RAS HISTORY QUIZ 20 ( राजस्थान का इतिहास )

RAS HISTORY QUIZ 20 ( राजस्थान का इतिहास )

 

प्रश्न-1.. तुंगा के युद्ध में कौन पराजित हुआ था??
(अ)- मल्हार राव होलकर
(ब)-महादजी सिंधिया
(स)- आमिर खा
(द)- सवाई जयसिंह
ब- महादजी सिंधिया(28 जुलाई 1727 को दोसा के पास तूंगा नामक स्थान पर मराठा सेनापति महादजी सिंधिया और जयपुर के सवाई प्रताप सिंह के बीच तुंगा का युद्ध लड़ा गया इस युद्ध में सवाई प्रताप सिंह ने जोधपुर के शासक विनय सिंह की मदद से महादजी सिंधिया को पराजित किया ✅⚜

प्रश्न-2.. डॉक्टर गौरीशंकर हीराचंद ओझा ने किस गुहील शासक की प्रशंसा में लिखा है कि दिल्ली के गुलाम सुल्तानों के कुमार सीधा समय में मेवाड़ के राजाओं में सबसे प्रतापी और बलवान राजा यही था जिसकी वीरता की प्रशंसा उसके विपक्षियों ने भी की है??
(अ)- कुमार सिह
(ब)- तेज सिंह
(स)- हम्मीर राणा
(द)- जैत्र सिंह
द-जैत्रसिंह(कुमार सिंह का वंशज जैत्र सिंह बड़ा प्रतापी शासक था जैत्रसिंह के समय दिल्ली के सुल्तान इल्तुतमिश का नागदा पर आक्रमण हुआ संभवत इल्तुतमिश ने मेवाड़ पर आक्रमण किया जयसिंह सूरी के हम्मीर मद मर्दन के अनुसार जैत्र सिंह ने इल्तुतमिश को पराजित कर पीछे धकेल दिया लेकिन घमासान युद्ध के कारण नागदा को भारी क्षति पहुंची इसीलिए जैत्रसिंह ने अपनी राजधानी नागदा से चित्तौड़ स्थानांतरित की ✅⚜

प्रश्न-3.. महाराणा अमर सिंह प्रथम ने शहजादा खुर्रम से संधि कब की??
(अ)- 5 फरवरी 1613 को
(ब)- 5 फरवरी 1614 को
(स)- 5 फरवरी 1615 को
(द)- 5 फरवरी 1616 को

स-5 फरवरी 1615को(मुगल बादशाह जहांगीर महाराणा अमर सिंह प्रथम को अधीन करने के उद्देश्य से 8 नवंबर 1613 को अजमेर पहुंचा और शहजादा खुर्रम को सेना लेकर मेवाड़ भेजा अंततः युद्ध से जर्जर मेवाड़ की अर्थव्यवस्था को मद्देनजर रखते हुए सभी सरदारों और युवराज करण सिंह के निवेदन पर महाराणा अमर सिंह ने 5 फरवरी 1615 को निम्न शर्तों पर शहजादा खुर्रम से संधि की
1-शाही सेना में महाराणा 1000 सवार रखेगा
2-महाराणा बादशाह के दरबार में कभी उपस्थित नहीं होगा
3-चित्तौड़ के किले की मरम्मत नहीं की जाएगी
4-महाराणा का ज्येष्ठ कुंवर शाही दरबार में उपस्थित होगा ✅⚜

प्रश्न-4.. निम्न में से असंगत को छांटिए??
(अ)- सामंत सिंह-सिरोही
(ब)- डूंगरसिंह- डूंगरपुर
(स)- जगमाल- बांसवाड़ा
(द)- प्रताप सिंह -प्रतापगढ़

