01-07 APR 2017 CURRENT AFFAIRS

1. मुकेश ने जीता शूटिंग प्लेयर का खिताब
टोंक. कादरपुर गुडग़ांव दिल्ली में 28 मार्च से लेकर बुधवार तक चली राष्ट्रीय निशानेबाजी प्रतियोगिता के ‘300 मीटर बिग बोर प्रोन इवेंट में टोंक जिला पुलिस में कमाण्डो व माधोगंज निवासी मुकेश ने ख्याति प्राप्त शूटिंग प्लेयर का खिताब जीता है। उल्लेखनीय है कि निर्धारित स्कोर 6 00 में से 500 अंक प्राप्त करने पर भारतीय राइफल संघ की ओर से ये खिताब दिया जाता है।
खिताब जीतने के बाद मुकेश ने पत्रिका को बताया कि उन्होंने प्रतियोगिता के लिए राइफल किराए पर ली थी। इसी किराए की राइफल से उन्होंने 56 3 अंक प्राप्त किए। उन्होंने जीत का श्रेय कोच ओमप्रकाश को दिया। उन्होंने कहा कि वे मात्र कुछ अंकों से अन्तरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में शामिल होने से चूक गए। मुकेश कमाण्डो ’50 मीटर राइफल प्रोन पोजीशन में भी ख्याति प्राप्त निशानेबाज हैं।

2. आईवीआरसीएल कंपनी नहीं करेगी नर्मदा परियोजना के एफआर-डीआर कलस्टर का काम एफआर कलस्टर
267 गांव तक पहुंचना है नर्मदा का पानी
498 करोड़ का है यह प्रोजेक्ट
10 अक्टूबर 2016 को पूरा होना था काम
12 प्रतिशत ही हुआ है अभी प्रोजेक्ट पर काम
डीआर कलस्टर
138 गांव तक  पहुंचना है नर्मदा का पानी
255 करोड़ का है यह प्रोजेक्ट
10 अपे्रल 2016 को पूरा होना था यह काम
16 प्रतिशत ही हुआ है अभी प्रोजेक्ट पर काम

जालोर. जालोर और सांचौर शहर समेत 400 गांवों को नर्मदा परियोजना से शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए बने एफआर कलस्टर और डीआर कलस्टर प्रोजेक्ट पर काम कर रही कंपनी की ओर से लगातार बरती जा रही ढिलाई को   विभाग ने गंभीरता से लिया है  एफआर प्रोजेक्ट में जालोर मुख्यालय समेत 281 गांवों तक पानी पहुंचना था। जिसमें से जालोर शहर समेत 14 गांवों तक पानी पहुंचा है, जबकि  इस प्रोजेक्ट में 267 गांव नर्मदा परियोजना से वंचित है। दूसरी तरफ डीआर कलस्टर का काम भी निर्धारित समय में पूरा नहीं हो पाया है।

3. किसानों को मिलने वाला है  तोहफा, अब यह भी बनेंगे HIGH TECH
आरआईटीइएस लिमिटेड नई दिल्ली के आर्थिक सहयोग से वूमन चिल्ड्रन वेलफे यर एण्ड रूरल डेवलपमेन्ट सोसायटी किशनगढ़ की ओर से पांच ग्राम पंचायतों में किसानों को कम्प्यूटर शिक्षा एवं कृषि संबंधि जानकारी दी जा रही है।  संस्थान की सचिव डॉ. श्वेता लड्ढा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में कई लोग कृषि पर निर्भर हंै। इनका जीवीकोपार्जन भी कृषि है। संस्थान महिला एवं पुरुष दोनों को कम्प्यूटर शिक्षा के साथ-साथ सरकारी सुविधाओं की जानकारी प्रोजेक्टर के माध्यम से स्क्रीन पर दे रही है।
सभी कम्प्यूटर इन्टरनेट से जुडऩे पर किसान कृषि संबंधित जानकारी आसानी से ले सकेंगे। इंटरनेट के माध्यम से किसानों को खाद, बीज की खरीद के सही मूल्य की जानकारी भी हो सकेगी। किसानों में जागरुकता लाने के लिए कृषि पर्यवेक्षक एवं कृषि अधिकारी किसानों को उन्नत कृषि व बीज के बारे में जानकारी देंगे।
ग्राम पंचायत रलावता, कुचील, थल व पिगंलोद के ग्राम तित्यारी व ग्राम पंचायत खातौली के ग्राम चीताखेड़ा में कम्प्यूटर शिक्षा के लिए कॉडिनेटर लगाए गए हैं। जो किसानों को कम्प्यूटर शिक्षा के अलावा उनको आने वाली समस्याओं की जानकारी दे रहे हैं।


04. सनावड़ा के हवलदार हनुमानराम को राष्ट्रपति ने प्रदान किया शौर्य चक्र
थार के जाबांज हवलदार हनुमानराम चौधरी सनावड़ा को गुरुवार को राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शौर्य चक्र से नवाजा।  जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा में 23 जुलाई 2016 को हुए आतंकी हमले में 13 घंटे चली मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों को हनुमानराम ने मार गिराया था।
यह थी घटना
कुपवाड़ा के जंगलों में तीन खंूखार आतंकवादियों की खुफिया जानकारी पर राष्ट्रीय राईफल्स के 8 जवानों की टीम गश्त पर निकली। आतंकवादियों के गहरे गड्डे में होने से जवानों की गोलीबारी का उन पर कोई विशेष असर नहीं हो रहा था।
एेसे में शेष जवानों ने गोलीबारी जारी रखी एवं जाबांज हनुमानराम ने बहादुरी का परिचय देते हुए उस गड्डे के नजदीक पहुचंने में सफल हो गए एवं मौका पाते ही तीनों आतंकवादियों को वहीं ढेर कर दिया।

05. राजस्थान की  ‘मैरीकॉम’ से, कमाल की है इनकी बॉक्सिंग
गांव मीठवास की बेटी निधि ढाका बॉक्सिंग में कमाल कर रही है। जोरदार पंच मारकर नेशनल स्तर तक पहुंच चुकी है।17 वर्षीय निधि ने पहली बार चौथी कक्षा में पढ़ाई के दौरान स्कूल के स्पोर्टस मीट प्रतियोगिता में रेस व लंबी कूद में भाग लिया, जिसमें टॉपर रही थी। इसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा और खेलों में ही आगे बढ़ गई। आठवीं कक्षा तक व हर बार प्रथम स्थान पर आती रही। 10 वीं कक्षा में आई तो फिल्म ‘मैरीकॉमÓ देखकर बॉक्सर बनने की ठानी।
बेटी की रुचि देखकर पिता धर्मपाल व माता बबीता ने हौसला बढाया। स्पोर्टस किट लाकर दिया तो बेटी ने घर पर ही प्रशिक्षण शुरू कर दिया। 12वीं कक्षा में पहुंची तो इसका अजमेर में 24 दिसंबर 2016  को आयोजित राज्य स्तरीय जूनियर बॉक्सिंग प्रतियोगिता में चयन हुआ, जिसमें निधि ने टॉपर रहकर स्वर्ण पदक जीता। इसके बाद इसका नेशनल जूनियर बॉक्सिंग प्रतियोगिता के लिए चुनी गई। तब यह राजस्थान की ओर से एकमात्र खिलाड़ी थी। 16 जनवरी 2017 को उस प्रतियोगिता के क्वार्टर फाइनल तक पहुंची थी।


06. सीटीएई ने बनाई गाजर साफ करने की उन्नत तकनीक की मशीन
किसानों को कम कीमत में अच्छी तकनीक उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग (सीटीएई) ने गाजर साफ करने की उन्नत मशीन का निर्माण किया है जिससे किसानों के श्रम व समय की बचत के साथ ही उन्हें अच्छा मुनाफा मिल सकेगा। फार्म मशीनरी एवं शक्ति विभाग के शोध छात्र जयंत घाटगे ने विभाध्यक्ष डॉ. एसएम माथुर के निर्देशन में इसे तैयार किया। एमपीयूएटी कुलपति डॉ. उमाशंकर शर्मा ने बताया कि गाजर धुलाई एवं सफ ाई मशीन के क्षेत्र में यह नया कदम है।
भविष्य में विश्वविद्यालय के अन्तर्गत बन रही विभिन्न मशीनों को किसानों तक पहुंचाया जाएगा। इस मशीन से किसानों को गाजर धोकर समय पर मंडी में पहुंचाने में सुविधा होगी। परम्परागत तरीके से गाजर की सफ ाई में भारी मात्रा में पानी बर्बाद होता है एवं रेशे भी ढंग से नहीं निकलते है। 


07. [email protected] सम्मान समारोह कल (07.04.2017)
अपनी प्रतिभा और सेवा के प्रति समर्पण से शहर की आधी दुनिया ने विभिन्न क्षेत्रों में अलग मुकाम हासिल किया है, एेसी नारी शक्तियों का सम्मान प्लेटिनम  यूनिवर्सिटी की ओर से होने वाले समारोह में किया जाएगा। इसके लिए अब तक 600 से अधिक आवेदन यह साबित करता है कि झीलों की नगरी वाकई नारी शक्ति का गढ़ है। सम्मान के लिए चयनित महिलाओं को फोन पर सूचित किया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि 95 एफएम तड़का के साझे में यह सम्मान समारोह रविवार शाम 3 बजे सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय परिसर स्थित ऑडिटोरियम में होगा। इसमें बॉलीवुड अभिनेत्री मुग्धा गोडसे सहित  राष्ट्रीय महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष डॉ. गिरिजा व्यास, ब्रह्मकुमारी प्रजापिता विश्वविद्यालय, उदयपुर केंद्र की रीटा बहन तथा अरावली इंस्टीटयूट की डायरेक्टर डॉ. निशा दीक्षित भी शिरकत करेंगी। इस मौके पर साहित्य कला संगम की ओर से सूफियाना संगीत, नाट्यांश की ओर से नाटक, राजीव सूरती डांस फैक्ट्री की ओर से ग्रुप डांस तथा कला आश्रम की ओर से कथक नृत्य की आकर्षक प्रस्तुतियां होंगी।

08. प्रदेश में मानसिक स्वास्थ्य को प्राथमिकता देते हुये 37 करोड़ की लागत से बीकानेर एवं जयपुर में स्टेट एक्सीलेंस सेंटर‘ स्थापित होंगे
प्रदेश में मानसिक स्वास्थ्य को प्राथमिकता देते हुये 37 करोड़ की लागत से बीकानेर एवं जयपुर में स्टेट एक्सीलेंस सेंटर‘ स्थापित किये जा रहे हैं। साथ ही वृद्धजनों के मानसिक बीमारियां जैसे- डिमेंसिया आदि के प्रबंधन हेतु मानसिक रोग चिकित्सालय में जियरेट्रिक साइक्टि्रक केयर सेंटर भी प्रारंभ किये जा रहे हैं।
स्वास्थ्य सचिव एवं मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन श्री नवीन जैन ने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस वर्ष विश्व स्वास्थ्य दिवस की थीम ‘डिप्रेशन’ रखी है। उन्होंने बताया कि शारीरिक बीमारियों के साथ ही मानसिक एवं सामाजिक रूप से स्वस्थ होना भी बेहद जरूरी है। भागदौड़ व तनाव से भरी जिंदगी, सामाजिक रूप से अलग होना जैसे किसी न किसी कारण से बच्चे, किशोर, वयस्क, वृद्धजन सभी डिप्रेशन का शिकार हो रहे हैं
मिशन निदेशक ने बताया कि कार्यक्रम के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये जिला स्तर पर साईक्रेटिस्ट, क्लिनिकल साईक्लोजिस्ट, साईक्रेट्रिक नर्स, सोश्यल वर्कर, कम्युनिटी नर्स, मानिटरिंग व इवेल्युशन आफिसर के पद स्वीकृत किये जा चुके हैं। साथ ही चिकित्साकर्मियों, मानसिक स्वास्थ्य सेल के कार्मिकों एव एएनएम व आशाओं को भी प्रशिक्षित किया जा रहा है।


09. एस.सी.वर्ग केे विद्यार्थियों को विदेशी विश्वविद्यालयाें में पी.एच.डी. करने पर मिलेगी 25 लाख रूपये की वित्तीय सहायता राशि
राज्य के अनुसूचित जाति वर्ग के छात्रों को विदेशी विश्वविद्यालयों व शैक्षणिक संस्थानों से पी.एच.डी. स्तर पर अध्ययन के लिए आर्थिक सहायता देने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा ”अम्बेडकर अंतर्राष्ट्रीय छात्रवृत्ति“ योजना शुरू की गई है। प्रथम चरण में मानविकी एवं सामाजिक विज्ञान के क्षेत्र में 5 शोधकर्ताओं को प्रति छात्र 25 लाख रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के निदेशक श्री रवि जैन ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा डॉ. भीमराव अम्बेडकर की गत 125वीं जयन्ती के अवसर पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में की गयी घोषणा की अनुपालना में यह योजना शुरू की गयी। विदेशी विश्वविद्यालय में पी.एच.डी. में प्रवेश लेने पर तीन साल के लिए छात्रवृत्ति प्रदान की जायेगी। प्रथम एवं द्वितीय वर्ष में 10-10 लाख तथा तृतीय वर्ष में 5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जायेगी।


10. प्रदेश के हर शहर में बनेंगे बेटी गौरव गार्डन
प्रदेश के हर शहर में अब बेटियों के लिए बेटी गौरव गार्डन बनेंगे। ये भी छोटे नहीं, बल्कि 5 से 7 एकड़ के होंगे। इनमें देश का नाम रोशन करने वाली उन बेटियों के फोटो के साथ उनकी खूबियां और अन्य जानकारियां देने वाली गैलेरी भी होगी, जिससे अन्य बेटियां प्रेरणा ले सकें। इसी के जरिये बेटी बचाओ का संदेश भी दिया जाएगा।
इन गार्डन की शुरुआत फिलहाल विकास प्राधिकरण वाले तीन शहरों जयपुर, जोधपुर, अजमेर के अलावा यूआईटी वाले 15 शहरों से होगी। बाद में इन्हें सभी शहरों में बनाया जाएगा। राज्य सरकार ने इस दिशा में तेजी से काम शुरू कर दिया है। सरकार ने प्रदेश में मदर मिल्क बैंक की शुरुआत करने वाले योग गुरु देवेंद्र अग्रवाल को इस काम के लिए राज्य सलाहकार नियुक्त किया है। वे इसके लिए नि:शुल्क सेवाएं देंगे।

जिम, जॉगिंग ट्रैक योगा के साथ 23 सुविधाएं मिलेंगी
यूडीएच और श्री अग्रवाल की प्लानिंग के अनुसार इन गार्डन में 23 सुविधाएं विकसित की जाएंगी। इनमें हरियाली-फूलदार एरिया, लैंड स्केप पार्क, चिल्ड्रन पार्क, सीनियर सीटिजन पार्क, हर्बल पार्क, योगा गार्डन, फ्लावर गार्डन, लॉन, साइकल ट्रैक, जॉगिंग ट्रैक, ओपन जिम, बच्चों का प्ले एरिया, एक्युप्रेशर ट्रैक, पक्षियों को दाना डालने का स्थान, कैफेटेरिया, गेम जोन, कला दीर्घा, ओपन थिएटर, वाटर पोंड, लोटन मंगरी, खेल मैदान, पार्किंग और कॉमन यूटिलिटी विकसित की जाएगी।

ग्रीन स्पेस के साथ बेटियों का गौरव भी बढ़ेगा
बेटी गौरव गार्डन का उद्देश्य केवल बेटियों का गौरव बढ़ाना है, बल्कि शहरों में बढ़ते कंक्रीट के जंगलों को कम कर हरियाली को बढ़ावा देना भी है। घटते हरित क्षेत्र को बढ़ाने के लिए इन गार्डन का क्षेत्रफल न्यूनतम 5 एकड़ रखा जाएगा। यूडीएच के संयुक्त सचिव राजेंद्रसिंह शेखावत ने बताया कि शहरी निकायों को निर्देशित कर दिया है कि उनके क्षेत्र में बेटी गौरव गार्डन के लिए जमीन चयनित करें और उसका प्रस्ताव राज्य सलाहकार और विभाग को दें। इन गार्डन में खेलकूद के साथ मनोरंजन के साधन भी होंगे।

04.04.2017 

1.  नेशनल इंस्टीटयूट फ्रेम रैकिंग में पिछड़ गए इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट संस्थान
हमारे राज्य का इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट संस्थान भी एमएचआरडी की आेर से जारी की गई नेशनल इंस्टीटयूट रैकिंग फ्रेमवर्क की रैकिंग में ऊपरी  पायदान से गिर कर अब निचले पायदान में शामिल हो गए हैं।देश के नामी संस्थानों में शामिल राजस्थान उदयपुर का आईआईएम और जोधपुर का आईआईटी भी एमएचआरडी की टॉप100  नेशनल रैकिंग में अपने पढ़ाई व प्लेसमेंट के स्तर में गिरावट के कारण रैकिंग में भी काफी गिर गए हैं। गत वर्ष 2016  में टॉप फाईव में शामिल उदयपुर का आईआईएम संस्थान इस बार साल 2017 की रैकिंग में टॉप 10  में भी जगह नहीं बना सका और रैकिंग में गिरावट के साथ ही एमएचआरडी की रैकिंग में 15  वें स्थान पर आ गया।
यही हालात इंजीनियरिंग संस्थानों के भी रहे जो भी एमएचआरडी की नेशनल फ्रेम रैकिंग में निचले पायदान पर आ गए। गत वर्ष 25 वें स्थान पर जगह बनाने वाले जोधपुर का आईआईटी संस्थान इस बार रैकिंग में गिरकर 65 वें स्थान पर आ गया और इसके अलावा इंजीनियरिंग संस्थान में जयपुर का एमएनआईटी की रैंकिंग में भी जोरदार गिरावट आई। गत वर्ष 2016 में 37  वें पायदान पर शामिल एमएनआईटी भी गिरकर इस बार 70  वें पायदान पर आ पहुंचा। यही नहीं राजस्थान का एक भी डिग्री कॉलेज तो इस सूची के टॉप 100 संस्थानें में शामिल ही नहीं हैं। जिससे राज्य के उच्च शिक्षा के हालातों पर सवालियां निशान खड़े हो गए हैं। डिग्री कॉलेज ही नहीं बल्कि लाखो रूपए मोटी फीस चुका कर मैनेजमेंट और इंजीनियरिंग जैसी प्रोफेशनल कोर्स की पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों को उनके संस्थानों की हकीकत का अंदाजा लग गया हैं।


02.  शिमला की तर्ज पर गोरमघाट की पहाडि़यों में दौड़ेगी टॉय ट्रेन
पाली. अरावली की पहाडि़यों में स्थित गोरमघाट व इस घाटी में स्थित सर्पिलेकार ट्रेक से गुजरने वाली ट्रेन आने वाले समय में अलग अंदाज में नजर आएगी। इस मीटर गेज लाइन पर शिमला की तर्ज पर टॉय ट्रेन दौड़ाने की तैयारी की जा रही है। इतना ही नहीं, इस पूरी रेलवे लाइन पर पर्यटकों को लुभाने के लिए वन विभाग व पर्यटन विभाग की ओर से कई आकर्षक स्थान भी तैयार किए जाएंगे।
इस मीटर गेज रेलवे लाइन को आकर्षक बनाने के लिए राजसमंद सांसद हरिओमसिंह के नेतृत्व में एक प्रोजेक्ट तैयार किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट में रेलवे, वन विभाग व पर्यटन विभाग की अहम भूमिका रहेगी। जल्द ही तीनों विभागों द्वारा इस प्रोजेक्ट को अंतिम रूप दे दिया जाएगा। इसके बाद इसे स्वीकृति के लिए सरकार के सामने रखा जाएगा।
जानकारों की मानें तो मारवाड़ जंक्शन – मावली के बीच आमान परिवर्तन के तहत मेवाड़ व मारवाड़ को जोडऩे के लिए नई ब्रॉडगेज लाइन को बिछाया जा रहा है। इस ब्रॉड गेज लाइन का नक्शा भी तैयार कर दिया गया है।
इस नक्शे के अनुसार ब्रॉडगेज लाइन में गोरमघाट की रेलवे लाइन को शामिल नहीं किया गया है। ब्रॉडगेज लाइन बनने के बाद भी गोरम घाट की रेलवे लाइन के महत्व को बरकरार रखने के लिए सांसद व विभागों द्वारा इस प्रोजेक्ट की रूपरेखा तैयार की जा रही है।
रेल मंत्री से की मुलाकात
– गोरम घाट की रेलवे लाइन को विकसित करने के लिए रेल मंत्री सुरेश प्रभु से मुलाकात की है। साथ ही इस प्रोजेक्ट को तैयार करने के लिए रेलवे, वन विभाग व पर्यटन विभाग को शामिल किया गया है। इससे स्थानीय लोगों को काफी फायदा होगा।

03.04.2017

1. सीमा सुरक्षा बल के इतिहास में पहली महिला अधिकारी तुनश्री
सीमा सुरक्षा बल के इतिहास में पहली महिला अधिकारी के रूप में नियुक्त हुई अस्सिटेंट कमाण्डर बीकानेर की लाड़ली तनुश्री पारीक का शहर की 77 संस्थाओं ने नागरिक अभिनंदन किया।  आयोजन से जुड़े डॉ. चन्द्रशेखर श्रीमाली ने बताया कि होटल राजमहल में आयोजित समारोह में विभिन्न संस्थाओं से जुड़े सदस्यों के साथ चिकित्सा, शिक्षा, समाज, साहित्य एवं राजनीति से जुड़े हुए शहर के प्रबुद्वजनों ने बीकानेर की लाडली को शुभकामनाएं और आर्शीवाद दिया।
तनुश्री पारीक ने अपनी ट्रेनिंग के संस्मरण साझा करते हुए बताया कि उसके लिए यह बिल्कुल नया अनुभव रहा। तनुश्री के अभिनंदन समारोह के प्रारंभ डॉ. दिग्गविजय सिंह, विजय कोचर, डॉ. नरेश गोयल, डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, जेठानंद व्यास तथा डॉ. विमला ठुकवाल ने शॉल, श्री फल, साफा, माला तथा अभिनंदन पत्र भेंट कर सम्मानित किया।        


02. पाबूजी के शौर्य और बलिदान से रूबरू करवाएगा पेनोरमा
साम्प्रदायिक सौहार्द के प्रतीक एवं जीवमात्र की रक्षा करने वाले मध्यकालीन लोकदेवता पाबूजी के शौर्य और बलिदान की गाथा से श्रद्धालुओं को वाकिफ करने व उनकी स्मृतियों के संरक्षण के लिए कोलू पाबूजी गांव की पवित्र धरा पर पेनोरमा निर्माण शुरू है।
राजस्थान धरोहर संरक्षण एवं प्रोन्नति प्राधिकरण द्वारा करीब 5 करोड़ की राशि पाबूजी का पेनोरमा निर्माण के लिए स्वीकृत की थी तथा प्रशासन द्वारा मेगा हाइवे पर मंदिर के पास 5 बीघा जमीन आवंटित की गई। 9 साल बाद मूर्त रूप लेने लगा पेनोरमा
राजस्थान धरोहर संरक्षण एवं प्रोन्नति प्राधिकरण ने गायों की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले लोकदेवता पाबूजी के जीवन आदर्शों के प्रचार प्रसार के लिए कोलू पाबूजी गंाव में पेनोरमा निर्माण के लिए खसरा नं. 405 में 5 बीघा जमीन कला एवं संस्कृति विभाग के पक्ष में आवंटित करने का प्रस्ताव तैयार किया था।

पेनोरमा में सजेगी बलिदान की गाथा
यह पेनोरमा एक प्रकार का संग्रहालय होगा। इसमें पाबूजी के बलिदान व शौर्य से जुड़ी पेंटिंग, फोटो, फिल्म, कलाकृतियां व विभिन्न ऐतिहासिक सामग्री आकर्षक अंदाज में प्रदर्शित होगी। इससे श्रद्धालु व पर्यटक पाबूजी के जीवन आदर्श, शौर्य व बलिदान से रूबरू हो सकेंगे
पशुओं के लिए मांगी जाती है मन्नतें
मध्यकालीन लोकदेवता पाबूजी जिन्होंने गौवंश की रक्षार्थ अपने प्राणों का बलिदान दे दिया था। फलोदी उपखण्ड के कोलू पाबूजी गांव की पवित्र धरा उनके बलिदान की गवाह है। लोग बताते है कि फलोदी-खीचन के रण में हुए संघर्ष में पाबूजी वीरगति को प्राप्त हो गए थे।
आकर्षण का केन्द्र है पाबूजी की फड़
फड़ एक प्रकार का पोर्टेबल एवं मोबाइल मंदिर है। फड़ में करीब 20 से 25 फीट लंबे व 5 फीट चौड़े कपड़े से बने कैनवास पर रंग बिरंगी पेंटिंग के माध्यम से लोक देवता पाबूजी के जन्म से लेकर बलिदान तक की शौर्य गाथा को संजोया गया है।
पाबूजी की फड़ शाहपुरा व भीलवाड़ा में कुशलतापूर्वक बनाई जाती है। भोपा लोग इस फड़ को गांव-गांव तक ले जाकर इसका प्रदर्शन करके गायन व वाचन करते हैं।

03. बनास में लगेगी जल बचत की आधुनिक तकनीक
वेस्ट बनास बांध में जल्द ही जल बचत की आधुनिक तकनीक लगाई जाएगी। जिले के इस सबसे बड़े बांध की नहरों के जीर्णोद्धार एवं माइक्रो इरिगेशन पर भी काम होगा। इसके लिए राज्य सरकार ने राजस्थान जल क्षेत्र आजीविका सुधार परियोजना के तहत जापान के साथ करार किया है। इसके तहत राज्य की 137 सिंचाई परियोजनाओं पर काम किया जाएगा। इसमें वेस्ट बनास बांध भी शामिल है। बांध एवं नहरों के सुधारीकरण व जीर्णोद्धार के लिए डीपीआर तैयार की गयी है। इस पर 24.21 करोड़ रुपए खर्च करना प्रस्तावित है। परियोजना से सिंचित क्षेत्रफल में वृद्धि, कम पानी में ज्यादा पैदावार तथा अंतिम छोर पर पर्याप्त पानी की उपलब्धता रहेगी।
जापान से किया करार
बांधों व नहरों के जीर्णोद्धार के लिए 2606.20 करोड़ रुपए की वित्तीय सहायता के लिए जापान से करार किया गया है। करार के तहत राज्य में कुल 137 परियोजनाओं में काम होगा। इसमें 92 लघु, 42 मध्यम एवं 3 वृहद सिंचाई परियोजनाएं शामिल हैं। प्रथम चरण में कार्य पूर्ण करने की अवधि चार वर्ष निर्धारित की गई है।
4. बाजरे के उत्पादन में राजस्थान देश में प्रथम
बाजरे के उत्पादन में राजस्थान देश में प्रथम, देश के कुल बाजरा उत्पादन का एक तिहाई उत्पादन राजस्थान में
05. मलेशिया के प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे के आर्थिक सुधारों कोे सराहा
मलेशिया के प्रधानमंत्री दातो’ श्री मोहम्मद नजीब बिन तुन अब्दुल रजाक ने कहा है कि विश्व आर्थिक पटल पर राजस्थान की मजबूत आर्थिक क्षेत्र के रूप में पहचान है। उन्होंने वर्ष 2015-16 में राज्य की 12.38 प्रतिशत आर्थिक विकास दर को रेखांकित करते हुए कहा कि ऎसा मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे द्वारा शुरू किए गए आर्थिक सुधारों के परिणामस्वरूप सम्भव हुआ। उन्होंने कहा कि इसी के चलते वैश्विक आर्थिक अस्थिरता के दौर में भी राजस्थान एक बिजनेस फ्रेंडली राज्य के रूप में उभरा है।
श्री अब्दुल रजाक रविवार को जयपुर के एसएमएस कन्वेंशन सेन्टर में राजस्थान में मलेशियाई कम्पनियों की ओर से निवेश की सम्भावनाओं पर एक उच्च स्तरीय बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने प्रदेश को मलेशिया का स्वाभाविक भागीदार बताया और कहा कि राजस्थान अवसरों एवं सम्भावनाओं का प्रदेश है। मलेशियाई निवेशकों की पर्यटन सहित विभिन्न क्षेत्रों में दिलचस्पी है। उन्होंने कहा कि निर्माण तथा सड़क मार्गों सहित आधारभूत ढांचे के विकास में मलेशियाई कम्पनियों को विशेष अनुभव हासिल है।

01-02-APR 2017

1. राज्य को मिला कंज्यूमर फ्रेंडली स्टेट अवार्ड मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को सौंपा
मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से खाद्य विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने मुलाकात की। इस दौरान राजस्थान को पिछले दिनों मिले कंज्यूमर फ्रेंडली स्टेट अवार्ड को अग्रवाल ने मुख्यमंत्री को सौंपा।  उपभोक्ता दिवस पर भारत सरकार के उपभोक्ता मामलात, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने राजस्थान को कंज्यूमर फ्रेंडली अवार्ड प्रदान किया था।
केन्द्रीय उपभोक्ता मामलात, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान से राजस्थान सरकार के उपभोक्ता मामले विभाग के निदेशक एवं अतिरिक्त खाद्य आयुक्त कैलाश चन्द मीना ने यह अवार्ड प्राप्त किया था।

02. सरकारी स्कूलों में लगेंगी मोटिवेशन क्लास, संस्कार सभाएं भी होंगी
प्रदेश के शिक्षा विभाग में नया सत्र नया परिवर्तन लेकर आएगा। इस सत्र में एक साथ अनेक ऐसी नई योजनाएं लागू होगी, जो पहली बार शुरू की जा रही है। इसमें डिजिटल तकनीकी का प्रयोग करते हुए विभाग को नया रूप दिया जाएगा। यहीं नहीं योजनाओं के अलावा भी कई ऐसे परिवर्तन हैं जो विद्यार्थियों के लिए बेहद उपयोगी रहेंगे। सरकारी स्कूलों में नया सत्र 1 मई से शुरू होगा। शिक्षामंत्री वासुदेव देवनानी ने बताया कि नया सत्र सरकारी स्कूलों में नयापन लाएगा और लागू होने वाली योजनाओं से विद्यार्थियों को फायदा होगा। इससे ना केवल नामांकन में बढ़ोतरी होगी। बल्कि इस प्रकार रहे बदलावों से राजस्थान शिक्षा के क्षेत्र में देश के अग्रणी राज्यों में शामिल हो सकेगा।
स्कूलों में विद्यार्थियों को मोटिवेट करने के लिए पहली बार ‘पं. दीनदयाल उपाध्याय प्रेरक उद्बोधन’ श्रृंखला शुरू की जाएगी। इसके तहत क्षेत्र विशेष में सफलता के शीर्ष पर पहुंचे विशिष्ट व्यक्तियों के स्कूलों में व्याख्यान करवाए जाएंगे। राजकीय विद्यालयों में माह के अंतिम शनिवार को शिक्षक विद्यार्थियों द्वारा एक कालांश के स्वैच्छिक श्रमदान किया जाएगा। माह के द्वितीय शनिवार को रचनात्मक एवं सृजनात्मक क्षमता को प्रोत्साहन करने के लिए संस्कार सभाएं आयोजित की जाएगी।

03. जयपुर में खुलेगा बोर्ड का आधुनिक स्टूडियो
माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के जयपुर में शिक्षा संकुल स्थित कार्यालय में आधुनिक सूचना प्रौद्योगि की संपन्न स्टूडियो का निर्माण किया जाएगा। इससे शिक्षा विभाग के अधिकारी सीधे स्कूलों में वीसी कर सकेंगे।
बोर्ड का एफीलिएशन भी ऑनलाइन निजी स्कूलों की मान्यता का सिस्टम ऑनलाइन करने के बाद अब नए सत्र से राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का एफीलिएशन भी ऑनलाइन ही मिलेगा। इस योजना से निजी स्कूलों को अजमेर कार्यालय के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे।

04. प्रधानमंत्री आवासीय योजना के तहत गरीबों को आवास देने में राजस्थान दूसरे स्थान पर
प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शहरी क्षेत्रों में गरीबों को सस्ते आवास मुहैया करवाने में देशभर में राजस्थान दूसरे नंबर पर है।  पूरे देशभर में निर्मित किये गए मकानों का 32 प्रतिशत आवास अकेले गुजरात में निर्मित किये गए हैं। इसमें अहमदाबाद में 10,183 निर्मित मकानों के साथ सभी शहरों में सबसे आगे जयपुर में 7434, बंगलुरू में 3428, गया में 1334, चैन्नई में 1279, विशाखापत्तनम में 1094, और रायबरेली में 802 मकानों का निर्माण किया गया है।
केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने योजना की क्रियान्विति को लेकर राज्यों की स्थिति स्पष्ट की है। 25 जून,2015 से शुरू हुई प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गरीबों के लिए किफायती मकानों के निर्माण के मामले में गुजरात में अब तक 25 हज़ार 873 मकानों का निर्माण किया गया है, जो योजना के तहत तीस राज्यों एवं केंद्रशाशित प्रदेशों में अब तक निर्मित किये गए इस तरह के कुल आवासों का 32 फ़ीसदी है।
गुजरात के बाद राजस्थान का दूसरा नंबर है। राजस्थान में अब तक इस तरह के 10 हज़ार 805 मकान निर्मित किये गए हैं, जो कुल मकानों का 13.17 फ़ीसदी है।   

        


05. 2606 करोड़ से ज़िलों के बाँध और नहरों का होगा जीर्णोद्धार
राजस्थान में जल क्षेत्र आजीविका सुधार परियोजना के माध्यम से 25 ज़िलों के 137 बांधों एवं उनकी नहरों का जीर्णोद्धार अब शीघ्र शुरू होगा। इसमें 25 ज़िलों की 92 लघु सिंचाई परियोजनाएं, 42 मध्यम सिंचाई परियोजनाएं तथा 3 वृहद सिंचाई परियोजनाएं शामिल हैं। इस परियोजना से 4.68 लाख हेक्टेयर सिंचित क्षेत्र लाभान्वित होगा। साथ ही परियोजना के तहत किसानों का क्षमता वर्द्धन किया जायेगा एवं प्रशिक्षण भी प्रदान किया जायेगा।
06. ग्रामीण क्षेत्र में प्रदेश का पहला प्रधानमंत्री कौशल विकास केन्द्र मण्डावर में खुला
दौसा. मण्डावर. देश में शिक्षित बेरोजगारों को प्रशिक्षण देकर रोजगार मुहैया कराने के लिए उद्देश्य से केन्द्र सरकार की ओर से खोले गए देश के नए 31 प्रधानमंत्री कौशल विकास केन्द्रों का उद्घाटन रविवार को राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने इंटरनेट के माध्यम से किया। इन केन्द्रों में शामिल प्रदेश के तीन कौशल विकास केन्द्रों में से एक जिले के मण्डावर कस्बे के सरावली मोड़ पर भी खोला गया है।
इस दौरान आयोजित समारोह में सांसद हरीश मीना ने कहा कि मण्डावर में खोला गया प्रधानमंत्री कौशल विकास केन्द्र ग्रामीण क्षेत्रों में खुलने वाला प्रदेश का पहला केन्द्र है। अब तक सभी केन्द्र शहरी क्षेत्रों में खोले गए थे। इससे ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को सरकार की इस योजना का पूरा लाभ नहीं मिल पा रहा था। ऐसे में उन्होंने जिले के मण्डावर कस्बे में ही यह केन्द्र खोलने की सिफारिश की थी।
उन्होंने बताया कि केन्द्र में शुरुआत में पांच कोर्स संचालित किए जाएंगे। इसके लिए 1500 बेरोजगार युवाओं को चयन किया जाएगा। केन्द्र में कार्यरत प्रशिक्षक प्रतिदिन 8 घंटे का प्रशिक्षण देंगे। प्रशिक्षण के बाद परीक्षा आयोजित की जाएगी। जिसके आधार पर गेडिंग निर्धारित होगी। ग्रेडिंग के आधार पर सरकार प्रशिक्षणार्थियों को रोजगार मुहैया कराएगी।
कौशल विकास केन्द्र संचालित करने के पीछे केन्द्र सरकार को मुख्य उद्देश्य देश से बेरोजगारी को पूरी तरह खत्म करना है। केन्द्रों को पूरा खर्च केन्द्र सरकार वहन करेगी।
प्रशिक्षण के लिए निर्धारित की योग्यता
उद्घाटन समारोह के बाद दौसा सर्किट हाउस पहुंचे सांसद ने कहा कि केन्द्र सरकार ने शिक्षित बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराने के लिए प्रशिक्षण में योग्यता का भी निर्धारण किया है।
उन्होंने बताया कि कक्षा 10 उत्र्तीण व 18 से 35 वर्ष की आयु वर्ग के युवा केन्द्र में संचालित पांच ट्रेड में प्रशिक्षण प्राप्त कर सकेंगे। प्रशिक्षण के बाद उन्हें आवश्यक रूप से रोजगार मुहैया कराया जाएगा। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष सत्यनारायण शाहरा, एडवोकेट राजेश शर्मा, पार्षद इन्द्र मीना, जितेन्द्र तिवाड़ी, आलोक जैन आदि मौजूद थे।

07. नाथ संप्रदाय के संत मोहननाथ का निधन, बैंडबाजों से निकाली महाप्रयाण यात्रा
नाथ सम्प्रदाय के संत मोहन नाथ रावल (शिव टेकरी बदनोर) का शुक्रवार शाम निधन हो गया था । शनिवार को शिव टेकरी स्थित आश्रम से बैंडबाजों के साथ उनकी महाप्रयाण यात्रा निकाली गई। बाद में आश्रम में उनकी पार्थिक देह को समाधिस्थ किया गया। इस मौके पर कस्बे सहित राज्यभर के उनके अनुयायायियों ने भाग लिया।
शिव टेकरी के पास पैर फिसलने से मोहननाथ नीचे गिर गए थे, जिससे मौके पर ही उनकी मृत्यु हो गई। वे 82 वर्ष के थे। शिव टेकरी स्थित आश्रम से उनकी पार्थिक देह को बैकुंठी में सजाकर महाप्रयाण यात्रा निकाली गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.