काव्यशास्त्र QUESTION 19

1किस आचार्य ने रस सूत्र की व्याख्या के संधर्भ में काव्य में  तीन शक्तियों की कल्पना की?
अ भट्टलोलल्लत
ब भट्टनायक ✔
स भामह
द भरतमुनि

2अभिनव गुप्त रस को मानते हैं-?
अ वक्रोक्ति
ब उपदेश
स व्यंग✔
द काव्य शोभा

3किस आलोचक के मतानुसार साधारणीकरण कवि की अनुभूति का होता है-?
अ रामचंद्र
ब नगेंद्र ✔
स हजारी प्रसाद
द जयशंकर

4भारतीय काव्यशास्त्र में भावक से अभिप्राय है-?
अ श्रोता
ब दर्शक
स अनुकर्ता
द सहदय् या आलोचक ✔

5भावक(सहदय्) के कितने प्रकार माने गए है-?
अ 2
ब 3
स 4✔
द 5

6विभाव के कितने भेद हैं-?
अ 2✔
ब 3
स 4
द 5

7आलंबन विभाव के कितने भेद हैं-?
अ 2✔
ब 3
स  4
द  5

8सात्विक अनुभाव की संख्या कितनी मानी गई है-?
अ 6
ब 7
स 9
द 8✔

9आचार्य शुक्ल ने विरोध और अविरोध के आधार पर संचारियों  के कितने वर्ग किये हैं-?
अ 4✔
ब 5
स 6
द 7

10श्रृंगार को मूल रस किस आचार्य ने माना है-?
अ रुद्रट
ब भामह ✔
स भरतमुनि
द मम्मट

11भक्ति रस का रस को मूल रास किसने माना है-?
अ मधुसूदन सरस्वती एव रूप गोस्वामी ✔
ब सरस्वती पंडित व सरुप गोस्वमी
स मधुसूदन शरण एवं रूपचंद गोस्वामी
द मधुसूदन शरण एवम कुँवर

12शंकुक के अनुसार भरतमुनि के रस सूत्र में आये “संयोग ” शब्द का अर्थ है-?
अ अनुमाप्य
ब पोषक
स पोष्य
दअनुमान✔

13रस सिद्धांत के संबंध में तन्मयतावाद के प्रतिष्ठापक है-?
अ अभिनवगुप्त
ब भरतमुनि
स अभिनव भरत✔
द अभिनव भारती

14एक के बाद  अनेक भावों का उदय होता है तो उसे कहते है-?
अ भावो का अनुमान
ब भावो का आगमन
स  भाव सबलता✔
द भाव पुरनागमन

15अवहित्था  और अपस्मार क्या है-?
अ अनुभाव का प्रकार
ब उद्दीपन का प्रकार
स आलम्बनत्व का प्रकार
द संचारी भाव का एक प्रकार ✔

16किस आलोचक के मतानुसार साधारणीकरण कवि भावना का होता है-?
अ नगेंद्र ✔
ब शुक्ल
स प्रेमचंद
द प्रसाद

17अभिधा ,,भावकत्व और भोग काव्य के तीन व्यापार किस आचार्य ने माने हैं-?
अ भट्टलोलल्लत
ब भट्टनायक ✔
स भरतमुनि
द अभिनवगुप्त

18भाव-सन्धि ,,भाव सबलता तथा भाव -शांति किस भाव की प्रमुख स्थितियां है-?
अ स्थायीभाव
ब अनुभाव
स संचारी भाव ✔
द विभाव

19अलंकार संप्रदाय के प्रतिष्ठापक आचार्य है-?
अ भामह✔
ब रुद्रट
स अभिनवगुप्त
द शंकुक

20भरत मुनि ने कितने अलंकारों का उल्लेख किया है-?
अ,उपमा , रूपक , दीपक ,यमक✔
ब श्लेष, रूपक, उपमा,दीपक
स उपमा, उत्प्रेक्षा,यमक,दीपक
द दीपक,रूपक,यमक,श्लेष

21अलंकार रत्नाकर नामक ग्रंथ के रचयिता है-?
अ शोभायात्रा सिंह
ब शोभराज मित्र
स शोभाराम सिंह
द शोभाकर मित्र✔

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top