Water Flow System of India Questions

Water Flow System of India Questions

भारत का जल प्रवाह तंत्र

प्रश्न=1- भौगोलिक दृष्टि से भारत के प्रवाह तंत्र को कितने भागों में बांटा गया है 
【अ】3 ✔ 
【ब】5
【स】4
【द】2

व्याख्या:- भौगोलिक दृष्टि से भारत के प्रवाह तंत्र को तीन मुख्य भागों में बांटा गया है प्रथम हिमालय प्रभात तंत्र या उत्तरी भारत की नदियां द्वितीय प्रायद्वीपीय अपवाह तंत्र अथवा दक्षिण भारत की नदियां तृतीय अंतः प्रवाह तंत्र। 

प्रश्न=2- सतलज नदी मैदानी भागों में कहां से प्रवेश करती है 
【अ】रोपड़ के निकट से ✔ 
【ब】हरिद्वार से
【स】देहरादून से
【द】शिमला

व्याख्या:-  सतलज नदी मानसरोवर झील के निकट राक्षस ताल से निकलकर पर्वती क्षेत्र को पार करने के बाद पंजाब में रोपड़ के निकट मैदानी भाग में प्रवेश करती है वहीं भाखड़ा बांध बनाया गया है। 

प्रश्न=3- अलकनंदा एवं भागीरथी नदियां किस जगह मिलती हैं 
【अ】देवप्रयाग ✔ 
【ब】प्रयाग
【स】ऋषिकेश
【द】हरिद्वार

व्याख्या:-   देवप्रयाग में अलकनंदा और भागीरथी नदियां मिलकर गंगा नदी बनती हैं 

प्रश्न=4- यमुना नदी, गंगा में किस स्थान पर मिलती है 
【अ】देवप्रयाग
【ब】प्रयाग ✔ 
【स】ऋषिकेश
【द】हरिद्वार

व्याख्या:- यमुना नदी इलाहाबाद के निकट गंगा में मिलती है जो संगम या प्रयाग के नाम से जाना जाता है 

प्रश्न=5- ब्रह्मपुत्र नदी कैलाश पर्वत से निकलकर हिमालय के पूर्वी छोर तक प्रवाहित होती है, इसकों भारत में प्रवेश करने से पूर्व किस नाम से जाना जाता है 
【अ】दीवांग
【ब】लुहित
【स】सांपो ✔ 
【द】कपिली
 
प्रश्न=6- कौन सी नदी बिहार में मार्ग परिवर्तन के लिए प्रसिद्ध है जिसे बिहार का शोक भी कहते हैं 
【अ】गण्डक
【ब】दामोदर
【स】कोसी ✔ 
【द】हुगली

व्याख्या:- स कोसी नदी में मार्ग परिवर्तन व बाढ़ की घटनाएं अक्सर होने से काफी जनधन की हानि होती है अतः इसे बिहार का शोक कहते हैं 

प्रश्न=7- कौन सी नदी पश्चिम बंगाल में बाढ़ के प्रकोप पर मार्ग परिवर्तन के लिए कुख्यात है 
【अ】गण्डक
【ब】दामोदर ✔ 
【स】कोसी
【द】हुगली
 
प्रश्न=8- कपिलधारा दुधधारा सहस्त्रधारा धुआंधार घाघरी व हिरण प्रपात किस नदी पर स्थित है 
【अ】गण्डक
【ब】दामोदर
【स】कोसी
【द】नर्मदा ✔ 

व्याख्या:- द नर्मदा मेकल पर्वत में अमरकंटक चोटी से निकलकर संकीर्ण भ्रंश घाटी में बहती हुई कई प्रपात बनाती है जो निम्न है कपिलधारा दूध धारा सहस्त्रधारा धुआंधार घघरी व हिरन प्रपात प्रसिद्ध है 

प्रश्न=9- निम्नांकित में से कौन सी नदी बंगाल की खाड़ी में नहीं गिरती है 
【अ】दामोदर
【ब】गोदावरी
【स】ताप्ती ✔ 
【द】कृष्णा

व्याख्या:➖ ताप्ती नदी अरब सागर में गिरती है 

प्रश्न=10- निम्नांकित में से कौन सी नदी अरब सागर प्रवाह की नहीं है 
【अ】साबरमती
【ब】कावेरी ✔ 
【स】शरावती
【द】बांडी

व्याख्या:➖  कावेरी नदी बंगाल की खाड़ी में गिरती है 

प्रश्न=11- कथन A – प्रायद्वीप पठार की अधिकांश नदियां बंगाल की खाड़ी में गिरती है
कथन B – प्रायद्वीपीय पठार पूर्व की ओर झुका है  
【अ】 कथनA सत्य है
【ब】 कथनB सत्य है
【स】 दोनों कथन सत्य है ✔ 
【द】दोनों कथन असत्य हे

प्रश्न=12. हिमालय तंत्र की नदियों को कितने अपवाह मैं बाटा गया है
(1) 4
(2) 2
(3) 3 ✔ 
(4) 5

प्रश्न=13. सतलज नदी का उद्गम स्थल है
(1) शेषनाग झील
(2) राक्षस ताल ✔
(3) वूलर झील
(4) व्यास कुंड

प्रश्न=14. भाखड़ा नांगल बांध किस नदी पर बना है
(1) सतलज नदी ✔ 
(2) रावी नदी
(3) गंगा नदी
(4) यमुना नदी

प्रश्न=15 गंगा किन जल धाराओं से मिलकर बनी है
(1)चंद्रा व भागा
(2)भागीरथी
(3)अलकनंदा
(4) 2 or 3 दोनों ✔ 

प्रश्न=16. प्रयाग में किन नदियों का संगम होता है
(1) सतलज सिंधु
(2) गंगा यमुना ✔ 
(3) गंगा ब्रह्मपुत्र
(4) काली ब्रह्मपुत्र.

प्रश्न=17. दूध धारा जलप्रपात संबंधित है
(1) कृष्णा नदी
(2) ताप्ती नदी
(3) नर्मदा नदी ✔ 
(4) महानदी

प्रश्न=18. राजस्थान की एकमात्र नदी जो हिमालय से निकलती है
(1) चंबल
(2) बनास
(3) घग्घर ✔ 
(4) लूनी

प्रश्न=19 भारत में अंतः प्रवाह क्षेत्र वीस्तृत है
(1) उत्तरी भाग में
(2) उत्तर पश्चिम भाग में ✔ 
(3)  दक्षिण भाग में
(4) दक्षिण पश्चिम भाग

प्रश्न=20. किस प्रवाह तंत्र को शिवालिक नदी भी कहा जाता है ?
(अ) सिंधु- ब्रह्मापुत्र प्रवाह तंत्र ✔ 
(ब) गंगा- ब्रह्मपुत्र प्रवाह तंत्र
(स) सिंधु- गंगा प्रवाह तंत्र
(द) सिंधु – सतलज प्रवाह तंत्र
 
व्याख्या:- भारत की कई नदियों के मार्ग में समय-समय पर परिवर्तन होते हैं इनमें सबसे रोचक परिवर्तन सिंधु- ब्रह्मापुत्र प्रवाह तंत्र से संबंधित है यह नदी तंत्र जिसे शिवालिक नदी भी कहा गया असम के उत्तरी पूर्वी भाग से निकलकर हिमालय के समानांतर पश्चिम की ओर बहती हुई सुलेमान की श्रेणियां तक जाकर दक्षिण की ओर प्रवाहित होती हुई अरब सागर में गिरती है

प्रश्न=21. मार्ग परिवर्तन के लिए जानी जाती है ?
(अ) ब्रह्मा पुत्र
(ब) गंगा
(स) कोसी
(द) उपरोक्त सभी ✔ 
 
व्याख्या:- इंडो ब्रह्मा या शिवालिक नदी का उत्तर पश्चिम भाग सिंधु के रूप में तथा पूर्वी भाग ब्रह्म पुत्र व अन्य नदियों के रूप में अलग हो गया है इसी प्रकार सरस्वती नदी का प्रवाह भी कालांतर में लुप्त हो गया ब्रह्मा पुत्र गंगा कोसी आदि नदियां ने पिछली दो शताब्दियों में अपने मार्ग में कई बार परिवर्तन किए हैं

प्रश्न=22. भारत को कितने जल प्रवाह क्षेत्र में विभाजित किया गया है 
(अ) दो
(ब) तीन ✔ 
(स) चार
(द) पांच

व्याख्या:- किसी प्रदेश के जल प्रवाह को विशिष्ट दिशाओं में विभाजित करने वाले चित्र को जल विभाजक कहते हैं भारत को तीन प्रमुख जल प्रवाह क्षेत्र में विभाजित करती है
1. अरब सागर का प्रवाह क्षेत्र
2. बंगाल की खाड़ी का प्रवाह क्षेत्र
3.अंत प्रवाह क्षेत्र
यह जल विभाजक रेखा हिमालय के निकट मानसरोवर झील से प्रारंभ होकर कामेत पर्वत होती हुई शिमला की पूर्व से अरावली के साथ-साथ उदयपुर तक जाती है

प्रश्न=23. हिमालय प्रवाह तंत्र मैं कौनसा प्रवाह क्रम नहीं है ?
(अ) सिंधु अपवाह
(ब) गंगा अपवाह
(स) ब्रह्मपुत्र अपवाह
(द) सतलुज अपवाह ✔ 
 
व्याख्या:- उत्तर भारत की अधिकांश नदिया हिमालय पर्वत से निकलती है हिमालय से निकलने वाली नदियां नित्यवाही होती क्योंकि शुष्क काल में भी इनमें हीम का पिघला हुआ जल आता रहता है नदियों को तीन प्रवाह क्रम में विभाजित किया जाता है
1 सिंधु अपवाह
2 गंगा अपवाह
3 ब्रह्मापुत्र अपवाह

प्रश्न=24. सिंधु अपवाह क्षेत्र का कौन सा प्रवाह क्षेत्र पाकिस्तान में स्थित है  
(अ) ऊपरी प्रवाह क्षेत्र
(ब) निचला प्रवाह क्षेत्र ✔ 
(स) मध्य प्रवाह क्षेत्र
(द) पश्चिमी प्रवाह क्षेत्र
 
व्याख्या:- सिंधु अपवाह क्षेत्र में सिंधु व उसकी सहायक नदियां सतलज व्यास रावी चुनाव झेलम सम्मिलित है इसका जल ग्रहण क्षेत्र लगभग साढे ग्यारह लाख वर्ग किलोमीटर है जिसमें से सवा तीन लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्र भारत में है तथा शेष पाकिस्तान में चला गया पाकिस्तान के साथ हुए समझौते के अंतर्गत भारत इसके 42 लाख घन मीटर जल का उपयोग कर सकता है

इसका ऊपरी प्रवाह क्षेत्र भारत में है किंतु इसका निचला प्रवाह क्षेत्र पाकिस्तान में है इस क्रम की सभी नदियां अपनी ऊपरी घाटियों में गार्ज बनाती है सतलज नदी मानसरोवर झील के निकट राक्षस ताल से निकलकर पर्वतीय क्षेत्र को पार करने के बाद पंजाब में रोपड़ के निकट मैदानी भागों में प्रवेश करती है वहां भाखड़ा बांध बनाया गया है

प्रश्न=25. यमुना नदी किस जगह पर गंगा में मिलती है ?
(अ) प्रयागराज ✔ 
(ब) पश्चिम बंगाल
(स) कानपुर
(द) देवप्रयाग
 
व्याख्या:- गंगा नदी का अपवाह क्षेत्र लगभग 8.6 लाख वर्ग किलोमीटर है गंगा नदी का उद्गम गंगोत्री हिमनद से हैं देवप्रयाग में अलकनंदा और भागीरथी में जल धाराएं मिलकर गंगा नदी बनाती है यह हरिद्वार के निकाल मैदानी भाग में प्रवेश करती है

विंध्याचल पर्वत से निकलकर चंबल बेतवा केन आदि अपने सहायक नदियों सहित यमुना में मिलती है यमुना नदी प्रयागराज (इलाहाबाद) के निकट गंगा में मिलती है जो संगम या प्रयाग के नाम से जाना जाता है

प्रश्न=26. ब्रह्मपुत्र अपवाह तंत्र में बाई ओर से मिलने वाली सहायक नदी है ?
(अ) भारेली
(ब) सबन सिरी
(स) मानस
(द) दिवांग ✔ 
 
व्याख्या:- ब्रह्मपुत्र नदी मानसरोवर झील के निकट कैलाश पर्वत से निकलकर पूर्व में बहती हुई हिमालय की पूर्वी छोर तक जाती यहां से सांपों नदी कहते हैं यहां से दक्षिण तथा फिर पश्चिम में मुड़कर यह नदी असम में बहती हुई बांग्लादेश में जाकर गंगा में मिल जाती है इसकी कई सहायक नदियां जैसे दिबांग रोहित आदि इसके विपरीत दिशा में आकर मिलती है

इसके दाहिने किनारे पर मिलने वाली सहायक नदियां भारेली सबनसीरी मानस आदि है दिवांग लूहित कपिली धनसिरि बुरिदिहिंग आदि नदियां बाएं किनारे पर मिलती है इसके प्रवाह में मिट्टी की अधिकता होती है

प्रश्न=27. प्रायद्वीपीय पठार की अधिकांश नदियों का जन्म कहां होता है ?
(अ) पूर्वी घाट
(ब) पश्चिमी घाट✔ 
(स) प्रायद्वीपीय पठार
(द) हिमालय क्षेत्र
 
व्याख्या:- बंगाल की खाड़ी में गिरने वाली नदियों में दामोदर स्वर्णरेखा ब्रह्माणी महानदी गोदावरी भीमा कृष्णा तुम भद्रा पैनर पालर कावेरी वैगई आदि नदियां संबंधित है प्रायद्वीपीय पठार के पूर्व की ओर झुका होने के कारण यह नदियां पूर्व में बहाकर बंगाल की खाड़ी में गिरती है प्रायद्वीपीय पठार की अधिकांश नदिया पश्चिमी घाट में जन्म लेती है तथा जलप्रपात बनाती है

दामोदर नदी बाढ़ के प्रकोप और मार्ग परिवर्तन के लिए कुख्यात है अतः इसे बंगाल का शोक आते हैं महानदी गोदावरी कृष्णा कावेरी नदिया पूर्वी तट पर डेल्टा बनाती है

प्रश्न=28. नर्मदा नदी के समानांतर दक्षिण में कौनसी नदी बहती है ?
(अ) ताप्ती ✔ 
(ब) साबरमती
(स) माही
(द) शरावती
 
व्याख्या:- अरब सागर में गिरने वाली नदियों के क्रम में नर्मदा व ताप्ती सबसे लंबी व प्रमुख नदियां हैं नर्मदा मैकाल पर्वत में अमरकंटक चोटी से निकलकर संकीर्ण भ्रंश घाटी में बहती हुई कई प्रपात बनाती है जैसे कपिलधारा दूध धारा सहस्त्रधारा धुआंधार घागरी व हिरण प्रपात प्रसिद्ध है *नर्मदा के समानांतर दक्षिण में ताप्ती नदी बहती है इनके अतिरिक्त लूनी साबरमती माही सुकड़ी बांडी शरावती आदि नदियां भी अरब सागर में गिरती है

प्रश्न=29. किस प्रवाह तंत्र की नदियां मौसमी है ?
(अ) सिंधु अपवाह तंत्र
(ब) बंगाल की खाड़ी का अपवाह तंत्र
(स) अरब सागरीय अपवाह तंत्र
(द) अंतः प्रवाह क्षेत्र ✔ 
 
व्याख्या:- भारत में अंत प्रवाह क्षेत्र अधिक विस्तृत नहीं है इसका विस्तार केवल राजस्थान में सांभर झील से हरियाणा में घग्गर प्रवाह तक इस क्षेत्र की सभी नदियां मौसमी है जो या तो सांभर व अन्य छोटी-छोटी झीलों में गिरकर समाप्त हो जाती है या मरुस्थल में समा जाती है

प्रश्न=30. बिहार का शोक किस नदी को कहते हैं ?
(अ) कोसी नदी ✔ 
(ब) दामोदर नदी
(स) ब्रह्मपुत्र नदी
(द) गोदावरी नदी
 
व्याख्या:- कोसी नदी में मार्ग परिवर्तन व बाढ़ की घटनाएं अक्सर होने से काफी जन धन की हानि होती है अतः इसे बिहार का शोक कहते हैं

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

विजय पाल बधाल, लाल शंकर पटेल डूंगरपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published.