POLICE EXAM NOTES 16

POLICE EXAM NOTES 16

1. अकबर महाराणा प्रताप को मुगल दरबार में उपस्थित क्यों देखना चाहता था?
(1)  मेवाड़ उसके सम्राज्य का अंग बन जाता
(2)  राणा प्रताप जैसा वीर शासक उसे सहयोगी मिल जाता
(3)  राणा प्रताप के मुगल दरबार में आ जाने से अकबर को सारे राजपूत नरेशों के अधीनता में आ जाने की आशा थी ✔
(4)  इससे राणा प्रताप का मान-मर्दन हो जाता

2. हल्दीघाटी का युद्ध किस वर्ष लड़ा गया?
(1)  1570
(2)  1572
(3)  1576 ✔
(4)  1580

3. इतिहासकार डॉ॰ रधुवीर सिंह ने हल्दी घाटी के युद्ध में राणा प्रताप की पराजय कारण बताया है-
(1)  प्रताप द्वारा सेना को सुनियोजित ढंग से व्यवस्थित न करना
(2)  अकबर की सेना सो राणा प्रताप की सेना कम होना
(3)  राणा प्रताप के पास तोपखाना न होना
(4)  खुले मैदान के युद्ध में नेतृत्व करने की योग्यता राणा में न होना ✔

4. शाहबाज खाँ द्वारा कुभंलगढ़ घेर लेने पर राणा प्रताप ने किसको अपना सैनिक केन्द्र बनाया?
(1)  उदयपुर को
(2)  चित्तोड़ को
(3)  घोलन को
(4)  शेरपुर को ✔

5. महाराणा प्रताप ने इस संसार से विदा ली-
(1)  1578 ई.
(2)  1580 ई.
(3)  1585 ई.
(4)  1597 ई. ✔

6. महाराणा प्रताप ने गद्दी पर बैठते ही मुगलों के प्रभाव से अपने को मुक्त रखने की दृष्टि से क्या कदम उठाये-
(1)  अपनी सैनिक शक्ति का बढ़ाना आरम्भ किया
(2)  अपने पड़ौसी नरेशों के साथ मैत्री भाव बढ़ाने का प्रयास किया
(3)  अपनी रजधानी उदयपुर गोगुन्दा ले गया
(4)  अपनी जनता में त्याग व देश भक्ति की भावना उत्पन्न करने का प्रयास किया ✔

7. अबकर ने राणा प्रताप से मैत्री भाव स्थापित करने के लिए चार शिष्ट-मण्डल भेजे। दूसरे शिष्ट मण्डल का नेतृत्व करने वाला था-
(1)  जलाल खाँ
(2)  मानसिंह ✔
(3)  भगवान दास
(4)  टोडरमल

8. राणा सांगा और बाबर के मध्य निर्णायक युद्ध कब लड़ा गया?
(1)  1509 ई.
(2)  1510 ई.
(3)  1527 ई. ✔
(4)  1530 ई.

9. खानवा के युद्ध का भारतीय इतिहास में जो महान क्रान्तिकारी प्रभाव पड़ा। वह प्रभाव था-
(1)  उत्तरी भारत में राजपूत सत्ता समाप्त हो गई
(2)  बाबर अपने साम्राज्य विस्तार में सफल रहा
(3)  बाबर भारत में मुगल साम्राज्य की नींव सुदृढ़ता से जमाने में सफल रहा ✔
(4)  राजपूत शक्ति सदा के लिए समाप्त हो गई

10. कतिपय इतिहासकारों ने उदयपुर के जिस महाराणा को ‘हिन्दूपत’ के विरूद्ध से पुकारा है, वह है-
(1)  महाराणा जगतसिंह
(2)  राणा कुम्भा
(3)  महाराणा सांगा ✔
(4)  राणा प्रताप

11. मानसिंह प्रथम के पिता का नाम था-
(1)  भारमल
(2)  भगवन्त दास ✔
(3)  भगवान दास
(4)  पूरणपपल

12. रणथम्भौर को अकबर के अधीनस्थ कराने का श्रेय मानसिंह का दिया जाता है क्योंकि-
(1)  उसने रणथम्भौर के 8 मास के घेरे में अपूर्व वीरता का प्रदर्शन किया
(2)  रणथम्भौर का नेतृत्व मानसिंह के हाथ में ही रहता था
(3)  6 मास के घेरे में जब अकबर सफल नही हुआ तो मानसिंह ने रणथम्भौर के राजा सुर्जन हाडा से व्यक्तिगत मुलाकात कर दुर्ग दिला दिया ✔
(4)  रणथम्भौर  दुर्ग में प्रवेश मानसिंह ने किया था

13. मानसिंह को काबुल की सूबेदारी कितने वर्ष तक करनी पड़ी?
(1)  तीन ✔
(2)  चार
(3)  पांच
(4)  सात

14. मुगलो के साथ सहयोग करके राजपूत नरेशों ने सैनिक दृष्टि से एक उपलब्धि प्राप्त की वह उपलब्धि थी-
(1)  अब उन्हें अपने सामन्तों  की शक्ति पर निर्भर नहीं रहना पड़ता था
(2)  राजपूत नरेश अपने आपसी झगड़ों से बच गये
(3)  उन्हें अब सेनिक  संगठन पर अधिक खर्च नही करना पड़ता था
(4)  राजपूत नरेश अपने झगड़े बिना युद्ध के मुगल सम्राट की मध्यस्थता से सुलझा लेते थे ✔

15. किस राजपूत राजा को स्थापत्य कला का संरक्षक कहा जाता है-
(1)  सवाई जयसिंह
(2)  राणा कुम्भा ✔
(3)  राव मालदेव
(4)  उदयसिंह

16. राजस्थान के किस को जल दुर्ग की श्रेणी में रखा जा सकता है-
(1)  गागरोण का किला ✔
(2)  रणथम्भौर का किला
(3)  शेरगढ़ का किला
(4)  मैग्नीज का किला

17. महामारू शैली का प्रचलन किसके शासनकाल में हुआ था-
(1)  चालुक्य
(2)  सिसोदिया
(3)  गुर्जर प्रतिहार ✔
(4)  पल्लव

18. उत्तर भारतीय मंदिर निर्माण की मुख्य शैली है-
(1)  नागर शैली ✔
(2)  द्रविड़ शैली
(3)  बेसर शैली
(4)  चालुक्य शैली

19. राजस्थान में पंचायतन शैली का मंदिर नही है-
(1)  बाड़ोली का शिव मंदिर
(2)  अर्थूणा के मंदिर
(3)  सास-बहू का मंदिर
(4)  समिधेश्वर मंदिर ✔

20. राजस्थान में 8 वीं शताब्दी में विकसित क्षेत्रीय मंदिर शैली का नाम है-
(1)  गुर्जर प्रतिहार (महामारू) शैली ✔
(2)  सोलंकी शैली
(3)  मारू शैली
(4)  पंचायतन शैली

21. राजस्थान में अशोक कालीन स्थापत्य कला के अवशेष कहाँ प्राप्त हुए हैं-
(1)  नगरी
(2)  विराट नगर ✔
(3)  कालीबंगा
(4)  कंकोट

22. आमेर नगर के विकास के लिए भूमि के अभाव होने पर किस शहर को बसाया गया-
(1)  राजगढ़
(2)  जयपुर ✔
(3)  कोटपूतली
(4)  चाकसू

23. जयपुर नगर का निर्माण करने वाले वास्तुकार थे-
(1)  सवाई जयसिंह
(2)  मिर्जा राजा जयसिंह
(3)  विद्याधर भट्टाचार्य ✔
(4)  रामप्रसाद आचार्य

24. मूगलों के राजपूत से वैवाहिक सम्बन्ध होने के पश्चात कौनसी स्थापत्य शैली प्रचलित हुई?
(1)  राजपूत शैली
(2)  मुगल शैली
(3)  मुगल-राजपूत शैली ✔
(4)  फारसी शैली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *