Rajasthan History Quiz 10 ( राजस्थान का इतिहास )

Rajasthan History Quiz 10 

 

प्रश्न-26 डूंगरपुर प्रजामण्डल की स्थापना 1944 में की गई..?
(अ) रामनारायण चोधरी
(ब) प्रताप सिंह बारहठ
(स) भोगीलाल पाडया
(द) माणिक्यलाल वर्मा

उत्तर- (स) भोगीलाल पाडया(बागड़ का गाँधी)✅

प्रश्न-27 निम्न में से क़ौन बिजौलिया किसान आंदोलन से जुड़े हुए थे..?
(अ) अकबर खान
(ब) शक्ति सिंह
(स) राम नारायण चौधरी
(द) ताराचंद

उत्तर- (स) राम नारायण चौधरी✅
और विजयसिंह पथिक(भूपसिह), बिजोलिया प्रथम व सबसे बड़ा(44 वर्ष, 1897-1941) किशान अहिसात्मक आंदोलन

प्रश्न-28 स्वतंत्रता संग्राम के सेनानी एंव शहीद सागरमल गोपा कहा के निवासी थे..?
(अ) बीकानेर
(ब) जैसलमेर
(स) जौधपुर
(द) अजमेर

उत्तर- (ब) जैसलमेर✅
“3 अप्रैल 1946 को इन्हें जेल में जिन्दा जला दिया गया, इनकी प्रसिद्ध रचना “आजादी के दीवाने”, “जैसलमेर का गुण्डाराज”

प्रश्न-29 कानपुर से प्रकाशित किस समाचार पत्र के माध्यम से विजयसिंह पथिक ने बिजोलिया किसान आन्दोलन को समूचे भारत में चर्चा का विषय बना दिया..?
(अ) केसरी
(ब) प्रताप
(स) मराठा
(द) मजुषा

उत्तर- (ब) प्रताप✅

प्रश्न-30, 1930 के दशक में भरतपुर में राजनैतिक जागृति का श्रेय किसको जाता है..?
(अ) किशनलाल जोशी
(ब) ठाकुर देशराज
(स) नयनुराम शर्मा
(द) युगल किशोर चतुवेदी

उत्तर- (द) युगल किशोर चतुवेदी(दुसरा जवाहर लाल नेहरू)✅

प्रश्न-31 राजस्थान का गाँधी किस कहा जाता है..?
(अ) जमनालाल बजाज
(ब) नरोत्तमलाल जोशी
(स) गोकुलभाई भटट्
(द) भोगीलाल पाण्डिया

उत्तर- (स) गोकुलभाई भटट्✅

प्रश्न-32 राज्य में राजाओ में वह कौंन शासक था, जो अपनी सेना के साथ 1857 के संग्राम में अग्रेजी की सहायता हेतु राज्य से बहार गया..?
(अ) जयपुर
(ब) जौधपुर
(स) उदयपुर
(द) बीकानेर

उत्तर- (द) बीकानेर✅

प्रश्न-33 निम्न में से कौनसा क्रान्तिकारी राजस्थान से नही था..?
(अ) विजयसिंह पथिक
(ब) केसरीसिंह बारहठ
(स) अर्जुनलाल सेठी
(द) चन्द्रशेखर आजाद

उत्तर- (द) चन्द्रशेखर आजाद✅

प्रश्न-34 जूनागढ़ को ऐतिहासिक महल का निर्माण कार्य शुरू किया था..?
(अ) कल्याण मल ने
(ब) रायसिंह ने
(स) जोधोजी
(द) गंगासिह ने

उत्तर- (द) गंगासिह ने✅

प्रश्न-35 श्री रामचरण प्राच्य विद्यापीठ स्थित है..?
(अ) सीकर
(ब) चुरू
(स) नागौर
(द) जयपुर

उत्तर- (द) जयपुर✅

प्रश्न-36 मेवाड़ में चित्रकला के विकास का सर्वश्रेष्ट काल था..?
(अ) राणा प्रताप
(ब) राणा जगतसिंह प्रथम
(स) अमरसिंह
(द) कोई नही

उत्तर- (ब) राणा जगतसिंह प्रथम✅

प्रश्न-37 मेवाड़ में प्रचलित सिक्क़ो को कहा जाता है..?
(अ) चोदोडी
(ब) ढ़ीगला
(स) त्रिशुलिया
(द) सभी सही है

उत्तर-(द) सभी सही है✅

प्रश्न-38 अखयशाही रुपया प्रचलित था..?
(अ) जैसलमेर
(ब) जयपुर
(स) उदयपुर
(द) कोई नही

उत्तर- (अ) जैसलमेर✅

प्रश्न-39 गुप्त काल में स्वर्ण मुद्राओ को कहा जाता था..?
(अ) दिनार
(ब) जितल
(स) रुपया
(द) कोई नही

उत्तर- (अ) दिनार✅

प्रश्न-40 हुरडा(भीलवाड़ा,मेवाड़) सम्मेलन 17 जुलाई 1734, को माराठौ की सुरक्षा के लिए आयोजित किया गया था, जिस का आयोजन “सवाई जयसिह” ने किया, उस की अध्यक्षता की थी..?
(अ) करण सिंह
(ब) जगतसिंह
(स) दलेलसिंह
(द) भगतसिंह

उत्तर- (ब) जगतसिंह✅

प्रश्न-41 जाटो का प्लेटो, आफलातून कहां जाता है..?
(अ) सूरजमल जाट
(ब) चन्दर्मल जाट
(स) किशोरों जाट
(द) कोई नही

उत्तर- (अ) सूरजमल जाट✅

प्रश्न-42 मेवाड़ का रक्षक, मेवाड़ केसरी, हल्दीघाटी का शेर, पाथळ(साहित्य नाम), माहाराणा प्रताप जिस का जन्म 9 मई 1540, को स्थान कटारगढ़(कुम्भलगढ़,राजसमन्द), कीका(बचपन का नाम), 32 की उम्र में गोगुन्दा में राज्याभिषेक, तलवार “कृष्णदास” ने बाधी, राज्याभिषेक समारोह- कुम्भलगढ़ दुर्ग, अकबर ने प्रताप को समझाने के लिए चार व्यक्तियो को भेजा- जलाल खा(पहला), मानसिंह कच्छवाहा, भगवानदास, टोडरमल(राजस्थान में भू-राजस्व प्रणाली का जनक, व अंतिम राजदूत ), महाराणा प्रताप व मानसिंह(अकबर का सेनापति) के बिच 18 जून/21जून 1576 में हल्दीघाटी का युद्ध लड़ा गया और इस युद्ध में “झालाबिंदा ने प्रताप के सर से राजमुकुट उतारकर स्वय ने पहन लिया”, और इस युद्ध में राणा पूंजा(भील सेनापति) था, इस युद्ध में महाराणा प्रताप का एक हाथी था उस का नाम ‘राम प्रसाद(बाद में पिरप्रसाद)” और घोड़े का नाम “चेतक था”जबकि मानसिंह के हाथी का नाम मर्दाना था, हल्दीघाटी के युद्ध को “जेम्स टार्ड” ने मेवाड़ की थर्मोपल्ली ” अबुल फजल ने “खमनोर का युद्ध” बयादुनि ने “गोगुन्दा का युद्ध”, इस युद्ध के बाद महाराणा प्रताप ने “कुम्भलगढ़ दुर्ग में शरण ली”, 1578 ई. में प्रताप व अकबर के सेनापति शाहबाज खा के मध्य “कुम्भलगढ़ का युद्ध” हुवा, इस में ‘मेवाड़ का रक्षक व उद्धारक- भामाशाह ने मदद की”, 1582 में अमरसिंह(प्रताप का सेनापति) व सुल्तान खाँ(अलबर का सेनापति) के मध्य दिवेर का युद्ध( मैराथन का युद्ध) हुवा, प्रताप की विजय हुवी, प्रताप ने माण्डलगढ़ और चितौड़ के अलावा पुरे मेवाड़ पर अपना साम्राज्य स्थापित किया, प्रताप ने अपने अंतिम समय 1585 में “चावण्ड” में गुजारे व ‘चावण्ड” को अपनी “आपातकालीन राकधानि(संकटलाकिन राकधानी) बनाई. प्रताप की मृत्यू 19 जनवरी 1597 ई. में 57 वर्ष की उम्र में चावण्ड में हुवी, अन्तिम संस्कार बाण्ड़ोली(उदयपुर) में हुवा, जहा खेजड़ा बाढ़ के किनारे “आठ(8) खम्भो की छतरी बनी हुवी है,

42. तो बताए की प्रताप के घोड़े चेतक की छतरी कहा है..?
(अ) बलीचा गॉव(राजसमन्द)✅
(ब) उदयपुर
(स) जालौर
(द) नागौर

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

Ayub khan Bhilwada

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top