Iron Steel Industry in India

Iron Steel Industry in India

प्रश्न=1. कच्चे लोहे (Cast iron) में किस धातु को मिलाकर इस्पात बनाया जाता है ?
(अ) एलुमिनियम
(ब) मैग्नीज✔
(स) कार्बन
(द) जस्ता
व्याख्या:- लोहा निकलने के लिए लोह अयस्क को भट्टीओं में कार्बन 【कोक】 एवं चुना पत्थर के साथ गलाया जाता है इस प्रक्रिया को प्रगलन कहते हैं
 पिघला हुआ लोहा बाहर निकल कर जब ठंडा हो जाता है तो उसे कच्चा लोहा कहते हैं इसी कच्चे लोहे में मैग्नीज मिलाकर इस्पात बनाया जाता है।

प्रश्न=2. भारत के प्रमुख इस्पात उत्पादक केंद्र हैं ?
(अ) पश्चिम बंगाल
(ब) झारखंड
(स) ओडिशा
(द) उपरोक्त सभी✔
व्याख्या:- भारत के प्रमुख इस्पात उत्पादक केंद्र पश्चिम बंगाल झारखंड उड़ीसा और छत्तीसगढ़ में है इसके अतिरिक्त भद्रावती और विजयनगर 【कर्नाटक】 विशाखापट्टनम 【आंध्र प्रदेश】 में और सलेम【 तमिलनाडु】 अन्य महत्वपूर्ण इस्पात केंद्र है

प्रश्न=3. कच्चे इस्पात उत्पादकों में भारत का कौन सा स्थान है ?
(अ) पहला
(ब) तीसरा
(स) सातवा
(द) 9 वां✔
व्याख्या:- इस्पात का सबसे बड़ा उत्पादक व सर्वाधिक खपत वाला देश चीन है जबकि कच्चे इस्पात उत्पादकों में भारत का स्थान 9 वा है।

प्रश्न=4. लौह इस्पात उद्योग ( Iron steel industry) के लिए लोह अयस्क और कोकिंग कोयला के अतिरिक्त किन कच्चे माल की भी आवश्यकता होती है ?
(अ) चुना पत्थर
(ब) डोलोमाइट
(स) अग्नि सहमृतिका का
(द) उपरोक्त सभी✔
व्याख्या:- लोहा इस्पात उद्योग के लिए लोह अयस्क और कोकिंग कोयला के अतिरिक्त चुना पत्थर डोलोमाइट मैग्नीज और अग्निसहमृतिका आदि कच्चे माल की भी आवश्यकता होती है।

प्रश्न=5. लोह इस्पात उद्योग में लोह अयस्क कोकिंग कोयला तथा चुना पत्थर का अनुपात पाया जाता है ?
(अ) 2:3:4
(ब) 3:4:2
(स) 4:2:1✔
(द) 3:2:1
व्याख्या:- लोह इस्पात उद्योग के लिए लोह अयस्क, कोकिंग कोयला तथा चुना पत्थर का अनुपात लगभग 4:2:1 का होता है

प्रश्न=6. भारत किस लोहे का सबसे बड़ा उत्पादक है ?
(अ) कच्चे लोहे का
(ब) स्पंज लोहे का✔
(स) मिस्र लोहे का
(द) इस्पात का
व्याख्या:- भारत स्पंज लोहे का सबसे बड़ा उत्पादक है छोटा नागपुर पठार के पठारी क्षेत्र में अधिकांश लोहा तथा इस्पात उद्योग सम केंद्रित हैं
 सार्वजनिक क्षेत्र के लगभग सभी उपक्रम अपने इस्पात को स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड 【सेल】 के माध्यम से बेचते हैं।

प्रश्न=7. देश का पहला लौह इस्पात 1974 ईस्वी में किस नदी के किनारे कुल्टी नामक स्थान पर स्थापित किया गया ?
(अ) बराकर नदी ✔
(ब) दामोदर नदी
(स) भद्रा नदी
(द) खार कोई नदी
व्याख्या:- देश का पहला लौह इस्पात कारखाना 1974 ईस्वी में बराकर नदी के किनारे कुल्टी【आसनसोल पश्चिम बंगाल】 नामक स्थान पर बंगाल आयरन वर्क्स के रूप में स्थापित किया गया था बाद में जब यह कंपनी फंड के अभाव में बंद हो गई थी तो बंगाल सरकार ने इसका अधिग्रहण कर लिया और इसका नाम बदलकर बराकर आयरन वर्क्स रखा।

प्रश्न=8. देश में सबसे पहला बड़े पैमाने का लोह इस्पात कारखाना 1907 ईस्वी में किस राज्य में स्थापित किया गया था ?
(अ) Jharkhand
(ब) Bihar✔
(स) West Bengal
(द) Odisha
व्याख्या:- देश में सबसे पहला बड़े पैमाने का लोह इस्पात कारखाना 1907 ईस्वी में तत्कालीन बिहार राज्य 【वर्तमान में झारखंड】 मैं स्वर्णरेखा नदी की घाटी में साकची नामक स्थान पर जमशेदजी टाटा द्वारा स्थापित किया गया था।

प्रश्न=9. भारत विश्व का एक महत्वपूर्ण लोहा इस्पात उत्पादक देश होते हुए भी किन कारणों से इस उद्योग का पूर्ण विकास नहीं कर पाता है?
(अ) उच्च लागत तथा कोकिंग कोयले की सीमित उपलब्धता
(ब) कम श्रमिक उत्पादकता
(स) ऊर्जा की अनियमित आपूर्ति तथा अविकसित अवसंरचना
(द) उपरोक्त सभी✔
व्याख्या:- उच्च लागत तथा कोकिंग कोयले की सीमित उपलब्धता, कम श्रमिक उत्पादकता, ऊर्जा की अनियमित आपूर्ति तथा अविकसित अवसंरचना आदि के कारण भारत विश्व का एक महत्वपूर्ण लोह इस्पात उत्पादक देश होते हुए भी इस उद्योग को पूर्ण विकास नहीं कर पाया है

 नोट:- भारत 2016 में 95.6 मिलियन टन उत्पादन के साथ विश्व में तीसरा सबसे बड़ा कच्चा इस्पात उत्पादक देश हैं

प्रश्न=10. निम्न में से सुमेलित नहीं हैं ?
(अ) टाटा लौह इस्पात कंपनी – जमशेदपुर
(ब) भारतीय लोह और इस्पात कंपनी – बर्नपुर
(स) विश्वेश्वर्या आयरन एंड स्टील वर्क्स – राउरकेला✔
(द) हिंदुस्तान स्टील लिमिटेड – दुर्गापुर
व्याख्या:- प्रमुख इस्पात कारखाने की स्थापना निम्न प्रकार हुई –
1. टाटा लोहा इस्पात कंपनी (टिस्को)- जमशेदपुर 【झारखंड】
2. भारतीय लोहा और इस्पात कंपनी(IISCO) – बर्नपुर
3. विश्वेश्वरय्या आयरन एंड स्टील वर्क्स – भद्रावती 【कर्नाटक】
4. हिंदुस्तान स्टील लिमिटेड राउरकेला 【उड़ीसा】
5. हिंदुस्तान स्टील लिमिटेड- दुर्गापुर【पश्चिम बंगाल】
6. हिंदुस्तान स्टील लिमिटेड – भिलाई 【छत्तीसगढ़】

प्रश्न=11. 1947 से पूर्व भारत में कितने इस्पात कारखाने थे ?
(अ) एक✔
(ब) तीन
(स) चार
(द) पांच
व्याख्या:- 1947 ईस्वी से पूर्व भारत में केवल एक ही इस्पात कारखाना था जो सन 1907 में टाटा आयरन एंड स्टील कंपनी लिमिटेड (टिस्को) के रूप में स्थापित किया गया था।

प्रश्न=12. TISCO से उत्पादित इस्पात निर्यात के लिए सबसे नजदीकी बंदरगाह कौनसा है ?
(अ) Kolkata✔
(ब) Visakhapatnam
(स) Cochin
(द) Mumbai
व्याख्या:- टाटा लोह इस्पात कंपनी मुंबई – नागपुर – कोलकाता रेलवे मार्ग की बहुत निकट स्थित है यहां से उत्पादित इस्पात के निर्यात के लिए सबसे नजदीकी लगभग (240 किलोमीटर दूर) पत्तन कोलकाता है

प्रश्न=13. TISCO से संबंधित सही सुमेलित है ?
(अ) लोहा – नोआमुंडी और बादाम पहाड़ से
(ब) कोयला – जोंडा खाना से
(स) कोकिंग कोयला – झरिया से
(द) उपरोक्त सभी✔
व्याख्या:- टिस्को को लोहा नोआमुंडी और बादाम पहाड़ से
 कोयला जोंडा खानो (उड़ीसा) से
 कोकिंग कोयला झरिया और पश्चिमी बोकारो से प्राप्त होता है

प्रश्न=14. भारतीय लोहा और इस्पात कंपनी【IISCO】 ने अपना दूसरा कारखाना कहां स्थापित किया गया था ?
(अ) हीरापुर
(ब) बर्नपुर
(स) कुल्टी✔
(द) आसनसोल
व्याख्या:- भारतीय लोहा और इस्पात कंपनी ने अपना पहला कारखाना वर्ष 1918 में पश्चिम बंगाल की दामोदर नदी घाटी में हीरापुर (बाद में इसे बर्नपुर कहां गया) मैं और दूसरा कुल्टी में स्थापित किया गया था
 यहां वर्ष 1922 में उत्पादन शुरू हुआ आगे चलकर कुल्टी बर्नपुर तथा हीरापुर स्थित संयंत्रों को इसमें मिला दिया गया।

प्रश्न=15. बंगाल स्टील कॉरपोरेशन की स्थापना किसके साहचर्य से हुई ?
(अ) टाटा लोहा इस्पात कंपनी के द्वारा
(ब) भारतीय लोहा और इस्पात कंपनी के द्वारा✔
(स) विश्वेश्वर्या आयरन एंड स्टील वर्क्स कंपनी के द्वारा
(द) हिंदुस्तान स्टील लिमिटेड राउरकेला कंपनी के द्वारा
व्याख्या:- 1937 ईस्वी में भारत की लोहा और इस्पात कंपनी(IISCO)के साहचर्य से बंगाल स्टील कॉरपोरेशन की स्थापना की गई

प्रश्न=16. विश्वेश्वर्या आयरन एंड स्टील वर्क्स का प्रारंभिक नाम था ?
(अ) मैसूर लोहा इस्पात वर्क्स✔
(ब) कर्नाटक लोहा इस्पात वर्क्स
(स) बाबा बुदन लोहा इस्पात वर्क्स
(द) उपरोक्त सभी
व्याख्या:- विश्वेश्वर्या आयरन एंड स्टील वर्क्स तीसरी एकीकृत इस्पात संयंत्र जिसका प्रारंभिक नाम मैसूर लोहा इस्पात वर्क्स था सन 1923 में मैसूर राज्य (वर्तमान कर्नाटक) के भद्रावती नामक स्थान पर स्थापित किया गया था

प्रश्न=17. कौनसा संयंत्र बाबा बुदन की पहाड़ियों की केमानगुंडी के लौह अयस्क क्षेत्र के निकट स्थित हैं ?
(अ) भारतीय लोहा और इस्पात संयंत्र
(ब) विश्वेश्वर्या आयरन एंड स्टील संयंत्र✔
(स) हिंदुस्तान स्टील लिमिटेड संयंत्र
(द) टाटा लौह इस्पात संयंत्र
व्याख्या:- विश्वेश्वरैया आयरन एंड स्टील संयंत्र बाबा बुदन की पहाड़ियों के केमान गुंडी के लौह अयस्क क्षेत्र के निकट स्थित है
 चुना पत्थर और मैग्नीज भी आसपास के क्षेत्रों में उपलब्ध है लेकिन इस प्रदेश में कोयला नहीं मिलता।

प्रश्न=18. कौनसा संयंत्र विशिष्ट इस्पात एवं एलॉय का उत्पादन करता है ?
(अ) हिंदुस्तान स्टील लिमिटेड संयंत्र
(ब) विश्वेश्वर्या आयरन एंड स्टील संयंत्र✔
(स) भारतीय लोहा और इस्पात संयंत्र
(द) टाटा लौह इस्पात संयंत्र
व्याख्या:- विश्वेश्वर्या आयरन एंड स्टील संयंत्र प्रारंभ में पास के जंगलों से प्राप्त लकड़ी को जलाकर बनाए गए चारकोल को 1951 ईस्वी तक ईंधन के रूप में प्रयोग किया जाता था बाद में विद्युत भट्टीया लगाई गई जिसे जोग प्रपात जल विद्युत परियोजना से प्राप्त जल विद्युत का उपयोग होता है
इस संयंत्र के लिए आवश्यक जल भद्रावती नदी से प्राप्त होता है यह संयंत्र विशिष्ट इस्पात एवं एलॉय का उत्पादन करता है

प्रश्न=19. कौन सा संयंत्र शंख और कोयल नदियों के संगम के समीप सुंदरगढ़ जिले मैं स्थापित किया गया था ?
(अ) राउरकेला इस्पात संयंत्र✔
(ब) भिलाई इस्पात संयंत्र
(स) दुर्गापुर इस्पात संयंत्र
(द) कुल्टी इस्पात संयंत्र
व्याख्या:- राउरकेला इस्पात संयंत्र जर्मनी की फर्म क्रुप्स एंड डिमांग के सहयोग से सन 1956 में शंख और कोयल नदियों के संगम के समीप उड़ीसा के सुंदरगढ़ जिले में स्थापित किया गया था
 इस संयंत्र को कच्चे माल की निकटता के आधार पर स्थापित किया गया था जिससे भार हास् वाले कच्चे माल का परिवहन मूल्य कम हो जाता है।

प्रश्न=20. राउरकेला इस्पात संयंत्र ( Rourkela Steel Plant) को लोहा अयस्क कहां से प्राप्त होता है ?
(अ) झरिया से
(ब) सुंदरगढ़ से✔
(स) हीराकुंड से
(द) बोकारो से
व्याख्या:- राउरकेला इस्पात संयंत्र को विशिष्ट अवस्थितकि लाभ प्राप्त हैं क्योंकि इसे निकटस्थ झरिया (झारखंड) से कोयला और सुंदरगढ़ और क्योंजर से लोह अयस्क प्राप्त होता है

Leave a Reply