विश्व मानवतावादी दिवस: 19 अगस्त(World Humanitarian Day: August 19)

19 अगस्त को संपूर्ण विश्व में ‘विश्व मानवतावादी दिवस’ (World Humanitarian Day) मनाया जाता है। यह दिवस उन लोगों की स्मृतियों में मनाया जाता है। जिन्होंने मानवीय उद्देश्यों के कारण दूसरों की सहायता हेतु अपने प्राण न्यौछावर कर दिये।

वर्ष 2017 के लिए विश्व मानवतावादी दिवस की थीम “नॉट अ टारगेट” है। वर्ष 2016 में इस दिवस का मुख्य विषय (Theme)-‘ एक मानवता’ (One Humanity) था।

पृष्ठभूमि: 
दिसंबर 2008 में, संयुक्त राष्ट्र महासभा के 63वें सत्र ने 19 अगस्त को विश्व मानवतावादी दिवस के रूप में नामित करने का निर्णय लिया। उल्लेखनीय है कि यह दिवस 19 अगस्त 2003 में संयुक्त राष्ट्र के बगदाद (इराक) स्थित मुख्यालय पर हुए हमले की वर्षगांठ के रूप में मानने हेतु प्रारंभ किया गया। इस क्रूर आतंकवादी हमले में 22 लोगों की मौत हुई, जिसमें संयुक्त राष्ट्र के राजदूत सर्जियो विएरा डे मेलो शामिल थे।

यह दिन दुनिया भर में मानवीय जरूरतों पर ध्यान आकर्षित करने की मांग करता है और इन जरूरतों को पूरा करने में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग का महत्व है। हर साल, आपदाओं से लाखों लोगों विशेषतः दुनिया के सबसे गरीब, सबसे हाशिए और कमजोर व्यक्तियों को अपार दुःख का सामना करना पड़ता है।

मानवतावादी सहायता कर्मी आपदा प्रभावित समुदायों को राष्ट्रीयता, सामाजिक समूह, धर्म, लिंग, जाति या किसी अन्य कारक के आधार पर भेदभाव के बिना जीवन बचाने में सहायता और दीर्घकालिक पुनर्वास प्रदान करने का प्रयास करते हैं।

मानवतावादी सहायता मानवता, निष्पक्षता, तटस्थता और स्वतंत्रता सहित कई संस्थापक सिद्धांतों पर आधारित है। मानवीय सहायता कर्मियों का सम्मान किया जाना चाहिए, और महत्वपूर्ण सहायता प्रदान करने के लिए उन लोगों तक पहुंचने में सक्षम किया जाना चाहिए। मानवतावादी सहायता कार्यकर्ता अंतर्राष्ट्रीय हो सकते हैं, लेकिन अधिकांशतः वह अपने देश में ही काम करते हैं।

वे सभी संस्कृतियों, विचारधाराओं और पृष्ठभूमि को प्रतिबिंबित करते हैं और मानवतावाद के प्रति अपनी प्रतिबद्धता से वे एकजुट हो जाते हैं।