Bhaktikal Question 12 ( हिंदी साहित्य का इतिहास-भक्तिकाल )

Bhaktikal Question 12

( हिंदी साहित्य का इतिहास-भक्तिकाल )

 

प्रश्न=1-आचार्य शुक्ल जी ने भक्तिकाल की समय सीमा क्या मानी है ?
अ) सं. 1050 – 1375
ब) सं. 1375 – 1700 वि.✔
स) 1350 ई . 1650 ई.
द) इनमें से कोई नहीं

प्रश्न=2-आचार्य शुक्ल ने भक्ति आंदोलन के उदय का कौन सा प्रमुख कारण इनमें से माना है?
अ) ईसाई धर्म का प्रभाव
ब) हिन्दुओं की पराजित मनोवृत्ति ✔
स) गीता का भक्तियोग
द) इनमें से कोई नहीं

प्रश्न=3-आलवार भक्त मूलतः किसको कहा जाता है?
अ) वैष्णवों ✔
ब) शैवों
स) शाक्तों
द) सिद्धों

प्रश्न=4-‘ दिव्य प्रबन्धम ‘ किसके पदों का संकलन है?
अ) नयनार भक्त
ब) रामानन्द
स) आलवार भक्त ✔
द) रामानुजाचार्य

प्रश्न=5-आलवार भक्तों के पद किस भाषा में है ?
अ) तेलगु
ब) तमिल ✔
स) हिन्दी
द) कन्नड

प्रश्न=6-‘ नृसिंह ‘ को ईश्वर काअवतार मानने वाले आचार्य कौन थे ?
अ) रामानुजाचार्य
ब) विष्णु स्वामी ✔
स) निम्बकाचार्य
द) नामदेव

प्रश्न=7-पुष्टिमार्ग का सम्बन्ध किस दार्शनिक मत से है ?
अ) अद्वैतवाद
ब) द्वैतवाद
स) शुद्धाद्वैतवाद ✔
द) विशिष्टाद्वैतवाद

प्रश्न=-8-नाथ पंथ एवं संत काव्य के बीच की कड़ी किस सम्प्रदाय को माना जाता है ?
अ) सिद्ध सम्प्रदाय
ब) गोरख सम्प्रदाय
स) कबीर पन्थ
द) निरंजनी सम्प्रदाय ✔

प्रश्न=9-शाक्त धर्म की दो प्रमुख धाराएँ है ?
अ) सगुण व निर्गुण
ब) ज्ञानमार्गी व प्रेममार्गी
स) दक्षिणमार्गी व वाममार्गी ✔
द) रामभक्ति व कृष्णभक्ति

प्रश्न=10- भक्तिकालीन समस्त भक्ति धाराएँ थी ?
अ) शास्त्रोन्मुखी
ब) लोकोन्मुखी ✔
स) दर्शनोन्मुखी
द) पुराणोन्मुखी

11. गोरखनाथ एंड द कन फट्टा योगीज के लेखक हैं-

(अ) ब्रिग्ज ✔
(ब)मेकालिक
(स) मेकनिकाल
(द) फर्कुहर

12. सिद्धों का प्रादुर्भाव लगभग हुआ
(अ) सातवीं शताब्दी मे
(ब) आठवीं शताब्दी मे✔
(स) नोवीं शताब्दी मे
(द) दशवीं शताब्दी मे

13. भूसुकपा के गुरु थे
(अ)राहुल व्रज
(ब) लुईपा
(स)विरूपा
(द)मंजुवज्र✔

14. सिद्ध साहित्य की भाषा है
(अ)मध्यदेशीय प्राकृत
(ब)शौरसैन प्राकृत
(स)अर्द्धमागधी अपभ्रंश✔
(द)ब्राचड़ अपभ्रंश

 

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

बाबूलाल जी प्रजापति जयपुर, ममता कुमावत, लोकेश स्वामी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *