Gurjar Pratihar Vansh Questions

Gurjar Pratihar Vansh Questions

गुर्जर प्रतिहार वंश

प्रश्न-1. चीनी यात्री हेनसांग ने गुर्जरों की राजधानी का नाम बताया था
(अ)-पीलोमोलो ✅
(ब)-फो-क्यो-की
(स)-सी-यू-की
(द)-कू-चे-लो

पीलोमोलो(चीनी यात्री हेनसांग में अपने वर्णन में 72 देशों का उल्लेख किया है जब वह भीनमाल आया तो उसने 72 देशों में से एक कू-चे-लो( गुर्जर) बताया तथा उनकी राजधानी का नाम पीलोमोलो/भीलामाला (भीनमाल) बताया

प्रश्न-2. प्रतिहार राजा नागभट्ट प्रथम की राजधानी कौन सी नगरी थी
(अ)- जालौर
(ब)- उज्जैन ✅
(स)- मेड़ता
(द)- इनमें से कोई नहीं

उज्जैन( नागभट्ट प्रथम (730 से 760) अवंती (उज्जैन) के गुर्जर प्रतिहार वंश का संस्थापक था कुवलयमाला और अन्य ऐतिहासिक साधनों के आधार पर डॉक्टर दशरथ शर्मा नागभट्ट की राजधानी जालौर मानते हैं और दूसरे मत उज्जैन और कन्नौज को मानते हैं

प्रश्न-3. मनोज नैंसी ने गुर्जर प्रतिहारों की कितनी शाखाओं का वर्णन किया है
(अ)- 26 शाखाओं का ✅
(ब)- 28 आशाओं का
(स)- 30 शाखाओं का
(द)- 32 शाखाओं का

प्रश्न-4. राज्य के मारवाड़ क्षेत्र में गुर्जर प्रतिहारों का शासन मुख्यता किस अवधि में रहा
(अ)- पांचवी से आठवीं सदी तक
(ब)- आठवीं से दसवीं सदी तक ✅
(स)- छठी से दसवीं सदी तक
(द)- आठवीं से बारहवीं सदी तक

आठवीं से दसवीं सदी तक( उत्तरी पश्चिमी भारत में गुर्जर प्रतिहार वंश का शासन मुख्यतः आठवीं से दसवीं सदी तक रहा प्रारंभ में इनकी शक्ति का मुख्य केंद्र मारवाड़ था उसमें राजपूताना का यह क्षेत्र गुर्जरात्रा (गुर्जर प्रदेश) कहलाता था गुर्जर क्षेत्र के स्वामी होने के कारण प्रतिहारों को गुर्जर प्रतिहार कहा जाने लगा

प्रश्न-5. राजस्थान में गुर्जर प्रतिहारों की प्रारंभिक राजधानी कौन सी थी
(अ)- वागड़
(ब)- मंडोर ✅
(स)- भीनमाल
(द)- सपादलक्ष

प्रश्न-6. निम्न में से किस प्रत्याशी शासक ने कन्नौज पर सौ वर्ष तक चले त्रिपक्षीय युद्ध में पाल वंश के शासक को हटाकर इस युद्ध का अंत किया??
(अ)- मिहिर भोज
(ब)- नागभट्ट प्रथम
(स)- नागभट्ट द्वितीय ✅
(द)- वत्सराज

नागभट्ट द्वितीय( वत्सराज का उत्तराधिकारी उसका पुत्र नागभट्ट द्वितीय वर्ष 815 में गद्दी पर बैठा उसने 816 में कन्नौज पर आक्रमण का चक्रायुद्ध (धर्मपाल द्वारा नामजद शासक )को पराजित किया और कन्नौज को प्रतिहार वंश की राजधानी बनाया तथा 100 वर्षों से चले आ रहे त्रिपक्षीय संघर्ष को समाप्त किया

प्रश्न-7. किस प्रतिहार शासक के काल में उत्तरी भारत में प्रतिहारों की शक्ति अपने चरमोत्कर्ष पर पहुंच गई थी
(अ)- महेंद्रपाल प्रथम
(ब)- मिहिर भोज ✅
(स)- वत्सराज प्रथम
(द)- रामभद्र

मिहिर भोज(रामभद्र के उत्तराधिकारी मिहिरभोज या मिहिर के शासनकाल(836-885) में प्रतिहारों की शक्ति अपने चरमोत्कर्ष पर पहुंची उसने बुंदेलखंड तक अपने वंश का राज्य पुनः स्थापित किया इस का शासन पूर्वी पंजाब अधिकांश राजपूताना उत्तर प्रदेश का अधिकांश भाग मालवा सौराष्ट्र और ग्वालियर तक विस्तृत हो गया था

प्रश्न-8. किस प्रतिहार शासक के दरबार में कर्पूर मंजरी और काव्य मीमांसा का लेखक राजशेखर था
(अ)- महेंद्रपाल प्रथम ✅
(ब)- नागभट्ट द्वितीय
(स)- वत्सराज द्वितीय
(द)- मिहिरभोज

महेंद्रपाल प्रथम ( मिहिर भोज का पुत्र महेंद्रपाल प्रथम (885 से 910 )विद्वानों का उदार संरक्षक था उस के दरबारी साहित्यकार राजशेखर कर्पूरमंजरी काव्य मीमांसा बाल रामायण बाल भारती आदि ग्रंथों की रचना की थी उसने अपने ग्रंथों में महेंद्र पाल को निर्भय नरेश कहां है

प्रश्न-9. ओसिया के प्रसिद्ध महावीर मंदिर का निर्माण किस प्रतिहार शासक के काल में हुआ था
(अ)- वत्सराज 775 से 800 ईसवी ✅
(ब)- नागभट्ट 800 से 833 ईसवी
(स)- मिहिर भोज 836 से 850 ईसवी
(द)- महेंद्रपाल प्रथम 885 से 910 ईसवी

प्रश्न-10. किस ने अपने ग्रंथ विद्वशालभंजिका में गुर्जर प्रतिहार नरेश महेंद्र पाल को रघुकुल तिलक और रघुकुल चूड़ामणि तथा महिपाल प्रथम को रघुवंश मुकुटमणि और रघुकुल मुक्ता मणि कहा है??
(अ)- मुहणोत नैणसी
(ब)- राजशेखर ✅
(स)- गौरीशंकर हीराचंद ओझा
(द)- कर्नल जेम्स टॉड

प्रश्न-11. इतिहासकार आर सी मजूमदार के अनुसार गुर्जर प्रतिहारों ने कितनी शताब्दी तक अरब आक्रमण कारियो के लिए बाधक का काम किया??
(अ)- दूसरी शताब्दी से चौथी शताब्दी तक
(ब)- तीसरी शताब्दी से पांचवी शताब्दी तक
(स)- छठी शताब्दी से बारहवीं शताब्दी तक ✅
(द)- 12 वीं शताब्दी से 15वीं शताब्दी तक

छठी शताब्दी से बारहवीं शताब्दी तक(प्राचीन भारतीय इतिहास में गुर्जर प्रतिहार वंश का बड़ा महत्व है हर्ष की मृत्यु के पश्चात उत्तरी भारत की जो राजनीति एकता छिन्न-भिन्न हो गई थी उसे पुनः स्थापित करने के लिए इस वंश ने सफल प्रयत्न किया इस वंश के प्रतापी नरेशो ने उत्तरी भारत में उसका विस्तार नहीं होने दिया प्रसिद्ध इतिहासकार आर सी मजूमदार के अनुसार गुर्जर प्रतिहारों ने छठी शताब्दी से बारहवीं शताब्दी तक अरब आक्रमण कार्यो के लिए बाधक का काम किया

12- राजस्थान में गुर्जर प्रतिहारो की 26 शाखाओं में से दो प्रमुख शाखाएं हैं?
【अ】 मंडोर शाखा एवं भीनमाल शाखा ✅
【ब】 भीनमाल शाखा एवं कन्नौज शाखा
【स】 मंडोर शाखा एवं कन्नौज शाखा
【द】 उपरोक्त में से कोई नहीं

13- राजस्थान में गुर्जर प्रतिहार ओं की प्रारंभिक राजधानी थी?
【अ】गुर्जरात्रा
【ब】 मंडोर ✅
【स】 मेड़ता
【द】 कन्नौज

14- किस गुर्जर प्रतिहार शासक ने आदि वराह की उपाधि धारण की?
【अ】 मिहिर भोज ✅
【ब】 देवराज
【स】 रामभद्र
【द】 नागभट्ट द्वितीय

15- किस प्रतिहार शासक ने जल समाधि ले ली थी?
【अ】 वत्सराज
【ब】 नागभट्ट द्वितीय ✅
【स】 महिपाल
【द】 नागभट्ट प्रथम

प्रश्न=5- किस शासक ने अपनी राजधानी मंडोर के स्थान पर भीनमाल बनाई?
【अ】 वत्सराज प्रथम
【ब】 नागभट्ट द्वितीय
【स】नागभट्ट प्रथम✅
【द】 मिहिर भोज

16- मुहँणोत नैणसी ने पतिहारों की कितनी शाखाओं का उल्लेख किया है?
【अ】 27
【ब】 28
【स】 26 ✅
【द】 25

17- चीनी यात्री युवानच्वांग ने गुर्जर राज्य की राजधानी का नाम क्या बताया है?
【अ】 पीलो मोलो
【ब】 बाड़मेर
【स】 उदयपुर
【द】 अ व ब दोनों ✅

18. किस अभिलेख में सर्वप्रथम गुर्जर जाति का उल्लेख मिलता है ?
अ) ऐहोल ✅
ब) कौशाम्बी
स) जूनागढ़.
द) कोई नही

19. डॉक्टर गौरीशंकर ओझा प्रतिहारों को किस वंश की संतान मानते हैं ?
अ) क्षत्रिय ✅
ब) चन्द्रवंशीय.
स) सूर्यवंशीय.
द) कुषाणवंशी

20. गुर्जर प्रतिहार किस देवी अपनी कुलदेवी रूप में पूजा करते हैं ?
अ) नागणेची
ब) तनोट.
स) चामुण्डा ✅
द) आई माता

21. किस प्रतिहार शासक ने मंडोर को अपने राज्य की राजधानी बनाकर मंडोर में सबसे पहले राजसूय यज्ञ को आधार दिया ?
अ) नरभट्ट.
ब) रज्जिल ✅
स) शीलुक.
द) कक्कुक

22. प्रतिहार वंश का कणं कहा गया है ?
अ) रज्जिल.
ब) कक्कुक ✅
स) कक्क.
द) झोट प्रतिहार

23. किसने प्रतिहारों को ईरानी मूल का बताया है
अ) वी. ए. स्मिथ
ब) केनेडी ✅
स) कनिघंम
द) Bhandarkar

24. कक्कूक की माता का नाम था
अ) Padmini.
ब) दुर्लभ देवी ✅
स) Bhadra.
द) सुंदर देवी

25. फिरोजशाह तुगलक के समय माचेड़ी में किस गुर्जर प्रतिहार राजा का शासन था
अ) मटन देव.
ब) मक्खन देव.
स) गोगादेव ✅
द) दद्द प्रथम

26. किस गुर्जर प्रतिहार शासक के शासनकाल में अलमसूदी भारत आया था
अ) मिहिर भोज
ब) नागभट्ट द्वितीय
स) महेंद्रपाल प्रथम.
द) महिपाल प्रथम ✅

27. राजस्थान में प्रतिहार वंश के संस्थापक हरिश्चंद्र की राजधानी थी
अ) मेड़ता
ब) जालौर.
स) भीनमाल
द) मण्डोर ✅

28. राजस्थान में गुर्जर प्रतिहारों की सत्ता के प्रमुख केंद्र मंडोर जालौर भीनमाल आबू एवं चाकसू से इनमें से कौन सा स्थान है जहां सर्वाधिक तत्कालिक शिलालेख मिले ?

अ) आबू में

ब) जालौर में
स) मंडोर
द) चाकसू में ✅

29- किस गुर्जर प्रतिहार शासक ने” आदिवराह” “प्रभास” की उपाधि धारण की-
अ. रामभद्र
ब. नागभट्ट द्वितीय
स. मिहिरभोज ✓
द. देवराज

30- प्रतिहार शासकों के काल में प्रयुक्त मंदिर स्थापत्य की शैली का नाम है-
अ. द्रविड़ शैली
ब. गांधार शैली
स. पारसी शैली
द. गर्जर-प्रतिहार शैली✓

31- अशोक कालीन गोल बौद्ध मंदिर व स्तूप प्राप्त हुए हैं-
अ. भीमजी की पहाड़ी
ब. बीजक की पहाड़ी ✓
स. महादेव जी की डूंगरी
द. हनुमान जी की डूंगरी

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

लालशंकर पटेल डूंगरपुर, नेहा शर्मा झालावाड़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *