MOTIVATION SPEECH 01

MOTIVATION SPEECH FOR STUDENTS

December , January और February ये 3 महीने जितना किताबो के साथ लड़ना है , पूरी जान लगा दीजिये ! जितनी पढ़ाई ये 3 महीने में होती उतना शायद पूरे साल में किसी और दिन पढ़ाई होती होगी कारण दिन छोटा होता है , और एक बड़ा समय का वो हिस्सा आपको मिल जाता है जहां कोई रोकने-टोकने वाला नहीं रहता है ! यहाँ न तो गर्मी बरसात जैसे Light जाती है न ही उमस वाली गर्मी लगती है ! नींद पूरी सकून वाली होती है जिसके कारण दिमाग,और मौसम के अपेक्षा बेहतर काम करता है ! देखने वाली बात ये रहेगी कि कितने लोग इस मौसम का फायदा केवल रज़ाई-कम्बल के अन्दर सो करके बिताते हैं या फिर अपने किताबो का एक बड़ा हिस्सा खत्म करके !

हम सभी युवा वर्ग की एक बड़ी समस्या हमारा पढ़ने का मन नहीं करता या फिर करता है तो 3-4 दिन बाद फिर पढ़ाई की track पटरी से उतर जाती है क्या करें ? और फिर आपको जरूरत होती है एक Motivation के खुराक की ! नीचे कुछ बाते बताने जा रहा हूँ जिन्हे आप सबने जरूर experience किये होंगे!

कड़ाके की ठण्ड में एग्जाम सेंटर जाने के लिए ऑटो या फिर जब आप एक रोडवेज बस से या फिर Train में General या Sleeper class कम्बल ओढ़ करके उस भीड़ में जहाँ खड़े होने तक की जगह नहीं रहती सफर करते हैं तब तो अन्दर से एक ही आवाज़ आती है कि ” बस गुजर जाए ये रास्ता आगे इतना मेहनत करेंगे कि अगली बार कहीं आने जाने के लिए अपने पास खुद की गाडी होगी या फिर AC Class में जाएंगे” !

कभी ऐसा भी होता है exam centre एक ही city में ही इतने candidate के वजह से Hotel या धर्मशाला नहीं मिलते फिर क्या Railway platform , बस अड्डा ही अपना बिस्तर बना लेते हैं ! उस समय अगल बगल परीक्षार्थियों की भीड़ देख करके , नींद न आते हुए भी जबरदस्ती सोने की कोशिश करते हुए बस एक ही बात मन से आती है ,”किसी तरह सुबह हो जाए , एग्जाम सेंटर पहुँच जाए अगली बार इतना मेहनत करके नौकरी लेंगे कि पहले से अच्छा सा होटल बुक करके रखेंगे” !

कभी कभी Exam centre साथ में मम्मी पापा या भाई बहन साथ में जाते हैं तब मन से यही आवाज़ आती है “अब इतना मेहनत करेंगे कि आज के बाद हमारे वजह से अपनों को कोई तकलीफ नहीं देंगे”!

Exam hall से exam दे करके निकलते ही Gate तक पहुँचते-पहुँचते यही ख्याल आता है न , थोड़ा सा और वो वाला चैप्टर पढ़ लेते तो काम बन जाता , खैर घर पहुँच करके अब से इतना मेहनत करेंगे कि अगले एग्जाम की तैयारी में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे !

अब मुझे ये नहीं समझ में आता वो सारे वादे वो सारे संकल्प हम इन परिस्थितयों से गुजर करके लेते हैं कुछ समय बाद भूल कैसे जाते हैं ! क्या ये सभी चीज़े आपको मेहनत से पढ़ाई करने के लिए motivate नहीं करती ? इन चीज़ो के अलावा भी आप में से किसी का सपना अच्छा घर लेना होगा , अच्छी गाडी लेनी होगी , बहन या भाई की बहुत अच्छे से शादी करने की होगी या फिर घर में ही किसी के लिए अच्छा इलाज कराने का सपना होगा ! चलो इसमें से नहीं तो कुछ सपने आपके खुद के होंगे जैसे दोस्तों में , मोहल्ले में अलग दिखें ? अच्छे लड़के- लड़की से शादी करें ? अपनी अलग जिंदगी दूर अकेले अच्छे से बिताएं या फिर एक ऐसी पोजीशन ऐसी पोस्ट जहाँ अपना अलग रुतबा हो !

तो भइया बहन मेरे ,इन सपनो को सोते हुए मत देखिये बल्कि इन सपनो के वजह से आपकी नींद भाग जानी चाहिए ! सपने तभी हकीकत में उभर करके बाहर सामने आएंगे !

सही बताऊ तो मुझे सबको तैयारी करते थोड़ा दुःख जरूर होता है , टैलेंट आप सबमे इतना  की अभी आपको 1-2 नौकरी छोड़ करके तीसरी ज्वाइन करनी थी ! घूमने फिरने , future planning की age में तैयारी में लगे हुए हो ! दुःख से ज्यादा गुस्सा इसलिए आता है क्योंकि आप सब की काबिलियत मुझे पता है 15 दिन में में एक किताब पूरी खत्म करने का हिम्मत रखते हो आप सब, लेकिन पता नहीं कहाँ ढील कर रहे हो , लापरवाही बरत रहे हो !

*हर सब्जेक्ट में 2 Book , एक previous papers की और दूसरी reference book यही ख़त्म करनी होती है ! बात Rakesh Yadav 7300 की हो या English MB book की ! अरे किताब उठाओ उसे 5-6 भाग में फाड़ो अलग करो और उन पतली हुई किताबो को हफ्ते हफ्ते में खत्म करो ! एक Lucent 500-600 pages की ख़त्म नहीं हो पा रही अरे किताब लो 6-7 part में फाड़ो और फिर हफ्ते का टारगेट बना करके ख़त्म करके साइड में उधर फेंको यार कैसे नहीं ख़त्म होगा ? *

*इस पूरे ठंडी भर शरीर को आराम नहीं देना है आपको , इसे जितना आराम दोगे इसकी आराम की डिमांड उतनी बढ़ती जायेगी जो की नुकसान वाली चीज़ है ! बूढ़े नहीं हुए हो अभी आप सब , जवान तो एकदम फौजी जवानो जैसे मेहनत करो ! लेट करके नहीं कुर्सी पर बैठ करके जूता मोजा स्वेटर जैकेट मोफलर बाँध करके पढ़ो , टहलते हुए चीज़ो को याद करो , कॉपी पेन से उंगलियों को नोट्स बनाने में कसरत करवाओ ! ये तीन महीना बिलकुल अपने लक्ष्य से प्यार करना सीख लो कामयाबी कैसे नहीं मिलेगी फिर ? ये आने वाला हर “समय” सोच समझ करके invest करना , याद रखना जो भी समय आज invest करोगे वो वापिस आपको ही मिलेगा with interest . *

हमेशा याद रखना बाज़ी मारने के लिए वजह का होना बहुत जरूरी है और उस वजह के कारण जो सपना आपने देखा है उसके वजह से आपको नींद नहीं आनी चाहिए ! मेहनत करना है तो फिर जम के करना है ! हमने जो संकल्प लिया है हमे ही उसे पूरा करके भी दिखाना है ! जिंदगी मिली है तो भीड़ का हिस्सा नहीं बनेंगे , अपना एक नाम कर के ही जाएंगे

मुस्कुराते रहिये !!

सुभाष जोशी👍

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.