BSTC EXAM NOTES 05

🎀 जिला- चितोड़गढ़ 🎀
(उप नाम- राज्य का गोरव)

➡ सीमेन्ट का सार्वधिक  उत्पादन करने वाला जिला- चितोड़गढ़
➡ मीरा मन्दिर- चितोड़गढ़
➡ जोहर मैला- चितोड़गढ़
➡ चुलिया जलप्रपात(चबल नदी पर)- चितोड़गढ़
➡ भेसरोगढ़ अभ्यारण-चितोड़गढ़
➡ राज्य का एकमात्र परमाणु शक्ति ग्रह(बिजलीघर)- रावतभाटा(चितोड़गढ़)
➡ राज्य का हृरीदुवार- मातृकुण्डिया, राशमी(चितोड़गढ़)
➡ विजय स्तंभ(महाराणा कुम्भा ने बनाया)- चितोड़गढ़
➡ कीर्ति स्तभ- चितोड़गढ़
➡ दाबु प्रिन्ट- आकोला(चितोड़गढ़)
➡ राज्य की प्रथम निजी क्षेत्र की चीनी मिल- दी मेवाड़ शुगर मिल्स- भोपालसागर(चितोड़गढ़)
➡ एशिया का सबसे बड़ा सुपर जिंक स्मेल्टर- चंदेरिया(चितोड़गढ़)
➡ राज्य का सबसे बड़ा बाँध- राणा प्रताप सागर बाँध(चितोड़गढ़)
➡ व्हेल मछली की तरह दिखने वाला किला- चितोड़गढ़ का किला(चित्रागन मोरिया ने बनाया)

   🎀 मीरा बाई 🎀
🔅 जन्म स्थान- कुडकी गॉव में 1498 में
🔅 गुरु का नाम – रैदास
🔅 बच्चपन में नाम- पेमल
🔅 पिता का नाम- भौजराज
🔅 पति का नाम- मानसिंह

🎀 जिला- चुरू 🎀
➡ काले हिरणो व कुरजा नामक पक्षी की शरण स्थली- तालछापर अभ्यारण
➡ गोगाजी( जोहरपीर, साँपो के देवता ) महाराज का जन्म स्थान- ददरेवा
➡ राज्य के वो दो जिले जहा कोई नदी नही है- बीकानेर और चुरू
➡ राज्य में सबसे कम वन क्षेत्र- चुरू
➡ किस किले के बारे में कहा जाता है कि यहां ठाकुरो ने गौला-बारूद खत्म होने पर दुश्मनो पर चाँदी के गोले दागे थे- चुरू का किला
➡ क्रष्ण मृग के लिये प्रसिद्ध या पाये जाते है_ तालछापर अभ्यारण में


🎀 जिला- धौलपुर 🎀
( उप नाम- रेड डायमण्ड )


➡ लाल पत्थर के लिये प्रसिद्ध जिला धौलपुर
➡ भारत का सबसे बड़ा घण्टाघर- निहालटावर
➡ तीथस्थलो का भांजा- मचकुण्ड(धौलपुर)
➡ हनुहूँकार तोप- धौलपुर
➡ “कमल के फूल का बाग़” जिन का वणन “बाबर की आत्मकथा” ‘तुजके बाबरी’ में भी है- धौलपुर के बाग़
➡ शेरगढ़ का किला- धौलपुर
➡ राज्य का सबसे छोटा जिला- धौलपुर


🎀 जिला- दौसा 🎀

➡ मेहँदीपुर बालाजी का मन्दिर- दौसा
➡ आभानेरी की चाँद बावड़ी किस जिले में है- दौसा
➡ बिजासनी माता का मेला/मन्दिर- खोहरा गॉव(दौसा)
➡ सन्त सुन्दरदास की तपो स्थली-लालसोत(दौसा)
➡ छः स्तंभो पर बनी बंजारो की छतरी- लालसोट(दौसा)


🎀 जिला- डुँगरपुर 🎀
(उप नाम- भीलो की पाल, पहाड़ियों का शहर)

