Rajasthan Itihas Important Questions

Rajasthan Itihas Important Questions

प्रश्न-1. सुखाड़िया सरकार में किस ऐतिहासिक पुरुष को दो बार मंत्री बनाया गया था ?

(अ)- माणिक्य लाल वर्मा
(ब)- हरिभाऊ उपाध्याय
(स)- भोगीलाल पंड्या✔
(द)- रामकरण जोशी
व्याख्या- भोगीलाल पंड्या को सुखाड़िया सरकार में दो बार मंत्री बनाया गया था 25 मार्च 1948 में डूंगरपुर रियासत का पूर्व राजस्थान में विलय हुआ तब इनको मंत्री बनाया गया था। 1952 के प्रथम आम चुनाव में सागवाड़ा से विधायक चुने गए तथा टीकाराम पालीवाल सरकार मंत्रिमंडल में चिकित्सा एवं उद्योग मंत्री बनाया गया 1975 में इन्हें भारत सरकार द्वारा पदम विभूषण से सम्मानित किया गया था 1944 में इन्होंने डूंगरपुर प्रजामंडल की स्थापना की थी

प्रश्न-2. राजस्थान में किस ऐतिहासिक पुरुष को “जीता भा” के नाम से संबोधित किया जाता था ?

(अ)- पंडित अभिन्न हरहरी
(ब)- जीतमल पुरोहित✔
(स)- सुमलेश जोशी
(द)- श्री मुकुट बिहारी लाल भार्गव
व्याख्या- जीतमल पुरोहित को लोग “जीता भा” के नाम से संबोधित करते थे इनको जैसलमेर रियासत में सबसे पहले तिरंगा झंडा फहराने का श्रेय दिया जाता है इन्हें Jaisalmer रियासत से निर्वासित कर दिया गया था तब यह बीकानेर चले गए वहां से इन्होंने आजादी के जन आंदोलन को नेतृत्व प्रदान किया था

प्रश्न-3. राजस्थान के इतिहास में कौन सी वीरांगना राजस्थान की झांसी की रानी के उपनाम से प्रसिद्ध है ?

(अ)- नारायणी देवी वर्मा
(ब)- कमला देवी
(स)- सूजा✔
(द)- उर्मिला नागर
व्याख्या- सुजा लाडनू नागौर की रहने वाली थी राजस्थान में 1857 के स्वतंत्रता संग्राम ( Freedom Struggle) में यह अंग्रेजों के विरुद्ध लड़ी थी सुजा राजस्थान के इतिहास में राजस्थान की झांसी की रानी के उपनाम से प्रसिद्ध है

प्रश्न-4. राजस्थान की प्रथम अनुसूचित जाति की महिला लोकसभा सदस्य (Lok Sabha members) बनने का गौरव प्राप्त हुआ ?

(अ)- श्रीमती सुशीला बंगारू✔
(ब)- श्रीमती तारा भंडारी
(स)- श्रीमती कालीबाई
(द)- श्रीमती माला सुखवाल
व्याख्या- इनका जन्म 14 मार्च 1948 को झांसी (उत्तर प्रदेश)में हुआ था यह 14वीं लोकसभा में 2004 में जालौर से सांसद चुनी गई थी यह राजस्थान से प्रथम अनुसूचित जाति की महिला लोकसभा सदस्य बनी थी

प्रश्न-5. किस आयोग के अनुसार राज्य के पुनर्गठन को आधार भाषा के बजाय प्रशासनिक सुविधा को माना गया था ?

(अ)- सत्यनारायण राव समिति
(ब)- एस के धर आयोग✔
(स)- जेवीपी समिति
(द)- राज्य पुनर्गठन आयोग
व्याख्या- एस के धर आयोग की रिपोर्ट में राज्य के पुनर्गठन को आधार भाषा के बजाय प्रशासनिक सुविधा को माना इसका गठन भाषा के आधार पर राज्यों के गठन की जांच हेतु इलाहाबाद उच्च न्यायालय के अवकाश प्राप्त न्यायाधीश एस के धर की अध्यक्षता में किया गया था। एस. के.धर आयोग की रिपोर्ट की जांच हेतु कांग्रेस के जयपुर अधिवेशन में कांग्रेस की कार्यसमिति द्वारा जेवीपी समिति का गठन किया गया था हालांकि जेवीपी समिति ने भी राज्यों के भाषा के आधार पर पुनर्गठन को अनुचित माना था

प्रश्न-6. खंड़गी है ?

(अ)- हथियार
(ब)- प्रथा
(स)- कर✔
(द)- युद्ध का तरिका
व्याख्या- खंड़गी एक प्रकार का कर था जो मराठों के द्वारा बूंदी रियासत से ₹80000 प्रति वर्ष वसूला जाता था

प्रश्न-7. किस कर को “रक्षात्मक कर” भी कहा जाता था ?

(अ)- आबियाना
(ब)- अखराई
(स)- हिद भराई
(द)- रुखलाई बाछ✔
व्याख्या- रुखलाई बाछ- बीकानेर रियासत में ठाकुरों एवं राठौड़ों की लूट से देश को बचाने हेतु यह कर वसूला जाता था इस कर को रक्षात्मक कर भी कहा जाता था
आशियाना- यह कर गंगनहर क्षेत्र में पानी पर लिया जाता था
अखराई- रियासत के राजकोष में जमा होने वाले धन पर दी जाने वाली रसीद पर एक रुपए पर एक पैसा लिया जाता था जिसे अखराई कहा जाता था
हिद भराई- यह कर मारवाड़ रियासत में मालियों से वसूल किया जाता था

प्रश्न-8. किस संधि को “आश्रित पार्थक्य” की नीति भी कहते हैं ?

(अ)- सहायक संधि
(ब)- सहयोग संधि✔
(स)- राज्य विलय नीति
(द)- उपरोक्त में से कोई नहीं
व्याख्या- सहयोग संधि को आश्रित पार्थक्य की नीति भी कहते हैं जिसको लॉर्ड हार्डिंग ने अपनाया था इस संधि के तहत राजस्थान के लगभग सभी राज्यों ने अंग्रेजों से यह संधि कर ली थी राजस्थान में अंग्रेजों ने सबसे पहले से एक संधि नवंबर 1817 में करौली से की थी राजस्थान में अंग्रेजों ने सबसे पहले विस्तृत रूप में सहयोग संधि 26 दिसंबर 1817 में कोटा के प्रशासक झाला जालिम सिंह से की थी

प्रश्न-9. राजस्थान में अंग्रेजों ने सबसे पहले सहायक संधि किस रियासत के शासक से की थी ?

(अ)- भरतपुर✔
(ब)- अलवर
(स)- डूंगरपुर
(द)- धौलपुर
व्याख्या- राजस्थान में अंग्रेजों ने सबसे पहले सहायक संधि 29 सितंबर 1803 में भरतपुर के शासक रंजीत सिंह से की थी, राजस्थान में अंग्रेजों ने सर्वप्रथम विस्तृत रूप से सहायक संधि 14 नवंबर 1803 में अलवर से की थी भारत के गवर्नर जनरल लॉर्ड वेलेजली ने सहायक संधि को अपनाया था सहायक संधि के तहत लार्ड वेलेजली का उद्देश्य सभी देसी रियासतों की आंतरिक सुरक्षा का उत्तरदायित्व अपने हाथों में लेना था

प्रश्न-10. 1807 में गिंगोली के युद्ध में जयपुर के जगत सिंह का साथ पिंडारी वंश के किस शासक ने दिया था ?

(अ)- हाफिज सादत अली का
(ब)- इब्राहिम अली का
(स)- अमीर खाँ पिंडारी✔
(द)- नवाब वजीर मोहम्मद खाँ
व्याख्या- अमीर खाँ पिंडारी ने 1807 में गिंगोली के युद्ध में जयपुर के जगत सिंह का साथ दिया था लेकिन कुछ रुपए लेकर बाद में जोधपुर की तरफ हो गया था अंग्रेजों ने ही अमीर खाँ पिंडारी को टोंक व छबड़ा देकर टोंक का नवाब बनाया था पिंडारी मराठों के लुटेरे सैनिक थे

प्रश्न-11. कंपनी सरकार को ऋण नहीं चुकाने के कारण किस रियासत के प्रबंधन हेतु मेक मेंसन को करौली का पोलिटिकल एजेंट बनाया गया था ?

