General concept of Vedas and Upanishads(वेद और उपनिषद की सामान्य अवधारणा)

General concept of Vedas and Upanishads

(वेद और उपनिषद की सामान्य अवधारणा)

प्रश्न 1 प्रस्थानत्रयी है-
अ- गीता ,ब्रह्मसूत्र ,वेद
ब- गीता,वेद ,उपनिषद
स- वेद,उपनिषद,ब्रह्मसूत्र
द- ब्रह्मसूत्र, गीता,उपनिषद

द✔
प्रश्न 2 ऋत का संचालक देवता कौनसा है ?
अ- इन्द्र
ब- वरुण
स- अग्नि
द- सूर्य

ब✔
प्रश्न 3 ऋत का संबंध किससे है ?
अ- नैतिक व्यवस्था से
ब- सामाजिक व्यवस्था से
स- राजनीतिक व्यवस्था से
द- भौतिक व्यवस्था से

अ✔
प्रश्न 4 वेदों में मानव जीवन का परम लक्ष्य किसे माना जाता है ?
अ- स्वर्ग, सुख ,ऐश्वर्य की प्राप्ति
ब- आत्मज्ञान की प्राप्ति
स- तत्व ज्ञान की प्राप्ति
द- उपरोक्त में से कोई नहीं

अ✔
प्रश्न 5 वैदिक धर्म के विकासवाद की अवस्था है-
अ- एकवाद-बहुदेववाद-एकेश्वरवाद- एकाधिदैववाद
ब- बहुदेववाद-एकाधिदैववाद-एकेश्वरवाद-एकवाद
स- एकेश्वरवाद-एकवाद-बहुदेववाद
द- ईश्वरवाद-एकवाद-रहस्यवाद

ब✔
प्रश्न 6 वेदों में अद्वैत की भावना प्रतिपादित करने वाला सूत्र है-
अ- उपनिषद
ब- नासदीय सूक्त
स- आरण्यक
द- ब्राह्मण

ब✔
प्रश्न 7 ऋत कासंबंध किससे है-
अ ऋग्वेद से
ब- यजुर्वेद से
स- सामवेद से
द- अथर्ववेद से

अ✔
प्रश्न 8 ऋत सिद्धांत पूर्व मान्यता है –
अ- पुनर्जन्म सिद्धांत की
ब- कर्म सिद्धांत की
स- आत्मा की
द-  मोक्ष की

ब✔
प्रश्न 9 ऋत है-
अ- सत्य एवं व्यवस्था का मार्ग
ब- सत्य एवं धर्म का मार्ग
स- सत्य एवं सुख का मार्ग
द- सत्य एवं आनंद का मार्ग

अ✔
प्रश्न 10 वरुण को कहा गया है-
अ- सत्यव्रत
ब- धृतव्रत
स- कर्मव्रत
द- अनृतव्रत

ब✔
प्रश्न 11 ऋत का अर्थ है ?
अ- कारण सत्ता
ब- कार्य सत्ता
स- आत्म सत्ता
द- भौतिक सत्ता

अ✔
प्रश्न 12 भारतीय दर्शन के नास्तिक सम्प्रदाय है-
अ- चार्वाक,सांख्य और योग
ब- उपनिषद, मीमांसा और वेदान्त
स- चार्वाक, जैन और बौद्ध
द- न्याय, सांख्य और वेदान्त

स✔
प्रश्न 13 “एक परामर्श से वस्तु के एक ही धर्म का बोध होता है”  यह कथन निम्नलिखित में से किस दर्शन का है ?
अ- चार्वाक दर्शन
ब- जैन दर्शन
स- बौद्ध दर्शन
द- न्याय दर्शन

ब✔
प्रश्न 14 ऋण परिशोधन का संबंध था –
अ- गृहस्थाश्रम से
ब- ब्रह्मचार्याश्रम से
स- वानप्रस्थाश्रम से
द- सन्यास आश्रम से

अ✔
प्रश्न 15 गृहस्थों का प्रधान लक्ष्य क्या था ?
अ- पितृ ऋण से मुक्त होना
ब- ऋषि ऋण से मुक्त होना
स- मानव ऋण से मुक्त होना
द- देव ऋण से मुक्त होना

द✔
प्रश्न 16 वेद प्रवृतिमार्गी हैं जबकि उपनिषद् ……………है-
अ- निवृतिमार्गी
ब- ज्ञानमार्गी
स- भक्तमार्गी
द-  कर्ममार्गी

अ✔
प्रश्न 17 दान का संबंध है –
अ- देव ऋण से
ब- पितृ ऋण से
स- ऋषि ऋण से
द- वर्ण धर्म से

ब✔​

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.