों की अंगुलियों में पहना जाने वाला आभूषण है –
(अ) तकया
(ब) बिछिया✅
(स) अचकन
(द) गोखरू

27.विवाह से सम्बन्धित रस्म है –
(अ) कांकन डोरड़ा
(ब) पहरावणी
(स) बरी पाड़ला
(द) ये सभी✅

28.राजस्थान में जलवा पूजन किया जाता है –
(अ) बच्चे के जन्म से पुर्व
(ब) बच्चे के जन्म के कुछ दिन पश्चात्✅
(स) बच्चे के मुण्डन संस्कार के समय
(द) बच्चे के अन्न प्रासन संस्कार के समय

29.परम्परागत राजस्थानी वेशभूषा की पहचान है –
(अ) साफा✅
(ब) कुरता
(स) रूमाल
(द) पायजामा

30.राजस्थान में सागड़ी प्रथा क्या थी –
(अ) सती प्रथा
(ब) मृत्यु भोज प्रथा
(स) हाली प्रथा✅
(द) नाता प्रथा