विश्व कविता दिवस(World poetry day)

विश्वभर में विश्व कविता दिवस 21 मार्च 2017 को मनाया गया. युनेस्को ने प्रति व र्ष 21 मार्च को कवियों और कविता की सृजनात्मक महिमा को सम्मान देने के लिए यह दिवस मनाने का निर्णय किया.

विश्व कविता दिवस के अवसर पर भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय तथा साहित्य अकादमी की ओर से सबद-विश्व कविता उत्सव का आयोजन किया जाता है. युनेस्को ने 21 मार्च को विश्व कविता दिवस के रूप में मनाने की घोषणा साल 1999में की थी.

आयोजन एवं कार्यक्रम से संबंधित तथ्य:

कविता रचनात्मक से जुड़ा क्षेत्र है इसलिए इस दिन शिक्षक, सरकारी संस्थाएं, सामुदायिक समूह तथा व्यक्तिगत रूप से कवि कविता लेखन को बढ़ावा देने हेतु जगह-जगह आयोजन करते हैं.

विश्व कविता दिवस एक ऐसा अवसर है जहां पर बच्चों को स्कूल की कक्षा में कविताओं से रूबरू कराया जाता है. इस दिन विद्यार्थी अलग-अलग तरह की कविताओं को पढ़ते हैं.

यह एक ऐसा मौक़ा है जहां पर कवि न सिर्फ अपनी भाषा की भव्यता से लोगों का परिचय करवाता है बल्कि अपनी कविता की शक्ति को भी प्रदर्शित करता है.

उद्देश्य:

विश्व कविता दिवस मनाने का उद्देश्य यही है कि विश्व में कविताओं के पठन, लेखन, प्रकाशन और शिक्षण हेतु नए लेखकों को प्रोत्साहित किया जाए. इसके जरिए छोटे प्रकाशकों के उस प्रयास को भी प्रोत्साहित किया जाता है जिनका प्रकाशन कविता से संबंधित है.

हालांकि जब यूनेस्को ने इस दिन की घोषणा की थी तब उसने बताया था कि क्षेत्रीय, राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कविता आंदोलन को यह एक तरह की पहचान मिली है.