RAJASTHAN POLICE EXAM QUESTION 05

RAJASTHAN POLICE EXAM QUESTION 05

01. गलताजी के बाद रामानंद संप्रदाय की दूसरी महत्वपूर्ण पीठ कहाँ है ?
A} सलेमाबाद
B} जोधपुर
C} रेवासा
D} जालोर
[C] ✔

02. जयपुर के शासक रहे कछवाहा मध्यप्रदेश के नरवर से आये थे। उस समय लगभग संपूर्ण पूर्वी राजस्थान पर, यानि चम्बल के पश्चिमी तरफ किस जातीय समूह का शासन था, जिसके एक शासक के साथ धोखा कर दूल्हा राय कछवाहा ने अपने राज्य की नींव रखी थी ?
A} मीणा
B} गुर्जर
C} ब्राह्मण
D} जाट
[A] ✔

03. संगम योजना का सम्बन्ध है-
A} विकलांगों से
B} पहाड़ियों से
C} नदियों से
D} विधवाओं से
[A] ✔

04. ब्राह्मण और भील पुजारी मिल कर इनकी पूजा करते हैं। राजसमन्द के केलवाडा के पास रीछडा में इन लोक देवी का भव्य मंदिर है। ज्येष्ठ शुक्ल अष्टमी को यहाँ भीलों का विशाल मेला भरता है। कौनसी देवी हैं ?
A} आमजा माता
B} घेवर माता
C} बाण माता
D} सुगाली माता
[A] ✔

05. ” साँझी लीला” भी किशनगढ़ शैली का प्रतिनिधि चित्र है , जो निहालचंद ने बनाया था। इस शैली के अन्य चित्रों “बनी ठनी”, “दीपावली चित्र”, “चाँदनी रात की संगोष्ठी” आदि से इस चित्र को अलग करने वाली बात है –
A} शुक नासिका
B} राधा की पोशाक में कृष्ण
C} कमान जैसी भवें
D} मत्स्याकार आँखें
[B] ✔

06. जंगी ढोल की तान पर शेर और शिकारी शाम को नृत्य शुरू करते हैं, जो देर रात तक चलता रहता है। शेर और कोई नहीं , रुई लपेटे पुरुष ही होते हैं। बच्चे इस बिखरी रुई को इकट्ठा कर घर ले जाते है। मानते हैं कि बीमार होने पर बच्चों के गले में इस रुई का धागा बांधने से बीमारी ठीक हो जाती है। किस कस्बे में यह स्वांग होता है ?
A} मांडल
B} भिनाय
C} नसीराबाद
D} ब्यावर
[A] ✔

07. सीता से जुड़े स्थान राजस्थान में कई जगह हैं। बारां में सीता बाड़ी का स्थान अपने विशाल मेले के लिए प्रसिद्ध है , तो इस ज़िले में सीता माता का नाम मशहूर अभयारण्य से जुड़ा है –
A} प्रतापगढ़
B} बूंदी
C} बांसवाडा
D} उदयपुर
[A] ✔

08. उन्होंने उम्र भर गांधारी की तरह आँखों पर पट्टी बाँधे रखी थी। गांधारी अपने पति की अन्धता में सहभागी बनी थी, परन्तु राजस्थान की इन महिला संत ने पट्टी इस लिए बांधी थी, ताकि अपने आराध्य कृष्ण के सिवा किसी अन्य को देखना इन्हें गवारा नहीं था। इन्हें जानते हैं ?
A} सहजोबाई
B} ज्ञानमतीबाई
C} समानबाई
D} भूरीबाई
[C] ✔

09. मारवाड़ जंक्शन से मावली जंक्शन जब आप रेल से जाते हैं तो रास्ते में अरावली को पार करना होता है। मारवाड़ को मेवाड़ से जोड़ने वाले इस महत्वपूर्ण मार्ग पर स्थित पर्वतीय घाट का नाम क्या है ?
A} केवड़ा की नाल
B} गोरम घाट
C} रतनपुरा घाट
D} चीरवा घाट
[B] ✔

10. बाणगंगा पर जब अजान बाँध बनाया गया तो, उसके लिए खोदी गयी मिट्टी के कारण एक छिछला तालाब सा बन गया। फिर यहाँ पानी भरा तो घने पेड़ उग आये और पंछियों का बसेरा भी बन गया। पंछियों ने इस जगह का नाम रोशन कर दिया।
A} केवलादेव
B} रामसागर
C} तालाबशाही
D} जमवारामगढ़
[A] ✔


11. मंडरायल के किले को ग्वालियर की कुंजी कहा जाता था. यह किस जिले में स्थित है ?
A} सवाई माधोपुर
B} करौली
C} धोलपुर
D} बारां
[A] ✔

12. थेवा कला में कांच और सोने की जुगलबंदी देखते ही बनती है। कांच की ज़मीन पर सोने का काम करने वाले सुनारों को कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं। इस कला में कांच का रंग अधिकतर होता है ?
A} लाल
B} पीला
C} सफेद
D} हरा
[D] ✔

13. शासक को भी कोई देशनिकाला देते हैं ? लेकिन अँग्रेज़ों ने इन सीकर के इन महाशय को चार वर्षों के लिए 1937 में सीकर से बाहर भेज कर जनता को बता दिया कि असली शासक कौन था –
A} कल्याण सिंह
B} राम सिंह
C} फ़तेह सिंह
D} शिव सिंह
[A] ✔

14. यह इमारती लकड़ी राजस्थान के दक्षिणी भाग में मिलती है और अँग्रेजों ने इसके दोहन के लिए रेल लाइनें तक बिछा दी थी। इसमें मौजूद तेल की खुशबू के कारण दीमक इससे दूर रहती है।
A} सागवान
B} सेमल
C} धोक
D} साल
[A] ✔

15. राजस्थान का यह स्थान देहली और मुंबई के ठीक बीच में होने से यहाँ एयरपोर्ट ऑथोरिटी ऑफ़ इंडिया ने अपना केंद्र बना रखा है।
A} उदयपुर
B} प्रतापगढ़
C} जयपुर
D} कोटा
[B] ✔

16. इस जाति के लोग खुद को कहते तो हिन्दू हैं , परन्तु किसी व्यक्ति के मरने पर उसके शव को जलाने की बजाय गाड़ते हैं। यही नहीं मृतक के मुँह में गंगा जल की जगह शराब की बूँदें भी डालते हैं !
A} सहरिया
B} भील
C} सांसी
D} कंजर
[D] ✔

17. सटका शरीर के किस अंग का आभूषण है ?
A} गला
B} कमर
C} नाक
D} पैर
[B] ✔

18. बलदेव, डालू राम और सालिगराम इस चित्र शैली के माने हुए कलाकार रहे हैं। बलदेव ने गुलाम अली के साथ मिल कर प्रसिद्ध चित्र “गुलिस्ताँ” बनाया था, जिस पर उस समय में एक लाख रुपये खर्च हुए थे। सुनहरे रंगों वाली इस चित्र शैली को पहचानिए –
A} मेवाड़ी
B} बूंदी
C} मारवाड़ी
D} अलवर
[D] ✔

19. जयपुर रियासत ने 1924 में एक कानून बनाकर इस जाति के प्रत्येक परिवार के 12 वर्ष से ऊपर के स्त्री पुरुषों को नजदीक के पुलिस थाने पर रोजाना हाजिरी देना अनिवार्य कर दिया था। कभी इस क्षेत्र के मूल शासक रहे लोगों के लिए यह एक अमानवीय स्थिति थी। 1946 में जाकर इस कानून से बड़े आंदोलनों के बाद छुटकारा पाया जा सका था। कौनसी अभागी जाति थी ?
A} गुर्जर
B} भील
C} मीणा
D} जाट
[C] ✔

20. कांच की तरह पारदर्शी संगमरमर का यह झूमर गुम्बद से लटकता रहता है। वास्तव में शिल्पी शोभनदेव ने कमाल ही कर दिया था। पूरे में मंदिर में अर्ध विकसित कमल के फूलों सी संगमरमर की ऐसी ही कलाकृतियाँ नजर आती हैं। कहाँ पर देख पाएंगे इस मंदिर को ?
A} चारभुजा
B} रणकपुर
C} आबू
D} चित्तौड़
[C] ✔

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *