Digestive system ( पाचन तंत्र )

Digestive system ( पाचन तंत्र )

 

मानव भोजन के द्वारा शरीर के लिए आवश्यक ऊर्जा एवं कायिक पदार्थ प्राप्त करता है भोजन विभिन्न घटकों जैसे प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट वसा विटामिन खनिज लवण आदि से बना होता है भोजन में इनमें से अधिकतर घटक जटील अवस्था में होते हैं चरित्र में अवशोषण हेतु इन्हें सरलीकृत किया जाता है

इस प्रक्रिया को संपादित करने हेतु भोजन के अंतर्ग्रहण से लेकर मल त्याग तक एकतंत्र जिसमें अनेकों अंग ग्रंथियां आदि सम्मिलित हैं सामंजस्य के साथ कार्य करते हैं यह तंत्र पाचन तंत्र कहलाता है पाचन में भोजन के जटिल पोषक पदार्थों को बड़े अणुओं को विभिन्न रासायनिक क्रियाओं तथा एंजाइमों की सहायता से सरल छोटे व घुलनशील पदार्थों में परिवर्तित किया जाता है

पाचन तंत्र में सम्मिलित किया –

  • अंग  Organ 
  • मुख Mouth 
  • ग्रसनी Pharynx 
  • ग्रासनली Esophagus 
  • छोटी आंत small intestine 
  • बड़ी आंत Big intestine 
  • मलद्वार Anus

ग्रंथियां ( Gland )

  • लार ग्रंथि salivary gland 
  • यकृत ग्रंथि Hepatic gland 
  • अग्नाशय Pancreatic

सभी अंग मिलकर आहारनाल का निर्माण करते हैं जो मुख से शुरू होकर मलद्वार तक जाती है यह करीब 8 से 10 मीटर तक लंबी होती है इसे पोषण नाल भी कहा जाता है

आहारनाल के तीन प्रमुख कार्य ( Dietary work )

  1. आहार को सरलीकृत कर पचाना
  2. पचीत आहार का अवशोषण
  3. आहार को मूल से मलद्वार तक पहुंचाना

पाचन कार्य को करने के लिए आहार नाल में पाई जाने वाली ग्रंथियों का अन्यत्र उपस्थिति ग्रंथियों द्वारा उत्पन्न पाचन रस उत्तरदाई होते हैं यह पाचक रस विभिन्न रासायनिक क्रियाओं द्वारा भोजन को सरलीकृत कर उसे शरीर द्वारा ग्रहण किए जाने वाले रूप में परिवर्तित करते हैं

बातचीत भजन रस में कई घटक पाए जाते हैं जैसे प्रोटीन विटामिन कार्बोहाइड्रेट वसा खनिज लवण जल आदि इन पोषक तत्वों को आहारनाल के विभिन्न घटक विशेष कोशिकाओं की मदद से अवशोषित करते हैं मुख से ग्रसित भोजन अपनी लंबी यात्रा में विभिन्न पेशियों के संकुचन में विस्तार से गति करता है विभिन्न स्तरों पर स्वर्ण पेशियां भोजन पचीत भोजन रस तथा अवशिष्ट की गति को नियंत्रित करती हैं

 

Specially thanks to Post and Quiz makers ( With Regards )

Hardik Panchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.