Daily Current Affairs 12-13 January 2018

दैनिक समसामयिकी

1. इसरो ने अंतरिक्ष में लगाया शतक कार्टोसेट-2 समेत 31 उपग्रह भेजे
अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में भारत को महाशक्ति बनाने वाले इसरो (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन) ने एक और बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली है। अंतरिक्ष एजेंसी ने शुक्रवार को 100वां उपग्रह भेजा। उपग्रहों का प्रक्षेपण सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से शुक्रवार सुबह 9.28 बजे पीएसएलवी सी-40 के जरिये किया गया। इससे पहले पीएसएलवी सी-39 का प्रक्षेपण असफल रह गया था, क्योंकि हीट शील्ड अलग नहीं हो पाए थे। पीएसएलवी सी-40 वर्ष 2018 की पहली अंतरिक्ष परियोजना है। इस सफल प्रक्षेपण के साथ किरण कुमार इसरो प्रमुख के पद से सेवानिवृत्त हो गए। भारत सरकार ने उनकी जगह सिवान के को अंतरिक्ष एजेंसी का नया अध्यक्ष बनाया है।

2. आइडिया-वोडाफोन के विलय को कंपनी लॉ टिब्यूनल से मिली मंजूरी
नेशनल कंपनी लॉ टिब्यूनल (एनसीएलटी) ने आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन के बीच विलय को मंजूरी दे दी है। आइडिया सेल्युलर ने रेगुलेटरी फाइलिंग में जानकारी दी कि टिब्यूनल की अहमदाबाद बेंच ने 11 जनवरी को विलय की योजना को मंजूरी दे दी।
• इसी तरह के वोडाफोन के आवेदन पर एनसीएलटी से मंजूरी मिलने के बाद दोनों कंपनियां अंतिम मंजूरी के लिए दूरसंचार विभाग में आवेदन कर सकेंगी। दोनों कंपनियों के विलय के बाद अस्तित्व में आने वाली नई कंपनी में वोडाफोन इंडिया की 47.5 फीसद हिस्सेदारी हो सकती है। बाकी हिस्सेदारी आइडिया के प्रमोटर आदित्य बिरला समूह के पास रहेगी।

 

3. वियतनाम ने एससीएस में निवेश के लिए भारत को दिया न्योता
वियतनाम ने दक्षिण चीन सागर (एससीएस) में तेल और प्राकृतिक गैस क्षेत्र में भारत को निवेश के लिए आमंत्रण दिया है।  भारत में वियतनाम क राजदूत टोन सिन्ह थान्ह ने मंगलवार को एक टीवी चैनल के साथ बातचीत में कहा कि उनका देश दक्षिण चीन सागर में भारत के निवेश का स्वागत करेगा। वियतनाम और भारत के बीच रक्षा सहयोग भी महत्वपूर्ण और प्रभावी क्षेत्र है। चीन वर्षों से एससीएस में वियतनाम के दावे वाले तेल कुंओं से भारत की ओएनजीसी द्वारा तेल की खोज का विरोध कर रहा है। चीन पूरे एससीएस पर अपना दावा करता है। जबकि वियतनाम, फिलीपींस, मलेशिया, ब्रुनेई और ताइवान उसके दावे का विरोध करते हैं।

4. अविकसित अंगों के ऊतकों की वृद्धि में मदद करेगा रोबोट
रोबोटिक्स के क्षेत्र में दुनिया भर के वैज्ञानिक तेजी से विकास कर रहे हैं। वैज्ञानिकों ने एक ऐसा रोबोट विकसित कर लिया है, जिसे मानव शरीर में प्रत्यारोपित किया जा सकता है और इसके जरिए अविकसित अंगों के ऊतकों की वृद्धि में मदद मिल सकती है। शरीर में प्रत्यारोपित होने वाला यह रोबोट बिना किसी असुविधा के अविकसित अंगों में ऊतकों की वृद्धि बढ़ाने में सक्षम है। यह रोबोट लंबे गैप वाले ओसोफेगल एटिसिया का इलाज कर सकता है। ओसोफेगल एटिसिया जन्म के साथ होने वाली एक दुर्लभ बीमारी है, जिसमें भोजन की नली का एक हिस्सा नहीं होता।

5. इंदु मल्होत्रा बनेंगी सुप्रीम कोर्ट की जज
सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने वरिष्ठ अधिवक्ता इंदु मल्होत्रा को सुप्रीम कोर्ट की न्यायाधीश नियुक्त करने की सिफारिश की है। इंदु मल्होत्रा ऐसी प्रथम महिला वकील होंगी, जिनकी सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के रूप में सीधे नियुक्ति होगी। कॉलेजियम ने मल्होत्रा के साथ उत्तराखंड हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस केएम जोसेफ के नाम की पदोन्नति के लिए सिफारिश की है। चीफ जस्टिस जोसेफ उस बेंच की अध्यक्षता कर रहे थे, जिसने 2016 में उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के फैसले को रद्द कर दिया था।

Source of the Current Affairs  (With Regards):- Dainik Jagran, Dainik Bhaskar, Rashtriya Sahara, Hindustan dainik, Nai Duniya, Hindustan Times, The Hindu, BBC Portal, The Economic Times(Hindi& English)

Special thanks to  Dr Sanjan Kumar