Manak Vichalan Question and Answer : मानक विचलन

Geography : Manak Vichalan Question and Answer

भूगोल व्याख्याता : मानक विचलन

प्रश्न=1. अपकिरण का सबसे आदर्श माप होता है?
(अ) प्रमाप विचलन
(ब) माध्य विचलन
(स) चतुर्थक विचलन
(द) इनमें से कोई नहीं

(अ)✔
व्याख्या:- प्रमाप विचलन अपकिरण का सबसे आदर्श माप होता है

प्रश्न=2. किसी समंक श्रेणी के समानांतर माध्य से उसके विभिन्न पद मूल्यों के विचलनो के वर्ग के समांतर माध्य के वर्गमूल को उस श्रेणी का कहते हैं?
(अ) मानक विचलन
(ब) माध्य विचलन
(स) चतुर्थक विचलन
(द) सहसंबंध

(अ)✔
व्याख्या:- किसी समांतर श्रेणी के समानांतर माध्य से उसके विभिन्न पद मूल्यों के विचलनो के वर्गों के समानांतर माध्य के वर्गमूल को श्रेणी का मानक विचलन कहते हैं इसे माध्य विचलन त्रुटि भी कहा जाता है

प्रश्न=3. मानक विचलन की गणना में किन तथ्यों को सम्मिलित कर मानक विचलन की गणना की जाती है?
(अ) किसी श्रेणी के माध्य विचलन को किसी भी सांख्यिकीय माध्य के आधार पर परिकलित किया जा सकता है
(ब) मानक विचलन में सदैव केवल समांतर निकाले जाते हैं
(स) मानक विचलन में माध्य विचलन के दोषों का समावेश नहीं होता है
(द) उपरोक्त सभी

(द)✔
व्याख्या:- मानक विचलन की गणना में निम्न तथ्य महत्वपूर्ण है
1. किसी श्रेणी के माध्य विचलन को किसी भी सांख्यिकीय माध्य के आधार पर परिकलित किया जा सकता है परंतु मानक विचलन में सदैव केवल समांतर निकाले जाते हैं
2. मानक विचलन में माध्य विचलन के दोषों का समावेश नहीं होता है।

प्रश्न=4. निम्न में से मानक विचलन की उपयोगिता है ?
(अ) यह सदैव समांतर माध्य को स्वयं एक आदर्श माध्य की आधार पर निकाला जाता है
(ब) दो या अधिक समंक श्रेणियों की अपविरण की तुलना करने में उपयोगी है
(स) यह श्रेणी के सभी मूल्यों पर आधारित है
(द) उपरोक्त सभी

(द)✔
व्याख्या:- मानक विचलन की उपयोगिता-

  1. यह सदैव समांतर माध्य को स्वयं एक आदर्श माध्य के आधार पर निकाला जाता है अतः दो या अधिक समंक श्रेणियों की अपविरण की तुलना करने में उपयोगी है यह श्रेणी के सभी मूल्यों पर आधारित है
  2. सहसंबंध विश्लेषण व अर्थ पूर्णता की जांच आदि अनेक सांख्यिकीय विधियों में मानक विचलन का प्रयोग होता है।

प्रश्न=5. श्रेणी के समस्त पदों के मध्य से निकाले गए विचलनो के वर्गों के माध्य का धनात्मक वर्गमूल होता है?
(अ) मानक विचलन
(ब) माध्य विचलन
(स) प्रतिगमन
(द) बहुलक

(अ)✔
 
प्रश्न=6. मानक विचलन का उपयोग कब किया जाता है ?
(अ) जब परिवर्तनीयता कि अत्यधिक विश्वसनीय तथा निर्भर करने योग्य जानकारी प्राप्त करनी हो
(ब) जब मानक विचलन पर निर्भर सहसंबंध सांख्यिकी ज्ञात करनी हो
(स) जब सामान्य वक्र की व्याख्या आवश्यक हो
(द) उपरोक्त सभी

(द)✔

प्रश्न=7. मानक विचलन ज्ञात करने के लिए समांतर माध्य से किसी श्रेणी के पदों का वितरण निकाला जाता है?
(अ) जब आंकड़े अवर्गीकृत हो
(ब) जब आंकड़े वर्गीकृत हो
(स) अ और ब दोनों
(द) इनमें से कोई नहीं

(स)✔
व्याख्या:- मानक विचलन – आंकड़ों की किसी समूह के पदों तथा समांतर माध्य से विचलन के वर्गों के मध्यमान के धनात्मक वर्गमूल को मानक विचलन कहते है

मानक विचलन ज्ञात करने के लिए समांतर माध्य से किसी श्रेणी के पदों का विचलन निकाला जाता है – 1. जब आंकड़े अवर्गीकृत हो 2. जब आंकड़े वर्गीकृत हो 

प्रशन 8- मानक विचलन किस के मध्य से ज्ञात किए जाते हैं
(अ) बहुलक से
(ब) समांतर माध्य से
(स) दोनों से
(द) कोई नहीं

(ब)✔
व्याख्या – मानक विचलन किसी श्रेणी के समांतर माध्य से ज्ञात किए गए हैं इसके विभिन्न पद मूल्य के विचारों के वर्गों के मध्य के वर्गमूल को कहते हैं

प्रशन 9- व्यक्तिगत श्रेणी में मानक विचलन का आकलन कितने प्रकार से किया जाता है
(अ)2
(ब)3
(स)4
(द)5
4(अ)✔
व्याख्या – व्यक्तिगत श्रेणी में मानक विचलन का आकलन दो प्रकार से किया जाता है
1- प्रत्यक्ष विधि
2- लघु विधि

प्रशन 10- समांतर माध्य की स्थिति में कौन सी विधि उपयुक्त रहती है
(अ) प्रत्यक्ष विधि
(ब) लघु विधि
(स) दोनों
(स) अप्रत्यक्ष विधि

(अ)✔
व्याख्या – प्रत्यक्ष विधि इस विधि का प्रयोग भी किया जाता है जब समांतर माध्य का मूल्य पूर्णांक में होता है पूर्णांक समांतर माध्य की स्थिति में प्रत्यक्ष विधि उपयुक्त रहती है

प्रशन 11- प्रसरण किसके बीच में पर आधारित होता है
(अ) मानक विचलन का
(ब) विचरण
(स) समांतर माध्य
(द) बहुलक

(अ)✔
व्याख्या – प्रसरण मानक विचलन पर आधारित माफ होता है यह निश्चित श्रेणी के प्रमाप विचलन का वर्ग होता है इसलिए प्रसारण को दित्य अपकिरण घात कहते हैं

प्रशन 12- प्रमाप विचलन के लाभ
(अ) सभी मूल्यों पर आधारित
(ब) स्पष्ट एवं निश्चित माप
(स) परिवर्तन न्यून प्रभाव
(द) सभी

(द)✔
व्याख्या -1 सभी मूल्यों पर आधारित
2- स्पष्ट एवं निश्चित माप
3- परिवर्तन का न्यूनतम प्रभाव
4- उच सतरिय सांख्यिकी में प्रयोग
5- प्रमाप विचलन की उपयोगिता

प्रशन 13- प्रमाप विचलन की कमियां हैं
(अ)2
(ब)3
(स)5
(द)7

(अ)✔
व्याख्या – प्रमाप विचलन की कमियां दो प्रकार के हैं
1- प्रमाप विचलन की गणना वीडीए प्रक्रिया अन्य अपकिरण की माप की विधियों से कठिन है इसे समझना करना करना आदि कष्ट साध्य है
2- स्कीम आफ में चरम मूल्यों को बहुत अधिक महत्व दिया जाता है इन्हीं दोषो के कारण प्रमाप विचलन का प्रयोग वाणिज्य व्यापार एवं अर्थशास्त्र में कम किया जाता है इस कमी के होते हुए भी अपकिरण गेम आपो में प्रमाप विचलन को एक आदर्श माप माना जाता है

 

Specially thanks to Post and Quiz Creator ( With Regards )

कमलेश, लालशंकर पटेल डूंगरपुर, धर्मवीर शर्मा अलवर

Leave a Reply