RAS HISTORY QUIZ 19 ( राजस्थान का इतिहास – गुर्जर प्रतिहार वंश )

RAS HISTORY QUIZ 19

( राजस्थान का इतिहास – गुर्जर प्रतिहार वंश )

 

प्रश्न-1.. आभानेरी और राजोर गढ़ के कलात्मक वैभव किस काल के हैं??
(अ)- गुर्जर प्रतिहार
(ब)- चौहान
(स)- गुहिल सिसोदिया
(द)- राठौड़

अ- गुर्जर प्रतिहार✅⚜

प्रश्न-2.. प्रतिहार वंश का अंतिम शासक था??
(अ)- यशपाल
(ब)- राज्यपाल
(स)- महेन्द्र पाल द्वितीय
(द)- महिपाल

अ- यशपाल✅⚜

प्रश्न-3.. महान संस्कृत कवि और नाटककार राजशेखर निम्न में से किसके दरबार से संबंधित था??
(अ)- राजा भोज
(ब)- महिपाल
(स)- महेंद्रपाल प्रथम
(द)- इंद्र तृतीय

स- महेंद्रपाल प्रथम✅⚜

प्रश्न-4.. प्रतिहार शिलालेखों में पदाधिकारियों का उल्लेख यह आता है??
(अ)- राजपुरुष
(ब)- युवराज
(स)- मंत्री
(द)- रतनि

अ- राजपुरुष✅⚜

प्रश्न-5.. राजस्थान में प्रतिहार वंश के संस्थापक हरिश्चंद्र की राजधानी थी??
(अ)- मेड़ता
(ब)- जालौर
(स)- भीनमाल
(द)- मंडोर

द- मंडोर✅⚜

प्रश्न-6.. इतिहासकार आर सी मजूमदार के अनुसार गुर्जर प्रतिहारों ने कितनी शताब्दी तक अरब आक्रमणकारियों के लिए बाधक का काम किया??
(अ)- दूसरी शताब्दी से चौथी शताब्दी तक
(ब)- तीसरी शताब्दी से पांचवी शताब्दी तक
(स)- छठी शताब्दी से बारहवीं शताब्दी तक
(द)- 12 वीं शताब्दी से 15वीं शताब्दी तक

ब- तीसरी शताब्दी से पांचवी शताब्दी तक✅⚜

प्रश्न-7.. नाग भट्ट प्रथम निम्नलिखित में से किस राजवंश से संबंधित है??
(अ)- परमार
(ब)- गुर्जर प्रतिहार
(स)- चौहान
(द)- चालुक्य

ब- गुर्जर प्रतिहार✅⚜

प्रश्न-8.. किस प्रतिहार राजा के काल में प्रसिद्ध ग्वालियर प्रशस्ति की रचना की गई??
(अ)- भोज प्रथम
(ब)- रामभद्र
(स)- वत्सराज
(द)- भोज द्वित्तीय

अ- भोज प्रथम✅⚜

प्रश्न-9.. मंडोर के प्रतिहार माने जाते हैं??
(अ)- ब्राह्मण
(ब)- वैश्य
(स)- शूद्र
(द)- क्षत्रिय

द- क्षत्रिय✅⚜

प्रश्न-10.. चीनी यात्री जिसने भीनमाल की यात्रा की थी??
(अ)- फाह्यान
(ब)-सुंगयुन
(स)-ह्वेनसांग
(द)- इत्सिंग

स-ह्वेनसांग✅⚜

प्रश्न-11.. निम्नलिखित में से किस प्रतिहार राजा ने आदिवराह की उपाधि ग्रहण की??
(अ)- मिहिर भोज
(ब)- नागभट्ट
(स)- वत्सराज
(द)- महिपाल

अ- मिहिर भोज✅⚜

प्रश्न-12.. जोधपुर के निकट ओसिया के मंदिरों का समूह है जिस की देन है वह हैं??
(अ)- राठौड़
(ब)- गहलोत
(स)- चौहान
(द)- प्रतिहार

द- प्रतिहार✅⚜

प्रश्न-13.. गुर्जरों को किस शासक ने पराजित किया??
(अ)- प्रभाकर वर्धन
(ब)- राज्यवर्धन
(स)- हर्षवर्धन
(द)- शशांक

अ- प्रभाकर वर्धन✅⚜

प्रश्न-14.. गुर्जर प्रतिहार शासक इस नाम से भी जाने जाते हैं??
(अ)- आर्य
(ब)- ब्राह्मण
(स)- वैश्य
(द)- अग्निकुंड राजपूत

द- अग्निकुंड राजपूत✅⚜

प्रश्न-15.. प्रतिहार और पाल शासकों पर अपनी विजय की खुशी में ध्रुव ने गंगा और जमुना के चिन्हों को सम्मिलित किया??
(अ)- राष्ट्रकूट कुल चिह्न में
(ब)- चंदेल कुल चिह्न में
(स)- चोला कुल चिह्न में
(द)- फाल्गुन चिह्न में

अ- राष्ट्रकुट कुल चिह्न✅⚜

प्रश्न-16.. गुर्जर प्रतिहार पाल एवं राष्ट्रकूट शासन केंद्रीय राजतंत्र नहीं थे??
(अ)- सही है
(ब)- गलत है
(स)- पता नहीं
(द)- भ्रमित है

ब- गलत है✅⚜

प्रश्न-17.. मुहणोत नैंसी ने गुर्जर प्रतिहारों की कितनी शाखाओं का वर्णन किया है??
(अ)- 22 शाखाओं का
(ब)- 24 शाखाओं का
(स)- 26 शाखाओं का
(द)- 28 शाखाओं का

स- 26 शाखाओं का✅⚜

प्रश्न-18.. प्रतिहार राजा नागभट्ट प्रथम की राजधानी कौन सी नगरी थी??
(अ)- उज्जैन
(ब)- मेड़ता
(स)- जोधपुर
(द)- जालौर

अ- उज्जैन✅⚜

प्रश्न-19.. राजस्थान में प्रतिहारों की सबसे प्राचीन और महत्वपूर्ण शाखा थी??
(अ)- मंडोर
(ब)- उज्जैन
(स)- जालौर
(द)- बूंदी

अ- मंडोर✅⚜

प्रश्न-20.. वह गुर्जर प्रतिहार शासक जिसने कन्नौज विजय के उपलक्ष में परम भट्टारक महाराजाधिराज परमेश्वर की उपाधि धारण की थी??
(अ)- वत्सराज
(ब)- नागभट्ट प्रथम
(स)- नागभट्ट द्वितीय
(द)- मिहिर भोज

स- नागभट्ट द्वितीय✅⚜

प्रश्न-21.. प्रतिहार शासक महेंद्रपाल प्रथम और महिपाल का दरबारी कवि था??
(अ)-कल्हण
(ब)-विल्हण
(स)- हरिभद्र
(द)- राजशेखर

द- राजशेखर✅⚜

प्रश्न-22.. प्रतिहार शासकों में रोहिलध्दि के नाम से जाना जाता था??
(अ)- हरिश्चंद्र
(ब)- मिहिरभोज
(स)- महेंद्र पाल
(द)-रज्जिल

अ- हरीश चंद्र✅⚜

प्रश्न-23.. निम्नांकित में से किस विदेशी यात्री ने गुर्जर प्रतिहार राजवंश की सैन्य शक्ति और समृद्धि का उल्लेख किया है??
(अ)- अब्दुल रज्जाक
(ब)- अलबरूनी
(स)- सुलेमान
(द)- मार्को पोलो

स- सुलेमान✅⚜

प्रश्न-24.. राजशेखर के किस ग्रंथ से प्रकट होता है कि राजशेखर महेंद्र पाल का गुरु भी था??
(अ)- हरविलास
(ब)- बाल रामायण
(स)- कर्पूरमंजरी
(द)- काव्यमीमांसा

स- कर्पूरमंजरी✅⚜

प्रश्न-25.. निम्न में से किस अभिलेख में विजय पाल को क्षितिपाल देव का पुत्र बताया गया है??
(अ)- राजौर अभिलेख
(ब) सियोडोनी अभिलेख
(स)- पिहोवा अभिलेख
(द)- कहला अभिलेख

अ- राजौर अभिलेख(राजूर अभिलेख में इसे क्षितिपाल देव का पुत्र बताया गया है इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि यह महेंद्र पाल द्वितीय का पुत्र और देवपाल का भाई था इसके शासन काल की तिथि उसी अभिलेख में 950 ईसवी मिलती है g h ओझा महोदय का मत है कि देवपाल की मृत्यु उसके सामंत गोहिल नरेश अलर्ट के हाथों हुई थी यदि यह ठीक है तो विजयपाल एक संकटपूर्ण स्थिति में राजा बना था महेंद्र पाल तिथि के पश्चात गुर्जर साम्राज्य की निरंतर उन्नति होती रहे विजयपाल के समय तक आते-आते गुर्जर साम्राज्य कई भागों में बट गया और प्रत्येक भाग में स्वतंत्र राजवंश शासन करने लगा

सियोडोनी अभिलेख- इस अभिलेख से ज्ञात होता है कि क्षितिपाल (महेंद्र पाल )के पश्चात उसका पुत्र देवपाल सिंहासन पर बैठा यही शिलालेख आगे कहता है कि यशोवर्मन ने कालिंजर पर अधिकार कर लिया था सियोडोनी अभिलेख जोकि देवपाल का अभिलेख है 948 में मिला वह परम भट्टारक महाराजाधिराज और परमेश्वर के विरूद से विभूषित था

पिहोवा अभिलेख-यह अभिलेख 882(हरियाणा) का है इस अभिलेख से सिद्ध होता है कि भोज देव के शासनकाल में कुछ व्यापारियों ने वहां के बाजार में घोड़ों का क्रय विक्रय किया था इस कथन से सिद्ध हो जाता है कि हरियाणा पर भोज का अधिकार था

कहला अभिलेख-यह अभिलेख कलचुरी वंश से संबंधित है इस अभिलेख का कथन है कि कलचुरी वंश के राजा गुणामबोधि देव को भोज देव ने भूमि प्रदान की थी अधिकांश विद्वानों के मतानुसार यह भोज देव मिहिर भोज था इस लेख से स्पष्ट हो जाता है कि कलचुरि वंश भोज के अधीन था ✅⚜

 

Quiz Winner- तोगेश कुमार जी बाड़मेर, रमेश जी हुड्डा जोधपुर

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

ममता शर्मा -कोटा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.