➡ पूर्ण साक्षर प्रथम आदिवासी जिला- डुँगरपुर
➡ भील वीरबाला काली बाई का स्थान_ रास्तापल(डुँगरपुर)
➡ आदिवासियों का कुंम्भ, बागड़ का पुष्कर, बागड़ का कुम्भ,- वेणेश्वरधाम( डूंगरपुर)
➡ विश्व् का एकमात्र मन्दिर जहाँ खण्डित शिवलिंग की पूजा की जाती है- वेणेश्वरधाम( डूंगरपुर)
➡ राज्य का सब से बड़ा त्रिवेणी संगम- वेणेश्वरधाम( डूंगरपुर)
➡ मांडो की पाल- डूंगरपुर
➡ दारुदी बोहरा सम्पर्दाय की पीठ(गदी)- गलियारकोट(डुँगरपुर)
➡ गवरी बाई(बागड़ की मीरा) डुँगरपुर
➡ बागङ प्रदेश का गाँधी- मोतीलाल तेजावत( रहने वाले डुँगरपुर के)
➡ उदयविलास महल- डुँगरपुर
➡ रुख भायला(व्रक्ष मित्र)- डुँगरपुर से शुरू हुवा
➡ गेव सागर(भोपाल सागर)- डुँगरपुर में

🎀 जिला- बॉसवाङा 🎀
( उप नाम- सौ दीपो का शहर )
➡ आनन्दपूरी – भुकिया क्षेत्र( सोने की खान) – बॉसवाङा
➡ घोटिया अम्बा का मेला(चैत्र अमावस्य को)- बॉसवाङा
➡ त्रिपुरी सुन्दरी का मन्दिर- बॉसवाङा
➡ ऐतिहासिक “मांनगढ़” स्थल- बॉसवाङा


🎀 जिला- श्री गंगानगर 🎀
( उप नाम-राज्य का अन्न भण्डार, अन्न का कटोरा)

➡ किस जिले की सीमा पाकिस्थान तथा पंजाब राज्य से लगती है- श्री गंगानगर
➡ राज्य की सबसे प्राचीन नहर- गनगहर
➡ राज्य का वह जिला जिसमे सूर्य की किरणे सबसे ज्यदा तिरछी रहती है-  श्री गंगानगर
➡  पूरावातिवक  स्थल “बरोर” स्थित है- श्री गंगानगर
➡ एशिया का सबसे बड़ा कृषि फ़ार्म, राज्य का पहला सुपर थर्मल पाँवर स्टेशन- सुरतगढ(श्री गंगानगर)
➡ सीक्खो का परम् धार्मिक स्थल- बुड्डा जोहड़(श्री गंगानगर)
➡ गजल गायल “जगजीत सिंह” यहां आकर रुके थे- श्री गंगानगर

🎀 जिला- हनुमानगढ़ 🎀
( उप नाम- भटनेर )

➡ भटनेर दुर्ग स्थित है- हनुमानगढ़
➡ काली बंगा(काली चुडिया, जुते हुए हल के अवशेष), पिली बंगा स्थित है- हनुमानगढ़
➡ गोगामेड़ी मैला लगता है- गोगामेड़ी(हनुमानगढ़)
➡ मृत नदी, नट नदी, नाली(तलहटी को कहते है) ये सब नाम से जाने वाली घग्घर नदी किस जिले में विलीन होती है- हनुमानगढ़
➡ सामारिक दृष्टि से इतना मजबूत और सुरक्षित किला मेने भारत में कहि नही देखा- ” तैमूर लंग ने कहा था भटनेर दुर्ग के लिये
➡ रंग महल- हनुमानगढ़
➡ सूर्य की किरणे अधिकतमतिरछी पड़ती है- हनुमानगढ़


🎀 जिला- जयपुर 🎀
( उपनाम- भारत का पेरिस, रंगश्री द्विप, गुलाबी नगर,)

➡ जयपुर निमाता- सवाई जयसिंह द्वितीय 18 नवम्बर 1727 ई. में वास्तुकार  विद्याधर भटनाचार्य
➡ भारत के उत्तर-पश्चिम रेल्वे का मुख्यालय जयपुर
➡ बैराठ( वीराटनगर)- प्राचीन मत्स्य जनपद की राजधानी, मौर्यकालीन सभ्यता के अवशेष मिले
➡ शीतलामाता का मन्दिर- चाकसू (जयपुर)
➡ आमेर का किला- जयपुर
➡ सांगानेर हवाई हडा(2005)जयपुर
➡ राज्य की सबसे बड़ी खारे पानी की झील- साँभर(जयपुर)
➡ विश्व् की सबसे बड़ी तोप- जयबाण तोप(निमाता- जयसिंह)
➡ हवामहल- जयपुर
➡ जंतर-मन्तर(जयपुर) सवाई जयसिंह ने बनाई 5 वेधशाला में से एक
➡ भेसलाना- काले सगमरमर के लिये प्रसिद्ध
➡ जयपुर को गुलाबी रंग से रगवाय- रामसिंह द्वितीय ने
➡ गधो का मेला लगता हे – लुनियावास(जयपुर)
➡ ब्लू प्रिन्ट प्रसिद्ध है(कृपाल सिंह सेखावत प्रसिद्ध कलाकार)-  जयपुर की
➡ ढुढाङ किस शहर का प्राचीन नम है- जयपुर
➡ भारतीय सेना के दक्षिणी-पश्चिमी कमान का मुख्यालय- जयपुर
➡ राज्य में सबसे अधिक नमक उत्पादन होता है – साँभर(जयपुर)
➡ इंटरनेट से जुड़ने वाला पहला गॉव- नायला(जयपुर)
➡ एशिया की सबसे बड़ी बॉल बियरिग की कम्पनी-जयपुर
➡ अल्बर्ट संग्रहालय जाना जाता है- भिती चित्रों के लिये
➡ ईसरलाट इमारत किस शहर में है- जयपुर

🎀 जिला- जैसलमेर 🎀
( उप नाम- स्वर्ण नगरी, गलियो का शहर, रेगिस्थान का गुलाब, म्यूजियम सिटी, हवेलियों का शहर, झरोखो की नगरी, राजस्थान का अण्डमान)

➡ राज्य का सबसे बड़ा जिला-जैसलमेर
➡ सबसे कम जनसख्या घनत्व- जैसलमेर(13 प्रति वर्गKM)
➡ सोनारगढ़ का किला-जैसलमेर
➡ पटवो की हवेली-जैसलमेर
➡ मरुमोहत्सव- जैसलमेर
➡ राज्य का सबसे बड़ा अभ्यारण- राष्टीय मरु उधान(जैसलमेर)
➡ वुड फॉसीक पार्क, आकल लकड़ी जीवाश्म उधान,- आकल गॉव(जैसलमेर)
➡ बाबा रामदेव(रामसापीर) का मेला- रामदेवरा
➡ राज्य में सवार्धिक व्यथ भूमि- जैसलमेर
➡ विश्व् का सबसे बड़ा भूमिगत पुस्तकाल- पोकरण(जैसलमेर)
➡ एशिया का सबसे ऊँचा टीवी टावर- रामग़ढ़(जैसलमेर)
➡ राज्य का प्रथम खनिज तेल कुँआ, थार की वेष्णोदेवी, सेना के जवानो की देवी- तनोट माता(जैसलमेर)
➡ राज्य का पूर्णत्या वनस्पिति रहित गॉव- समगॉव(जैसलमेर)
➡ थार का घड़ा किसे कहते है- चन्दन नलकूप को
➡ सेवन घास – जैसलमेर
➡ पीले पत्थर की खाने या पीले पत्थर का शहर- जैसलमेर
➡ भारत का पहला परमाणु विस्फोट- पोकरण(जैसलमेर)
➡ “यहा केवल पत्थर की टाँगे ही आपको वहा ले जा सकती है”- जैसलमेर का किला
➡ पिले पत्थरो से निमित्त वह किला जिसके निमार्ण में कहि पर भी चुने का प्रयोग नही किया गया- सोनारगढ़ का किला(जैसलमेर)        

🎀 जिला- जालौर 🎀
( उप नाम- ग्रेनाइट सिटी, सुवर्णनगरी, इसबगोल का घर)

➡ राज्य में एकमात्र स्थान जो इसबगोल के लिये प्रसिद्ध है-जालौर
➡ ढोल नृत्य प्रसिद्ध है-जालौर
➡ राज्य का प्रथम गौ-मूत्र बैक- साँचोर(जालौर)
➡ सुवर्णगिरी का किला- जालौर
➡ गुलाबी रंग का सगमरमर के लिये प्रसिद्ध है-जालौर
➡ राज्य की सबसे बड़ी दुग्ध डेयरी- रानीवाड़ा(जालौर)
➡ राज्य का प्रथम रोप-वे, भालू अभ्यारण- सुन्धा माता(जालौर)
➡ राष्टीय कामधेनु विश्विधालय- पथमेड़ा(जालौर)
➡ राजस्थान+मध्यप्रदेश+गुजरात+महाराष्ट्= सयुक्त परियोजना- नर्मदा नगर परियोजना(जालौर)
➡ चीनी यात्री “हैगसांग” ने राज्य की किस स्थान की यात्रा की-भींनमाल(जालौर) उस वक्त यहां का राजा “हषवर्द्धन था(605-645)
➡ मलिक शाह पीजी का उर्स भरता है- जालौर
➡ शिशुपाल व्रहम महाकाव्य के रचियता महाकवि “माध्” का निवास स्थान- भीनमाल(जालौर)                        


🎀 जिला-झालावाड़ 🎀

➡ जल दुर्ग- गागरोन दुर्ग (बिना किसी नीव पर सीधे खड़ा दुर्ग)
➡ संत पीपा की गुफाये- झालावाड़
➡ मीठे साहेब की दरगाह- गागरोन दुर्ग (काली सिंध और आहूँ नही के संगम पर बना किला)
➡ सर्वाधिक वर्षा वाला जिला-झालावाड़
➡ घण्टीयो का शहर- झालरापाटन(झालावाड़)
➡ चन्दभागा पशु मेला लगता है(कार्तिक सुदी एकामशि)- झालरापाटन(झालावाड़)
➡ राज्य का प्रथम या एक मात्र मन्दिर जिसमे तिथि(Date) अंकित है- शीतलेश्वर महादेव का मन्दिर
➡ सूर्य मन्दिर- झालावाड़
➡ सात सहलियों का मन्दिर(खजुराहो शैली का मन्दिर)- झालावाड़
➡ नवलखा किला(निमाता- राज पृथ्वीसिंह- झालावाड़       


🎀 जिला- झुंझुनूं 🎀

➡ ताबे की खान के लिये प्रसिद्ध स्थान जहा पर “हिन्दुस्तान कॉपर लिमीटेड(1967)”है- खेतड़ी(झुंझुनूं)
➡ राणी सती का मन्दिर- झुंझुनूं
➡ सर्वाधिक पुरुष साक्षरता, व सर्वाधिक ग्रामीण साक्षरता वाला जिला- झुंझुनूं
➡ राज्य के प्रथम परमवीर चक्र विजेता “पिरु सिंह” का सम्बन्ध- झुंझुनूं
➡ स्वामी विवेकानंद का सम्बन्ध या वह यहां आकर रुके थे- खेतड़ी(झुंझुनूं)
➡ स्वामी विवेकांनद के लिए विश्व हिन्दू धर्म सम्मेलन शिकागो के लिए व्य्वस्था करने वाले थे-  खेतड़ी(झुंझुनूं) के राजा अजितसिंह

➡ सीरी( CEERI) है- झुंझुनूं में
➡ कौनसा क्षेत्र अपने भीति चित्रो से युक्त हवेलिया के लिए विख्यात है- शेखावती क्षेत्र की
➡ पुलिस युनिवर्सिटी कॉलेज का गठन- शेखावटी बिग्रट(झुंझुनूं)
➡ सम्पूर्ण शेखावटी को पर्यटन की दृष्टि से किस नाम से जाना जाता है- कला दिघो


🎀 जिला- जौधपुर 🎀
( उप नाम- सूर्य नगरी, मरुस्थल का प्रदेश Dhuwaar, सन् सिटी, मारवाड़ , मरु प्रदेश)
➡ 12 मई 1459 में राव जोधा ने बसाया
➡ भारत का एकमात्र रावण मन्दिर, 33 करोड़ देवी देवताओ का पीठ, राज्य में छतरियों व उधान के लिए प्रसिद्ध- मण्डोर(जौधपुर)
➡ बादला(एक जिंक धातू का बना बर्तन) प्रसिद्ध है- जौधपुर का
➡ काजरी( शुष्क वन अनुसंधान संस्थान) स्थित है- जौधपुर में
➡ महरानगढ़( मोरध्वज) स्थित है- जौधपुर
➡ मारवाड़ महोत्सव मनाया जाता है-जौधपुर में
➡ जीरा मण्डी लगती है-जौधपुर
➡ राजस्थान आयुवैद विश्व्विद्यालय- जौधपुर
➡ देश का प्रथम कोयला आधारित बिजली घर- बाप(जौधपुर)
➡ राज्य का सर्वाधिक शुष्क स्थान- फलौदी(जौधपुर)
➡ सूर्य मन्दिर, सचिया माता का मन्दिर, एव हिन्दू और जैन मन्दिरो के लिए प्रसिद्ध स्थान- ओसिया(जौधपुर)
➡ रातानाडा अंतराष्टीय हवाई हड्डा- जौधपुर
➡ देश की प्रथम सौर ऊर्जा परियोजना, लाल मीर्च के लिए प्रसिद्ध- जौधपुर
➡ राज्य का सबसे बड़ा सफेद सीमेन्ट का कारखाना- खारिया खंगार(जौधपुर)
➡ राज्य का ताजमहल- जसवंत थड़ा(जौधपुर)
➡ विश्व् का एकमात्र व्रक्ष मेला- खेजड़ली गॉव
➡ छीतर पैलेस(उम्मेद भवन) स्थित है- जौधपुर में
➡ भारत या राज्य का प्रथम हेरीटेज होटल- अजित भवन(जौधपुर)
➡ राष्टीय कला मंडल- जौधपुर
➡ राज्य का पहला विधि विश्वविधालय- जोधपुर
➡ अखिल भारतीय आयुविज्ञान संस्थान- जौधपुर
➡ राष्टीय लॉ यूनिवसिटी- जौधपुर
➡ राज्य का दुसरा बड़ा शहर- जौधपुर
➡ रुपायन संस्थान(राजस्थानी कला का सकलन) बोरुन्दा(जौधपुर)
➡ भवाई नृत्य प्रसिद्ध है- जौधपुर का
➡ ऐसा विश्विधालय जिसकी कार्यक्षेत्र उसके शहर की सीमाओ में स्थित है जिसे A ग्रेट का दर्जा प्राप्त है- जयनारायण व्यास विश्विधालय जौधपुर
➡ राज्य में सबसे अधिक क्रष्ण मार्ग(विष्णोई जाती इस के रक्षक है) पाये जाते है- धावाडोली अभ्यारण, जौधपुर
➡ राज्य का प्रथम सौर ऊर्जा फ्रिज- बालेसर, जौधपुर
➡ अश्वव प्रजनन केन्द्र स्थित है- बिलाड़ा(जौधपुर)
➡ पुलिस विश्वविद्यालय स्थित है- जौधपुर
➡ एयरफ़ोर्स फ्लाइग कॉलेज है- जौधपुर