Pluralism ( बहुलवाद )

Pluralism

बहुलवाद 

प्रश्न=01. राज्य एक वैद्य समाज के अतिरिक्त कुछ नहीं हैं,कथन है?
(अ) डुग्वी
(ब) बोर्कर
(स) डॉ आशीर्वाद
(द) हूगो क्रेब

(द)

प्रश्न=02. अमेरिका में बहुलवाद के समर्थक है?
(अ) कोल, लास्की,बार्कर
(ब) गिर्यक,डिग्विट,कैब
(स) विलियम, जेम्स, मिस फोलेट, मैकाइवर
(द) मेटलैंड, फिगिश, लिंडसे

(स)

प्रश्न=03. राज्य एक लोक सेवा निगम है”?
(अ) लोस्की
(ब) हॉब्स
(स) बोंदा
(द) ऑस्टिन

(अ)

प्रश्न=04. पंजाब का निरंकुश शासक रणजीत सिंह भी ऐसा कानून लागू नहीं कर सकता था, कि वह समाज के प्रचलित नियमों के विरुद्ध हो “।उक्त कथन किसका है?
(अ) लास्की
(ब) गेटेल
(स) मैकाइवर
(द) हेनरी मैन

(द)

प्रश्न=05. कोई भी राजनीतिक सिद्धांत इतना रूखा तथा फालतू नहीं है, जितना कि प्रभुत्व संपन्न राज्य का?
(अ) लास्की
(ब) बोर्कर
(स) डुगवी
(द) आशीर्वादन

(ब)

प्रश्न=06. ‘ समाज संघीय है, इसलिए अधिकार सत्ता भी संघीय होनी चाहिये’ उक्त कथन किसका हैं ?
(अ) मेटलेण्ड
(ब) गियर्क
(स) लास्की
(द) बार्कर

(स)

प्रश्न=07. बहुलवाद के जनक हैं-
(अ) मेटलेण्ड व गियर्क
(ब) बार्कर व लास्की
(स) मिस फॉलेट व लास्की
(द) उपयुर्क्त सभी

(अ)

प्रश्न=08. बहुलवादी व्यवसायिक प्रतिनिधित्व का समर्थक हैं ?
(अ) बार्कर
(ब) लास्की
(स) जी डी एच कॉल
(द) गियर्क

(स)

प्रश्न=09. “यदि संप्रभुता की संपूर्ण धारणा का ही परित्याग किया जाए तो यह राजनीति विज्ञान के लिए स्थाई रूप से लाभकारी होगा” उक्त कथन है-
(अ) लास्की
(ब) बार्कर
(स) डुग्वी
(द) गार्नर

(अ)

प्रश्न=10. ” कानून संप्रभु का आदेश नहीं है वरन् वह राजनीतिक व्यवस्था से परे है उच्च तथा बाह्य हैं आत्मपरकर न होकर विषयपरक हैै” किसने कहा ?
(अ) क्रेब
(ब) बार्कर
(स) डुग्वी
(द) गार्नर

(स)

प्रश्न=11. “राज्य एक वैध समाज के अतिरिक्त कुछ नहीं है” कथन हैं-
(अ) क्रेब
(ब) बार्कर
(स) डुग्वी
(द) गार्नर

(अ)

प्रश्न=12. “राज्य का प्रभुत्व मर चुका है और मृत्यु शैया पर है” यह कथन संबंधित है ?
अ) लिण्डसे
ब) डिग्विट
स) जी डी एच कोल
द) लास्की

(ब)

प्रश्न=13. सह सम्प्रभुता की अवधारणा देने वाले प्रमुख विचारक थे ?
अ) डक्विट
ब) बार्कर
स) जी डी‌ एच कोल
द) रूसो

(स)

प्रश्न=14. किसने कहा कि बहुलवाद अंतिम अर्थों में राज्य को नष्ट करना चाहता है ?
अ) लास्की
ब) मैकाइवर
स) आशिर्वादम
द) मिस फारेस्ट

(स)

प्रश्न=16. राज अट्टालिका शिखर है ?
अ) यूनानी विचारक
ब) लास्की
स) क्रेब
द) फिगिस

(ब)

प्रश्न=16. कौन कहता है कि जहां तक संभव है मैं बहुलवादी बनने को तैयार हूं लेकिन मेरी आत्मा राज्य में ही निहीत है ?
अ) फालेट
ब) स्याहो
स) फिगिस
द) लिण्डसे

(अ)

प्रश्न=17. “राज्य कानून का निर्माण नहीं करता कानून तो राज्य से पहले ही विद्यमान था” यह कथन है ?
अ) लास्की
ब) मेटलैंड
स) श्याओ
द) लियोधुग्वी

(द)

प्रश्न=18. Modern idea of the state पुस्तक है ?
अ) वैरीयस
ब) वुडवर्ड
स) मेटलैंड
द) हयूगो क्रैब

(द)

प्रश्न=19. कौन संप्रभुता के बहुलवादी सिद्धांत का समर्थक नहीं है ?
(अ) जेरेमी बेंथम
(ब) लियो घूगी
(स) हूगो क्रैब
(द) मेरी फाॅलेट

(अ)

प्रश्न=20. निम्न में से कौन बहुलवादी चिंतक नही है ?
(अ) लास्की
(ब) फिंगिस
(स) बोदां
(द) लिंडसे

(स)

 

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

पृथ्वीसिंह जी जोधपुर, B.s.meena Alwar, गोविंद जी गुर्जर कोटा, इंद्रा जी जोधपुर, राकेश जी सैन, कोमल जी शर्मा