RAS GEOGRAPHY QUIZ 31 ( राजस्थान का भूगोल )

RAS GEOGRAPHY QUIZ 31 ( राजस्थान का भूगोल )

 

प्रश्न-1.. मिट्टी में खारापन और क्षारीयता की समस्या का समाधान है??
(अ)- शुष्क कृषि विधि
(ब)- खेतों में जिप्सम का उपयोग
(स)- वृक्षारोपण
(द)- समोच्च रेखाओं के अनुसार कृषि
ब- खेतों में जिप्सम का उपयोग(क्षारीय मिट्टी को सुधारने हेतु जिप्सम फास्फो जिप्सम और अम्लीय मिट्टियों में चूना पत्थर गंधक का अम्ल पाइराइट आदि रसायनों का उपयोग किया जाता है ✅⚜

प्रश्न-2.. राजस्थान के किस प्रदेश में एंटीसोल समूह की समृद्धि मिलती है??
(अ)- पूर्वी
(ब)- पश्चिमी
(स)- दक्षिणी
(द)- दक्षिणी पूर्वी
ब- पश्चिमी(पश्चिमी राजस्थान के लगभग सभी जिलों में एंटीसोल समूह की मृदा पाई जाती है इसका रंग प्राय हलका पीला भूरा होता है ✅⚜

प्रश्न-3.. वह कौन सी प्रक्रिया है जिसमें पश्चिमी राजस्थान की मिट्टियां अम्लीय और क्षारीय बन जाती है??
(अ)- ऊपरी सतह से नीचे की ओर रिसाव
(ब)- नीचे से ऊपर की ओर कोशिकाओं द्वारा रिसाव
(स)- जल प्रवाह
(द)- उपलक्षण( घुलकर बहना)
ब- नीचे से ऊपर की ओर कोशिकाओं द्वारा रिसाव✅⚜

प्रश्न-4.. सेम किस स्थिति से संबंधित है??
(अ)- रेत/बालू के टिलों का निर्माण
(ब)- पारिस्थितिकी में परिवर्तन
(स)- मिट्टी/मृदा का अपरदन/ कटाव
(द)- वनीयकटाव
ब- पारिस्थितिकी में परिवर्तन✅⚜

प्रश्न-5.. राजस्थान में बेकार भूमि का क्षेत्र जिस जिले में सबसे अधिक पाया जाता है वह है??
(अ)- जालौर
(ब)- बाड़मेर
(स)- पाली
(द)- जैसलमेर
द- जैसलमेर✅⚜

प्रश्न-6.. राजस्थान में भूमि की उर्वरता बढ़ाने के लिए कौन सी फसल उगाई जाती है??
(अ)- गेहूं
(ब)- चावल
(स)- उड़द
(द)- गन्ना
स- उड़द✅⚜

प्रश्न-7.. हाड़ौती पठार की मिट्टी है??
(अ)- कछारी जलोढ़
(ब)- लाल
(स)- भूरी
(द)- मध्यम काली
द- मध्यम काली(राजस्थान राज्य के हाडोती प्रदेश के अंतर्गत आने वाले दक्षिणी पूर्वी जिला कोटा बूंदी बाराँ और झालावाड़ में मध्यम काली मिट्टी पाई जाती है इस मिट्टी का रंग गहरा भूरा मटियार और दोमट की तरह होता है इस मिट्टी संवर्ग में सामान्यता फॉस्फेट नाइट्रोजन और जैविक पदार्थों की कमी मिलती है लेकिन पोटाश और कैल्शियम की मात्रा भरपूर होती है यह मृदाएं कृषि प्रबंध पद्धतियों के अनुरूप व्यवहार करती है और व्यापारिक फसलों जैसे कपास गन्ना की अच्छी पैदावार के लिए सर्वोत्तम मिट्टी में से एक है

इस क्षेत्र की मिट्टियों को सतही रंग के आधार पर पुनः तीन वर्गों में बांट सकते हैं—
1-भारी मृदा
2-मध्यम भारी मृदा
3-गहरी मध्यम भारी मृदा ✅⚜

प्रश्न-8.. राज्य और राष्ट्रीय लैंड यूज़ बोर्ड तथा राष्ट्रीय लैंड रिसोर्सेज कंजर्वेशन व डेवलपमेंट कमीशन जिन समस्याओं से मुख्य से जुड़े हुए हैं उनका संबंध है??
(अ)- अंतर्राज्यीय जल विवादों से
(ब)- बंजर भूमि के उचित उपयोग से
(स)- खेती योग्य भूमि की पहचान और उसके विकास से
(द)- भूमि और मिट्टी के क्षरण व अपकर्षण से
ब- बंजर भूमि के उचित उपयोग से(राज्य व राष्ट्रीय लैंडयूज बोर्ड और राष्ट्रीय लैंड रिसोर्सेज कंजर्वेशन ऑफ डेवलपमेंट कमीशन जी समस्याओं से जुड़े हुए हैं उनका संबंध बंजर भूमि के उचित उपयोग से है ✅⚜

प्रश्न-9.. राजस्थान में शासन की भूमि सुधार नीति का सर्वाधिक महत्वपूर्ण उद्देश्य कौन सा रहा??
(अ)- कृषि पैदावार में वृद्धि
(ब)- जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए आधारित संरचना में सुधार
(स)- ग्रामीण क्षेत्रों में निर्धनता निवारण
(द)- शोषण व सामाजिक अन्याय के समस्त तत्वों का विलोपन
द- शोषण व सामाजिक अन्याय के समस्त तत्वों का विलोपन✅⚜

प्रश्न-10.. कपास की फसल के लिए राज्य में कौन सी मिट्टी का क्षेत्र अधिक उपयुक्त है??
(अ)- गहरी मध्यम भूरी मिट्टी क्षेत्र
(ब)- मध्यम काली मिट्टी क्षेत्र
(स)- मिश्रित लाल और काली मिट्टी क्षेत्र
(द)- लाल लोमी मिट्टी क्षेत्र
ब- मध्यम काली मिट्टी क्षेत्र✅⚜

प्रश्न-11.. राजस्थान में भूरी मिट्टी का क्षेत्र है??
(अ)- बनास नदी का प्रवाह क्षेत्र
(ब)- अरावली के दोनों तरफ के भाग
(स)- हाड़ौती पठार
(द)- राजस्थान का दक्षिणी भाग
अ- बनास नदी का प्रवाह क्षेत्र✅⚜

प्रश्न-12.. राज्य के सर्वाधिक क्षेत्र पर निम्न में से कौन सी मिट्टी पाई जाती है??
(अ)-एरिडीसोल्स व अल्फीसोल्स
(ब)-एरिडीसोल्स व एंटीसोल्स
(स)-वर्टीसोल्स व अल्फीसोल्स
(द)- उपरोक्त में से कोई नहीं
अ-एरिडीसोल्स व अल्फीसोल्स(राजस्थान राज्य के सर्वाधिक क्षेत्र पर एरिडीसोल्स और अल्फीसोल्स मिट्टियां पाई जाती है एरिडीसोल्स राजस्थान की शुष्क जलवायु में पाई जाने वाली मृदा आएं हैं यह मिट्टी राज्य के सीकर चूरु झुंझुनू नागौर पाली और जालौर जिले के कुछ क्षेत्रों में विस्तृत है अल्फीसोल्स मिट्टियों में और अरमिलिक संस्तर उपस्थित होते हैं जिनमें उपनिषदों की तुलना में मटियारी मिट्टी की प्रतिशत मात्रा अधिक होती है इस प्रकार की मिट्टियों से ढका हुआ क्षेत्र राज्य के जयपुर सवाई माधोपुर अलवर दोसा भरतपुर भीलवाड़ा टू राजसमंद बांसवाड़ा चित्तौड़गढ़ उदयपुर डूंगरपुर बूंदी बाराँ कोटा और झालावाड जिलों में पाया जाता है ✅⚜

प्रश्न-13.. मिट्टी के आवश्यक तत्व माने जाते हैं आई??
(अ)- कंकड़ और पत्थर
(ब)- लोहांश और दोमट
(स)- जीवांश और खनिज लवण
(द)- बालू और चिका
स- जीवाश्म और खनिज लवण(जो आदमी और खनिज लवण मिट्टी के आवश्यक तत्व माने जाते हैं ✅⚜

प्रश्न-14.. पश्चिमी राजस्थान की रेतीली बालू मिट्टी में बालू का प्रतिशत पाया जाता है??
(अ)-90-95%
(ब)-50-55%
(स)-60-65%
(द)-70-75%
अ-90-95%✅⚜

प्रश्न-15.. लाल रेतीली मिट्टी राजस्थान के किस क्षेत्र में मिलती है??
(अ)- पूर्वी मैदान में
(ब)- दक्षिण पूर्वी में
(स)- अरावली प्रदेश में
(द)- राजस्थान बांगर में
द- राजस्थान बांगर में(लाल रेतीली मिट्टी का विस्तार राज्य में जोधपुर नागौर पाली जालौर और चूरु और झुंझुनू के कुछ भागों में है नई धारण की अपेक्षाकृत अधिक क्षमता के कारण यह कृषि के लिए उपयुक्त है ✅⚜

प्रश्न-16.. मिट्टी को रेंगती हुई मृत्यु से क्या तात्पर्य है??
(अ)- अपरदन और अपक्षरण की समस्या
(ब)- जीवाणुओं के मरने की समस्या
(स)- खनिज तत्वों के कमी की समस्या
(द)- मिट्टी में ह्युमस की कमी
अ-अपरदन और अपक्षरण की समस्या(मिट्टी अपरदन और अपक्षरण की समस्या को रेंगती हुई मृत्यु की संज्ञा दी जाती है प्राकृतिक और मानव शक्तियों द्वारा किसी प्रदेश के मिट्टी आवरण को नष्ट करने की प्रक्रिया को मृदा अपरदन कहा जाता है इस प्रक्रिया में प्रवाहित जल और हवा की मुख्य भूमिका होती है प्राकृतिक वनस्पति का विध्वंस अत्यधिक चराई और असंगत तरीकों से की गई खेती के फलस्वरुप मृदा अपरदन होता है जिस के कुप्रभाव से राज्य के कई भाग ग्रस्त हैं इनमें से जल द्वारा मिट्टी अपरदन क्षेत्र में चंबल की उत्खनात स्थलाकृति वाला क्षेत्र है इसके अतिरिक्त अपरदन में राज्य का उत्तर पश्चिमी भाग प्रमुख है यह पारिस्थितिकी तंत्र को अत्यधिक क्षतिग्रस्त करके मरुस्थलीकरण की प्रक्रिया को प्रोत्साहित करते हैं ✅⚜

प्रश्न-17.. शुष्क खेती कितने सेमी.वार्षिक वर्षा वाले क्षेत्रों में की जाती है??
(अ)- 50 मिली मीटर से कम
(ब)- 50 सेमी से कम
(स)- 50 इंच से कम
(द)- 150 सेमी से अधिक
ब- 50 सेमी से कम✅⚜

प्रश्न-18.. लाल और पीली मिट्टी राज्य के किन जिलों में पाई जाती है??
(अ)- पाली अजमेर डूंगरपुर
(ब)- सवाई माधोपुर भीलवाड़ा अजमेर
(स)- अलवर भरतपुर जयपुर
(द)- उदयपुर चित्तौड़ बूंदी
ब- सवाई माधोपुर भीलवाड़ा अजमेर(कार्बोनेट और ह्युमस की कमी वाली लाल और पीली मिट्टी का वितरण राज्य में सवाई माधोपुर टोंक अजमेर भीलवाड़ा पाली और सिरोही राज्य में मिलता है इन मिट्टियों का लाल और पीला रंग लोहा ऑक्साइड के जलयोजन की उच्च मात्रा के कारण है इन भागों में चीका और दोमट दोनों प्रकार की मिट्टियां पाई जाती है इस मिट्टी का मान 5.5 से 8.5 के बीच है ✅⚜

प्रश्न-19.. जोधपुर में मरुस्थल वृक्षारोपण और अनुसंधान केंद्र खोला गया??
(अ)- 1952
(ब)- 1955 में
(स)- 1941 में
(द)- 1957
अ-1952✅⚜

प्रश्न-20.. मृदा की उर्वरा शक्ति को बनाए रखने के लिए कौन सी खाद प्रयुक्त की जाती है??
(अ)- यूरिया खाद
(ब)- गोबर और हरी खाद
(स)- हड्डी और खली की खाद
(द)- अमोनिया सल्फेट
ब- गोबर और हरी खाद✅⚜

प्रश्न-21. राजस्थान में बीहड़ भूमि का सर्वाधिक विस्तार किन जिलों में है.??
(अ)- कोटा और सवाई माधोपुर
(ब)- जयपुर और दौसा
(स)- धौलपुर और भरतपुर
(द)- भरतपुर और अलवर
अ- कोटा और सवाई माधोपुर(राज्य में सर्वाधिक बीहड़ भूमि का विस्तार कोटा जिले में 1.32 हेक्टेयर उसके पश्चात सवाई माधोपुर जिले में 1.30 लाख हेक्टेयर है ✅⚜

प्रश्न-22.. चंबल और माही बेसिन में पाई जाने वाली मिट्टी है??
(अ)-भूरी बलुई
(ब)- लाल काली मिट्टी
(स)- भूरी मटियार दोमट
(द)- लाल दोमट
ब- लाल काली मिट्टी✅⚜

प्रश्न-23.. राज्य की मिट्टियों में प्राय कमी पाई जाती है??
(अ)- कच्छारी जमाव की
(ब)- फास्फोरस व नेत्रजन की
(स)- चुने और गंधक की
(द)- खनिज पदार्थों और बालू की
ब- फास्फोरस व नेत्रजन की✅⚜

प्रश्न-24.. किन राज्यों की सीमाओं पर चंबल द्वारा भयंकर कटाव होता है?
(अ)- राजस्थान पंजाब
(ब)- राजस्थान मध्य प्रदेश
(स)- राजस्थान गुजरात
(द)- राजस्थान हरियाणा
ब- राजस्थान और मध्यप्रदेश✅⚜

प्रश्न-25.. मिट्टी की उर्वरता और उत्पादकता को प्रभावित करने वाला मुख्य कारक है??
(अ)- जैविक तत्व
(ब)- मिट्टी का स्वरूप
(स)- मिट्टी निर्माण की अवधि
(द)- अजैविक तत्व
अ- जैविक तत्व(मिट्टी की उर्वरता और उत्पादकता को प्रभावित करने वाला मुख्य कारक जैविक तत्व है राज्य में मिट्टी अवक्रमण की समस्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है
मिट्टी अवक्रमण से तात्पर्य-मिट्टी द्वारा अपने जैविक तत्व भौतिक बनावट और रासायनिक संरचना को देने से उस की उर्वरा शक्ति में कमी आने की प्रक्रिया से है
राज्य में मिट्टी अवक्रमण के निम्नलिखित कारण हैं—–
1- रासायनिक आणविक और अन्य उच्च क्षमता वाले विस्फोटकों का प्रयोग
2- वन विनाश और अतिवृष्टि तथा तेज अंधड़ से भू अपरदन
3- रंगाई छपाई उद्योगों के रासायनिक तत्वों का बहाव
4- भूमि में रासायनिक उर्वरकों कीटनाशकों और दवाइयों का लगातार प्रयोग
5- भू-क्षरण द्वारा मिट्टी की ऊपरी सतह का नष्ट होना
6- महानगरों का कूड़ा करकट अपशिष्ट पदार्थ और मल मूत्रों का एक ही स्थान पर जमा हो जाना और इनमें मिलने वाले कांच चीनी मिट्टी कागज पॉलिथीन रसायन और रसोई का कचरा
7- लवणीय और क्षारीय समस्या भी जो भ्रमण के लिए उत्तरदाई है
8-ईद और चूने के भट्टो उद्योगों और ताप बिजली संयंत्रों से निकले हुए धुएे व राख आदि सभी मिट्टी पर प्रतिकूल प्रभाव डालते हैं ✅⚜

 

Quiz Winner- रामनारायण जी चूरु, ओम प्रकाश जी पन्नू बाड़मेर 

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

ममता शर्मा कोटा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.