(अ)- Jodhpur
(ब)- Udaipur
(स)- Karauli✔
(द)- Bharatpur
व्याख्या- मंगल पाल सिंह जिनको अंग्रेजों द्वारा करौली का शासक बनाया गया था लेकिन इनके द्वारा कंपनी सरकार को ऋण नहीं चुकाने के कारण करौली के प्रबंधन हेतु मेक मेंसन को करौली का पोलिटिकल एजेंट बनाया गया बाद में 18 मार्च 1948 को गणेश पाल देव बहादुर के शासनकाल में करौली को मत्स्य संघ में मिलाया गया

प्रश्न-12. किस यादव वंश के शासक द्वारा करौली रियासत को अपनी पहली राजधानी बनाया गया था ?

(अ)- विजयपाल
(ब)- तिमन पाल
(स)- अर्जुन पाल
(द)- धर्मपाल द्वितीय✔
व्याख्या- धर्मपाल द्वितीय द्वारा सबसे पहले 1650 में करौली को अपनी राजधानी बनाया गया था।
1327 में अर्जुन पाल यादव ने मुसलमानों से दुर्ग को पुनः जीत लिया अर्जुन पाल ने ही 1348 में कल्याणपुर नगर बसाया था जो वर्तमान में करौली के नाम से जाना जाता है

प्रश्न-13. जैसलमेर रियासत में किसके काल में 1879 में अंग्रेजों ने जैसलमेर से नमक संधि की थी ?

(अ)- गजसिंह
(ब)- शालीवाहन
(स)- बेरीशाल✔
(द)- रणजीत सिंह
व्याख्या- इनके काल में 1879 में अंग्रेजों ने जैसलमेर से नमक संधि की थी इस नमक संधि के तहत नमक उत्पादन पर अंग्रेजों का अधिकार हो गया महारावल बैरीशाल के काल में 1888 में जैसलमेर में प्रथम ब्रिटिश डाकखाना खोला गया था

प्रश्न-14. भाटी वंश के किस शासक के अल्प वयस्क होने के कारण शासन संचालन एक प्रबंध कौंसिल को सौंपा गया था ?

(अ)- गिरधारी सिंह
(ब)- श्याम सिंह✔
(स)- जवाहर सिंह
(द)- विजय राज
व्याख्या- श्याम सिंह लाठी के ठाकुर कुशाल सिंह के नाबालिग पुत्र थे उनका नाम शालीवाहन रखा गया शालीवाहन के अल्प व्यस्क होने के कारण शासन संचालन एक प्रबंध कौंसिल को सौंपा गया 1908 में जैसलमेर का शासन शालीवाहन को दिया गया इनके काल में जैसलमेर रियासत में 1895 से 1900 तक भयंकर अकाल पड़ा जिसमें रियासत द्वारा राहत कार्य शुरू किए गए 1895 से 1900 में पड़े भयंकर अकाल को छपन्या का अकाल के नाम से जाना जाता है जैसलमेर रियासत ने अंग्रेजों से ₹50000 का ऋण लिया था

प्रश्न-15. किस भाटी शासक ने आंग्ल अफगान युद्ध में अंग्रेजो का साथ दिया था ?

(अ)- मंगल राव
(ब)- देवराज भाटी
(स)- गज सिंह✔
(द)- भोज देव

व्याख्या- गजसिंह महारावल मूलराज का पुत्र था गज सिंह के अल्प व्यस्क होने के कारण शासन का कार्यभार दीवान सालिमसिंह के हाथों में था। गजसिंह ने 1832 में डाकुओं के विरुद्ध सैनिक अभियान किया था महारावल गजसिंह ने आंग्ल-अफगान युद्ध में अंग्रेजो का साथ दिया 1843-44 में अंग्रेजों ने इस सहायता के बदले में घड़सिया, शाहगढ़ तथा घोटारू क्षेत्र महारावल गजसिंह को उपहार स्वरूप दिए थे

Specially thanks to Post and Quiz Creator ( With Regards )

ममता शर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *