Leadership : Management ( नेतृत्व )

Leadership : Management

प्रबंधन – नेतृत्व 

नेतृत्व का अर्थ ( Meaning of leadership )

नेतृत्व दूसरों को अनुसरण करने के लिए प्रभावित करने की क्षमता है। नेतृत्व केवल आदेश, सत्ता प्राप्त करना, भय या अन्य माध्यमों से प्रभावित करना नहीं है बल्कि नेतृत्व में अनुयायियों की सहमति तथा स्वीकृति नेता के आदेशों के पालन के लिए आवश्यक होती है।

एक नेता अनुयायियों को प्रोत्साहन देखकर सांगठनिक लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अनुयायियों का सफल मार्गदर्शन करता है। इस क्रम में वह सामूहिक प्रयत्नों में क्रमबद्धता एवं एकरूपता का व्यवस्थापन करवाता है।

नेतृत्व की विशेषताएं ( Leadership Features )

  1. नेता दूसरों के व्यवहार, विश्वास और विचार को प्रभावित करने में सक्षम होता है।
  2. नेतृत्व अनुयायियों को अभिप्रेरित करता है तथा उसे संतुष्टि प्रदान करता है।
  3. नेता महत्वाकांक्षी, तटस्थ भविष्य दृष्टा, आत्मविश्वास होता है।
  4. नेता में न्याय निष्ठा, सत्यनिष्ठा, समर्पण, प्रतिबद्धता, सहयोग आदि गुण पाए जाते हैं।
  5. नेता अनुयायियों से संवाद संप्रेषण कर अपने अधीनस्थ का ध्यान रखता है एवं प्रभावी निर्णय निर्माण प्रक्रिया संपन्न करता है।
  6. नेता संगठन को बदलती परिस्थितियों के अनुकूल बनाने में सहयोग प्रदान करता है।

नेता के प्रभाव के स्रोत ( Leader’s impact sources )

  1. भय एवं दंड
  2. पुरस्कार व उपहार
  3. वैधता या पद स्थिति
  4. विशेषज्ञता
  5. चारित्रिक विशेषता एवं व्यवहारिक विशेषता

नेतृत्व की शैलियां ( Leadership styles )

1. निर्देशात्मक या निरंकुश शैली ( Instructional or Autocratic style ) – इस शैली में संपूर्ण सत्ता नेता में ही केंद्रित रहती है। नेता ही सभी नीतियां तय करता है और अधीनस्थ को आदेश देता है। निर्णय निर्माण में नेता अधिनस्थ की भागीदारी नहीं लेता है। नेतृत्व की यह शैली आपातकालीन परिस्थितियों एवं अति समयबद्ध कार्यक्रमों में उपयुक्त होती है जहां निर्णय शीघ्र लिए जाते हैं। लेकिन अधिकतर परिस्थितियों में यह शैली अस्वीकार्य है।

2. लोकतांत्रिक या भागीदारी शैली ( Democratic or partnership style ) – इस शैली के अंतर्गत निर्णय निर्माण में अधीनस्थ की भागीदारी ली जाती है। संचार प्रक्रिया द्विमार्गी और बहु निर्देशात्मक होती है। यह शैली प्रशासन के मानव संबंध के उपागम में लोकप्रिय हुई। इस शैली की कमी निर्णयों में देरी और निर्णय गुणवत्ता का कम होना है।

3. अहस्तक्षेप यामुक्त व्यापार शैली ( Non-trafficking or free trade style ) – इस शैली में नेता अधीनस्थ को उनके द्वारा मांगी गई सूचना एवं सामग्री उपलब्ध करवाता है तथा अधीनस्थ को अपने लक्ष्य निर्धारित करने और अपने तरीके से उनको प्राप्त करने की अनुमति देता है। यह शैली अव्यवस्था, अनुशासनहीनता एवं अराजकता को जन्म देती है। यह शैली तभी सफल हो सकती है जब अधीनस्थ पूर्णतः समझदार एवं कर्तव्यनिष्ठ हो।

नेतृत्व के प्रकार ( Types of leadership )

  1. परंपरागत नेता
  2. वैधानिक नेतृत्व
  3. विशेषज्ञ नेतृत्व
  4. करिश्माई नेतृत्व
  5. नौकरशाही नेतृत्व
  6. कूटनीतिज्ञ नेतृत्व

नेतृत्व के कार्य ( Leadership work )

  1. अधीनस्थ को आदेश एवं निर्देश प्रदान करना।
  2. अधीनस्थ का सहयोग प्राप्त करना एवं उनके कार्य में समन्वय बिठाना।
  3. अधीनस्थ की आवश्यकता, मूल्यों एवं उनकी समस्याओं को समझना एवं उनका समाधान करना।
  4. अभिप्रेरणा एवं मनोबल को बढाने वाली कार्य स्थितियों को संगठन में स्थापित करना।
  5. संगठन में प्रभावी संचार व्यवस्था को सुनिश्चित करना।
  6. कार्मिकों में अनुशासन एवं संगठन के प्रति निष्ठा बनाए रखना।

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

P K Nagauri

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.