प्रधानमंत्री भारत जोड़ो सड़क परियोजना & विभिन्न परियोजनाएं

??प्रधानमंत्री भारत जोड़ो सड़क परियोजना??
14 जनवरी 2004 को प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी ने पुणे में इस योजना का शुभारंभ किया इसके 10000 किलोमीटर की अतिरिक्त लंबाई में राष्ट्रीय राजमार्गों को चार लेन वाला बना कर उन राज्य की राजधानी से जोड़ दिया जाएगा जो नेशनल हाईवे डेवलपमेंट प्रोजेक्ट से दूर है इससे विशेषता पूर्वोत्तर क्षेत्र के राज्यों को लाभ होगा प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना अंतर्गत 2900 गांव को जिनकी जनसंख्या 250 व अधिक है को सड़कों से जोड़ दिया गया है भारत सरकार को 3354 करोड रुपए के प्रस्ताव प्रस्तुत किए गए हैं जिनका सैद्धांतिक अनुमोदन प्राप्त हो गया है जिसके माध्यम से 5094ढाणियो/ मंजरो को प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत जोड़ा जाना है इसके प्रथम चरण के अंतर्गत  1,530,57 करोड़ की स्वीकृति भारत सरकार से प्राप्त हो गई थी जिसके द्वारा 1,833 ढाणीयो/मंजरो को सड़क मार्ग से जोड़ा जा सकेगा

??मेगा हाईवे परियोजना द्वितीय??
इसमें राज्य के भीतरी एवं उपेक्षित क्षेत्रों को राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना मार्गो से जोड़ने के लिए 7 वृहत सड़क परियोजनाएं परिकल्पित कर उन्हें भारत सरकार के पीपीपी कार्यंक्रम तहत 20% वी.जी.एफ.(वाइब्लिटी गैप फंड) अनुदान प्राप्त कर राज्य सरकार के सहयोग से पूर्ण किया जाएगा इस परियोजना में शामिल 7 वृहत सड़क मार्ग की कुल लंबाई 1267 किलोमीटर और अनुमानित लागत लागत 1258 करोड़ रुपए हैं

??चेतक योजना??
यह परियोजना 1962 में भारत सरकार के तहत सीमा सड़क संगठन के द्वारा प्रारंभ की गई इसके तहत सीमा वृति क्षेत्रों में सामरिक महत्व की सड़कों का निर्माण किया गया है राजस्थान की गंगा नगर बीकानेर जैसलमेर बाड़मेर जिले इस योजना के तहत आते हैं सेतु पुल योजना भारत सरकार के एक महत्वपूर्ण विभाग सीमा सड़क संगठन की एक शाखा है इस परियोजना का मुख्यालय बीकानेर जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या पंजाब पर बीछवाल गांव में स्थित है यह परियोजना राजस्थान पंजाब और गुजरात राज्य को मिलाकर लगभग 4600 किलोमीटर लंबाई की सामरिक महत्व की सड़कों की देखरेख का कार्य कर रही है

???राजस्थान में सड़क विकास हेतु किए जा रहे प्रयास या विभिन्न परियोजनाएं???

A-?राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना
राजस्थान के राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण करवाया जा रहा है राज्य में गत 31 मार्च 2012 तक 21 राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण किया जा चुका था जिसकी लंबाई 5724 किलोमीटर और 5 नए राष्ट्रीय राजमार्ग बनाए गये थे जिसकी लंबाई 852 किलोमीटर थी इस तरह राज्य में कुल राष्ट्रीय राजमार्गों की संख्या 26 और कुल लंबाई 6576 किलोमीटर 31 मार्च 2012 तक हो गई थी राज्य का सबसे नवीनतम राजमार्ग 65A था नागौर के लाडनू से भीलवाड़ा के गुलाबपुरा तक 303 किलोमीटर लंबा(मई 2013 )है

B-?मेगा हाईवे परियोजना प्रथम
इस परियोजना में उच्चस्तरीय सड़कों का निर्माण किया गया है इसके अंतर्गत 1053 किलोमीटर लंबाई के निम्न 5 राजमार्ग का निर्माण निर्धारित समय सीमा के अंतर्गत पूर्ण कर दिया गया है
1-?प्रथम➖ फलोदी (जोधपुर)से रामजी की गोल  (बाड़मेर)292 कि मी
2-?द्वितीय➖हनुमानगढ़ से किशनगढ़(हनुमानगढ़, चूरु ,नागौर अजमेर) 407 किलोमीटर
3-?तृतीय➖ अलवर से सिकंदरा(दोसा)81 किलोमीटर
4-?चतुर्थ➖लालसोट(दौसा) से कोटा (सवाई माधोपुर,बूंदी, टोंक, दोसा व कोटा) 195कि.मी.
5-?पंचम➖बॉरा से झालावाड 78

परियोजना के क्रियान्वयन हेतु राज्य सरकार और मैंसर्स आई.एल. एंड एफ.एस  के मध्य 50:50 भागीदारी से एक संयुक्त उपकरण रोड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट ऑफ़ राजस्थान लिमिटेड (रिडकोर) की स्थापना अक्टूबर 2004 में की गई है परियोजना की कुल लागत1,650 करोड रुपए की थी इससे 14 जिले लाभांवित हुए हैं

C-?मेगा हाईवे परियोजना द्वितीय
मेगा हाईवे परियोजना के द्वितीय चरण में वर्तमान में 7 सड़क मार्गों को विकसित करने का कार्य आवंटित किया गया है इन सड़क कार्य की कुल लंबाई 272.50 किलोमीटर है ऑर कुल परियोजना लागत 777.24 करोड़ रुपए हैं
?यह सड़क मार्ग निम्न है?
1➖अलवर से भिवाड़ी 4 लेन (अलवर-85 किमी)
2➖ झालावाड से झालावाड रोड 2-लेन (झालावाड 30 किलोमीटर)
3➖अर्जुन सर से पल्लू 2-लेन (38)
4➖ हनुमानगढ़ से सागरिया (राज्य सीमा तक)2लेन-(हनुमानगढ़ 22 किलोमीटर)
5➖ कापरेन से मांगरोल 2लेन-बॉरा 58 किलोमीटर
6➖झालावाड़ से उज्जैन(राज्य सीमा तक)-2लेन झालावाड 31 किलोमीटर
7➖ खुशखेड़ा से कासोला चौक (2लेन)-अलवर 8.50 किलोमीटर


C-?मेगा हाईवे परियोजना तृतीय चरण इस परियोजना में मथुरा यू. पी. (राज्य सीमा) से भरतपुर तक 9 किलोमीटर लंबाई में कार्य किया गया                   


?☘राज्य में ग्रामीण सड़कों का निर्माण एवं नवीनीकरण☘?

?D-प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना?
25 दिसंबर 2000 को देश के प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई द्वारा प्रारंभ की गई इस योजना के अंतर्गत राज्य में ग्रामीण क्षेत्रों के अंतर्गत सड़कों का विकास व निर्माण किया जा रहा है इस योजना का उद्देश्य देश की वह गांव जिनमें  जनसंख्या 500 या अधिक और दूरदराज क्षेत्रों जैसे मरू जनजातीय क्षेत्र में 250 तक की आबादी के गांव को सभी मौसम में चलने वाले सड़कों से जोड़ा जाना है राजस्थान इस योजना के संचालन में एक अग्रणी राज्य है
वर्ष 2015 16 से इस योजना के अंतर्गत 60% निधि केंद्रीय सरकार द्वारा व 40% राशि राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गई इससे पूर्व इस योजना के तहत 100% निधी केंद्रीय सरकार द्वारा उपलब्ध कराई जाती थी इस वर्ष इस योजना में 960करोड रूपए का बजट प्रावधान किया गया है इसके विरुद्ध दिसंबर 2015 तक 321.41 करोड़ रुपए का व्यय केंद्रीय निधि से किया गया है

?भारत निर्माण योजना?

भारत निर्माण योजना भारत के राष्ट्रपति द्वारा 25 फरवरी 2005 को जारी की गई है भारत निर्माण जो कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का एक भाग है जिसका उद्देश्य सामान्य क्षेत्रों में 1000 व अधिक अाबादी तथा मरुभूमि एवं जनजातीय क्षेत्रों में 500 व अधिक आबादी की बसावटों को वर्ष 2009 तक बारहमासी सड़क संपर्क प्रदान करना था भारत निर्माण के अंतर्गत प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना थ्रू रूट के उन्नयन का अधिकार भी है

?प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के कार्यक्रम का परिणाम?
3.4लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल के साथ राजस्थान भारत का सबसे बड़ा राज्य है 2011 की जनगणना के अनुसार राज्य में कुल 44672 गांव है प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के प्रारंभ होने से पूर्व केवल 50% गांव ही डामर सड़कों से जुड़े हुए थे जनसंख्या के आधार पर 500 से अधिक आबादी के 9169 गांव और मरुभूमि और जनजातीय क्षेत्रों के 250 से 499 आबादी तक के 1762 गांव इस योजना में सड़कों से जोड़े जाने योग्य थे यह योजना शत-प्रतिशत केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित है इस योजना का मुख्य उद्देश्य और लक्ष्य सन 2007 तक 500 से अधिक आबादी की सभी ढाणियों को बारहमासी सड़कों से जोड़ने का था नई कनेक्टिविटी के तहत राजस्थान को सभी पात्र राजस्व गांव की स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है  इस योजना के प्रारंभ से दिसंबर 2013 तक 34830 किलोमीटर डामर सडको का निर्माण राशि 4997. 74 करोड़ व्यय करके किया जा चुका है व 10699 बसावटों से जुड़ी जा चुकी है जिसके परिणाम स्वरुप सड़क संपर्क 50% से बढ़कर 77 प्रतिशत हो गया है

?प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का द्वितीय चरण?

केंद्र सरकार का प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के द्वितीय चरण को शुरू करने का प्रस्ताव है इस योजना के तहत राजस्थान,आंध्र प्रदेश, हरियाणा,कर्नाटक,महाराष्ट्र पंजाब जैसे राज्यों को ज्यादा फायदा होगा द्वितीय चरण के ब्योरे की घोषणा जल्द ही करने की बात कही गई है ऐसा होने से लंबे समय से सड़क से अछूते गांव मुख्य सड़कों से जुड़ जायेंगे सड़कों से जुड़े जाने के लिए लक्षित 63940 बसावटों में से कुल 42,531 बसावटे नवंबर 2011 तक सड़कों से जोड़ी गई थी वर्ष 2013  के बजट में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 21,700 करोड रुपए आवंटित किए गए थे

?E-मुख्यमंत्री सड़क योजना?
यह योजना 7 अक्टूबर 2005 को शुरु की गई है इस योजना में राज्य में प्रमुख धार्मिक व पर्यटन स्थलों को जोड़ने हेतु 1000 किलोमीटर सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है और राज्य के प्रत्येक जिले में एक आदर्श सड़क मॉडल रोड का विकास किया गया है इस योजना की अनुमानित लागत 2300 करोड़ रुपए है इस योजना के लिए 57 धार्मिक हो पर्यटन स्थलों का चयन किया गया है इस योजना के तहत बने राजस्थान के पहले मेगा हाइवे का शिलान्यास जोधपुर के सेतरावा गांव में 8 मई 2007 को किया गया

?F- महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना  अथवा नरेगा योजना के तहत गांव को सड़कों से जोड़ना? 

वर्ष 2012-13 में राज्य में 250 से 499 तक की आबादी वाले शेष बचे  2900 गांव को पक्की सड़कों से जोड़ने के लिए महात्मा गांधी राज्य सड़क योजना प्रारंभ की गई थी इस योजना के तहत सामान्य क्षेत्र में 250 से 499 आबादी के गांव वज़न जाती है वह मरुस्थलीय क्षेत्र में 250 से कम आबादी के गांव को जो वर्तमान में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना द्वारा नहीं जोड़ा जा सके हैं उन गांव को ग्रेवल सड़कों से जोड़ने का निर्णय लिया गया है नाबार्ड-18 में सामान्य क्षेत्रों के 1337 गांव को जिनको महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत ग्रेवल सड़कों से जोड़ा जा चुका है को 2127.49 किलोमीटर लंबाई की डामर की सड़कों से जोड़ने के लिए 832 करो रुपए की प्रशासनिक व 600 करोड़ की वित्तीय स्वीकृति जारी की गई थी शेष लंबाई के लिए स्वीकृति वर्ष 2013-14 में जारी की गई थी

?G-हरित सड़क योजना? 

राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में हरित सड़क योजना के तहत राज्य/राजमार्ग मुख्य जिला सड़कों को डब्ल्यू.बी.एम. स्तर पर चौड़ाईकरण सुदृढ़ीकरण का कार्य करवाया जाना है जिनका डामरीकरण सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा अपने विभागीय बजट से करवाया जाएगा दिसंबर 2013 तक 15969.00 लाख का व्यय कर 893.05 किलोमीटर सड़कों पर डब्ल्यू.बी.एम.कार्य किया गया है महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार के तहत हरित सड़क योजना में पेड़ लगाने का कार्य भी किया जाएगा

?H-राजस्थान सड़क क्षेत्र आधुनिकरण परियोजना

( विश्व बैंक) वर्ष 2013-14 में विश्व बैंक पोषित एक नवीन परियोजना( RSSMP) प्रारंभ की गई थी इसके अंतर्गत 2011 की जनगणना के अनुसार सामान्य क्षेत्र में 250 से 499 आबादी के सभी राजस्व गांव को सड़क तंत्र के गुणात्मक विकास के साथ सड़कों से जुड़ा जाना है इस परियोजना की अनुमानित लागत 227 मिलियन डॉलर (1362 करोड रुपए) हैं इसकी दिनांक 29/10*2013 को निदेशक विश्व बैंक बोर्ड द्वारा ऋण की स्वीकृति दी गई थी दिनांक 2 जनवरी 2014 को परियोजना का अनुबंध कर लिया गया था परियोजना के अंतर्गत तीन प्रकार के कार्य करवाए जाएंगे
1⃣  गांव को सड़कों से जोड़ना- 199 मिलियन डॉलर
2⃣  सड़कों का आधुनिकरण-9 मिलियन डॉलर
3⃣  सड़क सुरक्षा प्रबंधन-18 मिलियन डॉलर        


?I-मिसिंग लिंक परियोजना
इस परियोजना को वर्ष 2003-04में प्रारंभ किया गया था इस परियोजना का उद्देश्य राज्य में सड़कों के मध्य छुटे हुए कई हिस्सों को पूर्ण करना था जिसके तहत गंतव्य स्थानों की दूरियां कम होगी और ईधन व समय की बचत होगी इस परियोजना में 2715 किलोमीटर मिसिंग लिंक का निर्माण किया गया है

?J-RIDF-X परियोजना
यह परियोजना वर्ष 2004-05में नाबार्ड द्वारा प्रारंभ की गई नाबार्ड द्वारा वित्तपोषित 825 करो पर कि यह परियोजना सडको के उन्नयन एवं विकास हेतु प्रारंभ की गई है

?K-सड़क अपग्रेडेशन प्रोजेक्ट 

इस प्रोजेक्ट को जनवरी 2002 से नाबार्ड की वित्तीय सहयोग से प्रारंभ किया गया था

?L-रिंग रोड परियोजना-

जयपुर जयपुर शहर से गुजरने वाले भारी वाहनों के दबाव को कम करने के लिए विभिन्न राजमार्गो को जोड़ने हेतु विभिन्न चरणों में रिंग रोड का निर्माण किया गया है रिंग रोड परियोजना LOAमैसर्स सनजोंस सुप्रीम कंपनी द्वारा DBFOTआधार पर बनाई जा रही है

?M-घाट की गुणी सुरंग परियोजना 

जयपुर घाट की गुणी परियोजना पी.पी.पी.के डिजाइन-निर्माण-वित्त-संचालन -हस्तांतरण स्वरूप पर आधारित जयपुर विकास प्राधिकरण द्वारा क्रियान्वित है जिससे राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 11( आगरा सड़क) को जोड़ने के लिए झालाना पहाड़ियों में सुरंग बनाकर घाट की गुणी के लिए वैकल्पिक रास्ता उपलब्ध कराया गया है इस परियोजना की कुल लागत 150 करोड़ है इस परियोजना के अंतर्गत सड़क की कुल लंबाई 2.8 किलोमीटर है 19 जनवरी 2013 को पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह और यूपीए की अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी ने जयपुर में इस परियोजना का लोकार्पण किया था

??राज्य में संचालित पंचवर्षीय योजनाओं द्वारा सड़क का विकास??

1⃣ 11वीं पंचवर्षीय योजना *2007 से 12) राज्य में सड़को और पुलों की ग्यारहवीं पंचवर्षीय योजना के अंतर्गत 3492.85 करोड़ का प्रावधान किया गया था इस प्रावधान के विरुद्ध 4388.57 करोड़ रुपए किया गया है

2⃣ 12वी पंचवर्षीय योजना (2012 से 17) राज्य में सड़कों और पूलों के लिए 12वीं पंचवर्षीय योजना के अंतर्गत 8907.17 करोड़ का प्रावधान किया गया है जिसके तहत 26056 किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया जाएगा

?वार्षिक योजना (2012-13 और 2013-14)वर्ष 2012-13 के अंतर्गत सड़को और पूलों के लिए 1673.84 करोड़ खर्च किए गए हैं जिसके तहत 5731 किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया गया है 


*?वार्षिक योजना 2013-14 के अंतर्गत सड़क और पूलों के लिए 2565.84 करोड रुपए खर्च किए गए जिसके तहत7745 किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया गया है 


*?वार्षिक योजना(2014-15 वर्ष 2014-15)के अंतर्गत सड़क और पूलों के लिए 2565.84 करोड रुपए खर्च किए गए हैं जिसके तहत 9352 किलोमीटर सड़क का निर्माण किया गया है 


?वार्षिक योजना (2015-16) 2015-16 के अंतर्गत सड़को और पूलों के लिए 3872.64 करोड़ का बजट अनुमान किया गया है जिसके विरुद्ध दिसंबर 2015 तक 1963.42 करोड़ का व्यय किया गया है जिसके अंतर्गत 4894 किलोमीटर सड़कों का निर्माण लक्ष्य के विरोध 4215 किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया गया है