अ- सामंत सिंह- सिरोही(सामंत सिंह- वागढ़ के गुहिल वंश का संस्थापक था इससे पहले सामंत सिंह मेवाड़ शासक था लेकिन चौहान कीतु द्वारा मेवाड़ से निकालने के बाद उसने वागड़ में अपना राज्य स्थापित किया
डूंगर सिंह- वागड़( डूंगरपुर) का गुहिल शासक था जिसने डूंगरपुर नगर बसा कर उसे अपनी राजधानी बनाया
जगमाल- वागड़ (डूंगरपुर) के उदयसिंह के पुत्र जगमाल ने भीलों को पराजित कर बांसवाड़ा क्षेत्र पर अधिकार किया बांसवाड़ा बंसिया अथवा बिसना भील ने बसाया था
प्रताप सिंह- प्रताप सिंह ने 1698 में प्रतापगढ़ नगर की स्थापना कर उसे अपनी राजधानी बनाया अब से देवलिया राज्य प्रतापगढ़ राज्य कहलाया ✅⚜

प्रश्न-5.. रघुकुल में या तो रामचंद्र ने पितृभक्ति का ज्वलंत उदाहरण पेश किया था या फिर गुहिल वंश के राजकुमार………..ने रिक्त स्थान की पूर्ति करें??
(अ)- कुंभा
(ब)- रणमल
(स)- मोकल
(द)- चूड़ा
द-चूडा़(चूड़ा महाराणा लाखा का बड़ा पुत्र था जिसने मेवाड़ की गद्दी पर स्वयं काबीज होने की बजाय मेवाड़ का राज्य अपने पिता की नई दुल्हन हनसा बाई की होने वाली संतान को देने की भीष्म प्रतिज्ञा की ✅⚜

प्रश्न-6.. मेवाड़ के रक्षक के रूप में किसे स्मरण किया जाता है??
(अ)-झाला बीदा
(ब)- महाराणा प्रताप
(स)- भामाशाह
(द)- महा सहानी रामा
स-भामाशाह(भामाशाह ने महाराणा प्रताप की काफी आर्थिक सहायता करने वालों की रक्षा में अपना योगदान दिया 1547 में जन्मे भामाशाह के पिता का नाम भारमल था ✅⚜

प्रश्न-7.. खानवा के युद्ध में महाराणा सांगा की हार का क्या कारण माना जाता है??
(अ)- बाबर की तुलुगमा विद्युत पद्धति
(ब)- पुरानी युद्ध तकनीक
(स)- महाराणा सांगा का प्रथम विजय के बाद तुरंत ही युद्ध न करके बाबर को तैयारी करने का समय देना
(द)- उपरोक्त सभी
द- उपरोक्त सभी(बाबर की सेना के पास तोपें और बंदूके भी थी जिससे राजपूत सेना को अत्याधिक नुकसान उठाना पड़ा उल्लेखनीय है कि यह युद्ध भरतपुर जिले में स्थित खानवा नामक स्थान पर 17 मार्च 1527 को लड़ा गया था जिसमें बाबर की विजय हुई थी ✅⚜

प्रश्न-8.. जीवन के प्रारंभिक दिनों में महाराणा सांगा के आश्रयदाता कौन बने थे??
(अ)- इब्राहिम लोदी
(ब)- पृथ्वीराज
(स)- जयमल
(द)- करमचंद पँवार
द- करमचंद पँवार(जीवन के प्रारंभिक दिनों में महाराणा सांगा के आश्रयदाता करमचंद पवार के महाराणा सांगा के राजयोग की प्रबल संभावना संबंधित ज्योतिष वाणी के कारण उनके बड़े भाई पृथ्वीराज और जयमल ईर्ष्या ग्रस्त होकर उसे मारना चाहते थे अजमेर के करमचंद पवार ने सांगा को उनके बड़े भाइयों से बचाकर अज्ञातवास में रखा था ✅⚜

प्रश्न-9.. चित्तौड़गढ़ दुर्ग का दूसरा साका किस शासक के काल में हुआ??
(अ)- महाराणा उदयसिंह
(ब)- महाराणा विक्रमादित्य
(स)- महाराणा प्रताप
(द)-महाराणा रतन सिंह
ब- महाराणा विक्रमादित्य(1534/35 में गुजरात के शासक बहादुर शाह ने चित्तौड़ पर आक्रमण किया चित्तौड़ पर इस समय राणा सांगा के द्वितीय पुत्र विक्रमादित्य का शासन था वह किले की रक्षा का भार देवलिया प्रतापगढ़ के ठाकुर बाघ सिंह को सौंपकर बूंदी चला गया चित्तौड़ की रक्षार्थ कर्मावती ने मुगल बादशाह हुमायूं को राखी भेजी मगर हुमायूं उस समय पर सहायता नहीं कर सका अतः किले का पतन जानकर रानी कर्मावती ने राजपूत स्त्रियों के साथ जोहर किया और राजपूत योद्धा लड़ते हुए मारे गए यह घटना चित्तौड़ के दूसरा के नाम से प्रसिद्ध है मार्च 1535 में बहादुरशाह ने किले पर अधिकार कर लिया ✅⚜

प्रश्न-10.. महाराणा प्रताप ने मेवाड़ भूमि को मुक्त कराने का अभियान कहां से प्रारंभ किया??
(अ)- दिवेर
(ब)- गोगुंदा
(स)- हल्दीघाटी
(द)- कुंभलगढ़
अ- दिवेर(दिवेर के किले का मुख्तार सम्राट अकबर का का का सुल्तान खान था महाराणा प्रताप ने अक्टूबर 1582 में उस पर आक्रमण कर( दिवेर का युद्ध) वहा स्थित मुगल सेना को पराजित कर दिया और दिवेर पर अपना आधिपत्य स्थापित कर मेवाड़ को मुगलों से मुक्त कराने का अभियान का सूत्रपात किया ✅⚜

प्रश्न-11.. मेवाड़ महाराणा अमर सिंह के समय हुई मेवाड़ मुगल संधि के बाद मेवाड़ के किस शासक के समय पुन: मुगलों का प्रतिरोध शुरू हो गया??
(अ)- महाराणा राजसिंह
(ब)- महाराणा करण सिंह
(स)- महाराणा जगत सिंह प्रथम
(द)- महाराणा जयसिंह
अ-(महाराणा राजसिंह 10 अक्टूबर 1652 को मेवाड़ की गद्दी पर बैठे इन्होने शुरू से ही मुगल बादशाह औरंगजेब का विरोध करना शुरू कर दिया और उसके द्वारा 2 अप्रैल 1679 को हिंदुओं पर पुनः जजिया कर लगाया जाने पर औरंगजेब का विरोध किया गया ✅⚜

प्रश्न-12.. मेवाड़ के किस शासक का संबंध हुरडा़ सम्मेलन से है??
(अ)- महाराणा जगत सिंह द्वितीय
(ब)- महाराणा जगत सिंह प्रथम
(स)- महाराणा भीम सिंह
(द)- महाराणा उदयसिंह
अ- महाराणा जगत सिंह द्वितीय(मराठों के विरुद्ध राजस्थान के राजाओं को संगठित करने के उद्देश्य से मेवाड़ महाराणा जगत सिंह द्वितीय के काल में हुरडा़ नामक स्थान पर राजाओं का सम्मेलन आयोजित किया गया ✅⚜

प्रश्न-13.. महाराणा सांगा के समकालीन मुजफ्फर शाह द्वितीय कहां का शासक था??
(अ)- ईडर
(ब)- गागरोन
(स)- मालवा
(द)-गुजरात
द- गुजरात(महाराणा सांगा के समकालीन मुजफ्फर शाह द्वितीय गुजरात का शासक था 1511 में गुजरात के शासक महमूद शाह बेगड़ा की मृत्यु के बाद मुजफ्फर शाह द्वितीय गुजरात का शासक बना था ✅⚜

प्रश्न-14.. निम्न मे से कौन सा युग्म गलत है??
(अ)- वैद्य मंडन-चरक
(ब)- कामराज रति सार- महाराणा कुंभा
(स)- कोदंड मंडन- मंडन
(द)- एकलिंग महात्म्य- कान्हा व्यास
अ-वैद्य मंडन-चरक(वैद्य मंडन नामक ग्रंथ की रचना महाराणा कुंभा के शिल्पी मंडन के द्वारा की गई थी इस ग्रंथ में विभिन्न व्याधियों के लक्षण और उनके निदान के उपाय बताए गए हैं ✅⚜

प्रश्न-15.. मेवाड़ के किस शासक ने सिरोही वागड़ और मारवाड़ के राजपूत शासकों से मैत्री कर मुस्लिम शासकों के विरुद्ध राजपूत राज्यों के मैत्री संघ का गठन किया??
(अ)- महाराणा राजसिंह
(ब)- महाराणा कुंभा
(स)- महाराणा सांगा
(द)- महाराणा प्रताप
स- महाराणा सांगा(महाराणा सांगा ने सिरोही वागड़ और मारवाड़ के राजाओं से वार्तालाप कर मुस्लिम शासकों के विरुद्ध राजपूत राज्यों के मैत्री संघ का गठन किया जो मुस्लिम आक्रमणों के विरुद्ध परस्पर एक दूसरे की सहायता को तत्पर रह सके ✅⚜

प्रश्न-16.. खानवा के बाबर के विरुद्ध सांगा की सहायता के लिए किसके नेतृत्व में मारवाड़ी सेना भेजी गई थी??
(अ)- कर्णसिंह
(ब)-जयसिंह
(स)-राजसिंह
(द)-जगतसिंह

ब-जयसिंह(खानवा का युद्ध 17 मार्च 1527 को खानवा भरतपुर में राणा सांगा और बाबर की सेना के बीच लड़ा गया जिसमें बाबर की विजय हुई इस युद्ध में राणा सहयोगी थे
1-राव मालदेव (मारवाड़ के राव गंगा का पुत्र )
2-वीरमदेव (मेड़ता)
3-झाला अज्जा (काठियावाड़ के राज सिंह का पुत्र)
4-सलहदी तवर (रायसेन)
5-राजा भारमल (ईडर)
6-अखेराज देवड़ा( सिरोही)
7-रावल उदयसिह (वागढ़)
8-मेदिनी राय (चंदेरी )
9-कल्याणमल (बीकानेर के राव जैतसी का पुत्र)
10-पृथ्वीराज (आमेर)
11-हसन खा मेवाती( नागौर)
12-महमूद लोदी (स्वर्गीय इब्राहिम लोदी का भाई )✅⚜

प्रश्न-17.. खानवा का युद्ध किसके बीच हुआ??
(अ)- मोहम्मद गौरी- पृथ्वीराज चौहान
(ब)- अकबर -राणा प्रताप
(स)- राणा प्रताप -मानसिंह
(द)- बाबर-राणा सांगा
द-(भरतपुर जिले में स्थित खंडवा में 17 मार्च 1527 को मुगल बादशाह बाबर और महाराणा सांगा के मध्य हुआ जिसमें बाबर की जीत हुई ✅⚜

प्रश्न-18.. अकबर ने जब 1567 में चित्तौड़ पर आक्रमण किया उस समय मेवाड़ का महाराणा कौन था??
(अ)- राणा सांगा
(ब)- महाराणा प्रताप
(स)- शक्ति कुमार
(द)- उदयसिंह
द- उदयसिंह(अकबर मांडलगढ़ के मार्ग से 23 अक्टूबर 1567 को चित्तौड़ पहुंचा उस समय मेवाड़ का शासक महाराणा उदय सिंह था किले की रक्षा की जिम्मेदारी जयमल और पत्ता (फतेह सिंह) को सौंपकर राणा उदयसिंह गिर्वा की पहाड़ियों में चला गया ✅⚜

प्रश्न-19.. दिवेर के युद्ध (1582) के पश्चात महाराणा प्रताप की नई राजधानी थी??
(अ)- गोगुंदा
(ब)- कुंभलगढ़
(स)- उदयपुर
(द)- चावंड
द- चावंड(दिवेर का युद्ध अक्टूबर 1582 में लड़ा गया इस युद्ध में विजय के पश्चात राणा प्रताप ने राठौर लूणा चावंडिया को पराजित कर चावल पर अधिकार कर लिया और 1585 में चावल को अपनी राजधानी बनाया चावंड अगले 28 वर्षों तक मेवाड़ की राजधानी रही ✅⚜

प्रश्न-20.. राणा राजसिंह (मेवाड) समकालीन था??
(अ)- अकबर
(ब)- जहांगीर
(स)- औरंगजेब
(द)- शाहजहां
स- औरंगजेब(मेवाड़ शासक राणा राजसिंह (1652 से 1680) मुगल शासक औरंगजेब (1658- 1707 (के समकालीन था ✅⚜

प्रश्न-21.. 1657 के मुगल उत्तराधिकारी संघर्ष में मेवाड़ के किस महाराणा से औरंगजेब ने सहायता प्राप्त करने का प्रयास किया??
(अ)- करण सिंह
(ब)- राज सिंह
(स)- जगत सिंह
(द)- जयसिंह
ब-राजसिंह(सितंबर 1657 में शाहजहां के बीमार होने पर सम्राट के पुत्रों में राज्य सिंहासन प्राप्त करने के प्रयत्नों में तेजी आ गई तो औरंगजेब ने महाराजा राज्य सिंह को पत्र लिखने शुरू किए जिनके द्वारा उसने उसको दक्षिण में अपनी सैनिक सहायता भेजने की अभ्यर्थना की थी ✅⚜

प्रश्न-22.. राणा सांगा ने किस युद्ध में बाबर की सेना को हराया??
(अ)- खानवा
(ब)- नागौर
(स)- घाघरा
(द)- बयाना
द-बयाना(पानीपत की विजय के बाद मुगल बादशाह बाबर की सेना ने बयाना( भरतपुर )पर अधिकार कर लिया लेकिन फरवरी 1527 में राणा सांगा ने बयाना के युद्ध में मुगल सेना को पराजित कर पुनः अधिकार कर लिया ✅⚜

प्रश्न-23.. महाराणा सांगा ने इब्राहिम लोदी को किस युद्ध में परास्त किया था??
(अ)- खातोली का युद्ध
(ब)- सारंगपुर का युद्ध
(स)- सिवाना का युद्ध
(द)- खानवा का युद्ध
अ- खातोली का युद्ध(महाराणा सांगा और दिल्ली के सुल्तान इब्राहिम लोदी के मध्य 1518 में खातोली कोटा का युद्ध लड़ा गया जिसमें महाराणा सांगा विजय रहा परिणाम स्वरुप संपूर्ण उत्तर भारत में सांगा की धाक जम गई ✅⚜

प्रश्न-24.. महाराणा कुंभा द्वारा रचित ग्रंथ संगीत राज कितने कोषों में विभक्त है??
(अ)-7
(ब)-9
(स)-4
(द)-5
द-5( महाराणा कुंभा द्वारा रचित ग्रंथ संगीत राज 5 कोशिशों में विभक्त है कुंभा द्वारा रचित अन्य संगीत ग्रंथ संगीत मीमांसा और सूडप्रबंध है ✅⚜

प्रश्न-25.. निम्नलिखित में से कौन सा ग्रंथ कुंभा की रचना नहीं है??
(अ)- कलानिधि
(ब)- रसिकप्रिया
(स)- सुधा प्रबंध
(द)- नृत्य रत्न कोश
अ- कलानिधि(महाराणा कुंभा ना केवल वीर युद्ध कौशल में निपुण और कलाप्रेमी था बल्कि एक विद्वान और विद्यानुरागी भी था उसके दरबार में कई विद्वान आश्रय पाते थे एकलिंग महात्म्य से विदित होता है कि वह वेद ,स्मृति ,मीमांसा, उपनिषद ,व्याकरण, राजनीति, और साहित्य में बड़ा निपुण था संगीत राज, संगीत मीमांसा और सूड प्रबंध कुंभा द्वारा रचित संगीत के ग्रंथ थे ऐसी मान्यता है कि महाराणा कुंभा के द्वारा चंडी शतक की व्याख्या ,गीत गोविंद की टीका, रसिकप्रिया और संगीत रत्नाकर की टीका लिखी गई थी महाराणा कुंभा के अन्य प्रमुख ग्रंथ कामराज रतिसार ,सुधा प्रबंध -रसिकप्रिया का पूरक ग्रंथ, राज वर्णन- एकलिंग महात्म्य का प्रारंभिक भाग, संगीत क्रम दीपिका ,नवीन गीत गोविंद वाद्य प्रबंध,संगीत सुधा हरि वर्तिका आदि हैं इस की उपाधि अभिनव भरताचार्य (संगीत कला में निपुण) से सिद्ध होता है कि वह स्वयं महान संगीतकार था ✅⚜

 

Quiz Winner- दिनेश जी गोयल नागौर

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

ममता शर्मा कोटा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.